Header 300×250 Mobile

पंचायत चुनाव पर कोरोना का साया, 15 दिनों के लिए टली चुनाव प्रक्रिया

22 तारीख से होने वाला अधिकारियों का चुनाव प्रशिक्षण फिलहाल स्थगित

- Sponsored -

471

- sponsored -

- Sponsored -

अप्रैल के आखिरी हफ्ते में चुनाव का बिगुल बजाने की तैयारी में था निर्वाचन आयोग

रोहतास से बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (Voice4bihar news)। बिहार पंचायत चुनाव की तारीखों के ऐलान की उम्मीद बांधे लोगों को एक बार फिर निराश हाथ लगी है। एक तरफ जहां अप्रैल माह में चुनाव की अधिसूचना जारी करने की तैयारी चल रही थी, वहीं दूसरी ओर 22 अप्रैल से ही प्रमंडल स्तर पर अफसरों को चुनाव प्रशिक्षण दिया जाने का ऐलान हो चुका था। बुधवार को इन दोनों पर विराम लगाते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव आगे टलने के संकेत दे दिये हैं। कल तक चुनाव को लेकर तैयार दिख रहा राज्य निर्वाचन आयोग ने खुद ही हाथ पीछे खींच लिये हैं।

22 अप्रैल से होना था प्रशिक्षण, अगले आदेश तक स्थगित

बिहार में आगामी पंचायत चुनाव को लेकर होने वाली तैयारियां अब रुकती नजर आ रही हैं। 22 अप्रैल से होने वाले चुनाव प्रशिक्षण को लेकर जारी निर्देश पर स्थगन का आदेश जारी हो चुका है। प्रमंडल स्तरीय अफसरों का यह प्रशिक्षण वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाला था। यह स्थगन आदेश बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बैजू नाथ कुमार सिंह ने जारी किया है।

विज्ञापन

अभी कुछ दिनों पहले ही राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने सभी जिलों के निर्वाचन पदाधिकारी को पत्र लिख चुनाव के सफल संचालन एवं क्रियान्वयन को लेकर सभी निर्वाचित पदाधिकारी एवं सहायक निर्वाचित पदाधिकारी को ट्रेनिंग देने का निर्देश दिया था। जिसमें 22 अप्रैल को पटना सारण और कोसी प्रमंडल के अधिकारियों को प्रशिक्षित किया जाना था। जब कि 23 को तिरहुत, दरभंगा और पूर्णिया सहित 24 अप्रैल को मगध, मुंगेर और भागलपुर प्रमंडल के निर्वाची पदाधिकारियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न होना निर्धारित था ।

यह भी पढ़ें : 30 जुलाई तक सम्पन्न हो जाएगा बिहार पंचायत चुनाव

कोराना संक्रमण के कारण टली अधिसूचना, 15 दिन बाद होगी समीक्षा

भारत निर्वाचन आयोग के साथ मतभेद खत्म होने के बाद बिहार निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव को लेकर काफी तेजी दिखाई थी। लेकिन नौकरशाहों खासकर निर्वाचन विभाग के अफसरों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण चुनाव टालने का निर्णय लेना पड़ा। जारी विज्ञप्ति में राज्य निर्वाचन आयोग के कहा गया है कि पंचायत निर्वाचन 2021 के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अप्रैल के अंत में अधिसूचना जारी करने की कार्रवाई चल रही थी।

इसी बीच बिहार में कोरोना महामारी से आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। इससे बचाव के लिए प्रशासन की ओर से निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है। अनिवार्य सेवा में व्यस्त रहने के कारण जिला प्रशासन से चुनाव कार्य कराना मुश्किल है। निर्वाचन आयोग ने यह भी कहा है कि कोरोना महामारी से चुनाव आयोग के कार्यालय के साथ-साथ विभाग एवं अन्य क्षेत्रीय कार्यालय के पदाधिकारी कर्मचारी भी संक्रमित हुए हैं। ऐसी परिस्थिति में पंचायत चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी करने के बारे में 15 दिनों के बाद परिस्थिति की समीक्षा राज्य निर्वाचन आयोग करेगा। उसके बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।

यह भी देखें : पंचायत चुनाव : निर्वाचन आयोग तैयार, असमंजस में सरकार

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT