Header 300×250 Mobile

मसौढ़ी के तीन मुखिया पर गिरी गाज

जिलाधकिारी ने की कार्रवाई की अनुशंसा

- Sponsored -

151

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar Desk)। सात निश्चय योजना की राशि का हस्तांतरण वार्ड क्रियान्वयन प्रबंधन समिति के खाते में नहीं करने के मामले में मसौढ़ी प्रखंड के भदौरा, रेवा और बेर्रा पंचायतों के मुखिया पर गाज गिरी है। जिला प्रशासन ने पंचायती राज अधिनियम 2006 के तहत इन पर कार्रवाई की अनुशंसा की है।

बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन की ओर से सभी मुखिया को वार्ड क्रियान्वयन समिति के खाते में पैसे हस्तातरण करने को लेकर कई बार पत्र लिख जा चुका है ताकि योजना का कार्यान्वयन किया जा सके। पर मुखिया की लापरवाही से सात निश्चय योजना अधर में लटकी हुई है। इन योजनाओं को पूरा करने में जहां वार्ड सदस्य को परेशानी हो रही है वहीं आम ग्रामीण सरकारी सुविधाओं से वंचित हैं।

विज्ञापन

इन्हीं में से एक है हर घर नल जल योजना। पैसे की कमी के कारण कई पंचायतों में काम या तो शुरू ही नहीं हुआ है या फिर कई जगह अधूरा पड़ा है। मसौढ़ी प्रखंड के भदौरा, रेवा और बेर्रा पंचायतों के मामले में मुखिया को पदच्युत करने की अनुशंसा जिला प्रशासन ने की है।

मसौदी के प्रखंड विकास पदाधिकारी की मानें तो जिलाधिकारी ने पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव को ऐसे सभी मुखिया की सूची भेजी है जो वार्ड को पैसा भेजने में समस्या खड़ी कर रहे हैं। जिलाधिकारी ने इन मुखिया को पदच्यूत करने की अनुशंसा की है। वहीं आरोपी मुखिया की मानें तो उनका कहना है कि सभी वार्ड के खाते में पैसे भेज दिये गये हैं। उन्होंने विभाग की कार्रवाई को गलत और अनुचित बताया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT