Header 300×250 Mobile

दो साधुओं की हत्या, सिर से धड़ को किया अलग

मधुबनी के बेनीपट्‌टी अनुमंडल में फिर दोहरे हत्याकांड से सनसनी

- Sponsored -

272

- sponsored -

- Sponsored -

होली के दिन पांच लोगों की हत्या के बाद सुर्खियों में आया था बेनीपट्‌टी

मधुबनी (voice4bihar news)। पिछले दिनों एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या के बाद सुर्खियों में आये जिले के बेनीपट्‌टी अनुमंडल में फिर एक खूनी वारदात ने सनसनी फैला दी है। यह वारदात बेनीपट्‌टी अनुमंडल के खिरहर थाना क्षेत्र में हुई है, जहां मंगलवार की रात धरोहर नाथ मंदिर पर अपराधियों ने दो साधुओं की हत्या कर दी है। दोनों के सिर को धड़ से अलग करने के बाद अपराधियों ने मंदिर स्थित एक भूसा घर में रख दिया गया।

हत्या की सूचना देने वाला पुजारी पुलिस की हिरासत में

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल मधुबनी भेज दिया है। इधर ग्रामीणों को हत्या की सूचना देने वाले पुजारी नारायण दास को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। दोनों साधु बासोपट्टी थाना क्षेत्र के निवासी थे। 60 वर्षीय हीरा दास सिरियापुर एवं 38 वर्षीय आनन्द झा भगवानपुर के निवासी थे। अपराधियों ने हत्या करने के बाद दोनों शव को घसीटकर एक कमरे में रखे गेँहू के भूसा से ढंक दिया था। शव को घसीटे जाने का निशान वहां बिखरे खून के धब्बे के रूप में मिला है।

धारदार हथियार से काटी गयी है गर्दन, गेहूं के भूसा में छुपाया सिर

विज्ञापन

आनंद झा के सिर को उसी घर में छिपाकर अलग रख दिया था। दूसरा साधु हीरा दास के सिर को दीवार के बगल में रख दिया था। पुलिस को साधु हीरा दास के सिर को खोजने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। खोजबीन के बाद दीवार के बगल में जमीन में गारा हुआ मिला। दोनों साधु का मशहरी बिछावन खून से भीगा हुआ था। इधर पुलिस हिरासत में लिए गए पुजारी नारायण दास से लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं दो साधु की हत्या के बाद स्थानीय लोगों में आक्रोश व्यक्त है।

भोजपुर जिले के आरा में संदिग्ध स्थिति में साधु की मौत

बिहार के मधुबनी जिले में जिस रात दो साधुओं की निर्मम हत्या की गयी, उसी रात भोजपुर जिले के आरा रेलवे स्टेशन पर एक साधु की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गयी। बताया जाता है कि आरा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर सोमवार की शाम एक साधु की लाश मिली। आरा रेल पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में करवाया।

जानकारी के अनुसार मृतक साधु की पहचान मुफस्सिल थाना क्षेत्र के महुली हनुमान गली निवासी स्व.बृज बिहारी सिंह के 70 वर्षीय पुत्र केदारनाथ सिंह क रुप में हुई। बताया जाता है कि साधु वेश धारी केदारनाथ हरिद्वार कुंभ के मेले में गए थे। वह स्नान कर वापस गांव जाने के क्रम में आरा रेलवे स्टेशन उतरे। तभी उनकी अचानक मौत हो गई।

इधर पुलिस द्वारा बनाए गए मृत्यु समीक्षा रिपोर्ट के अनुसार मृतक साधु की मौत अत्यधिक उम्र होने एवं लू लगने के कारण होना प्रतीत होता है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा। घटना के बाद मृतक के घर में हाहाकार मच गया है। हादसे के बाद मृतक के परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT