Header 300×250 Mobile

कोरोना काल में पर्यटन उद्योग की टूटी कमर, नेपाल में पर्यटकों की संख्या में रिकार्ड 80 प्रतिशत गिरावट

विदेशी पर्यटन के 69 वर्ष के इतिहास में नेपाल को हुई सबसे बड़ी आर्थिक क्षति

- Sponsored -

793

- sponsored -

- Sponsored -

कोरोना की मार ऐसी पड़ी की नेपाली पर्यटन स्थल दिख रहे वीरान

वर्ष 1951 में नेपाल ने शुरू किया था पर्यटन उद्योग, 1964 से पर्यटक का रख रहा है रिकार्ड

नेपाल से राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

Voice4bihar news. विगत 2 वर्षों से कोरोना संक्रमण के रूप में आई वैश्विक महामारी ने यूं तो भारतीय उपमहाद्वीप समेत पूरी दुनिया को आर्थिक क्षति पहुंचाई है, लेकिन भारत के पड़ोसी देश नेपाल की इसने कमर ही तोड़ दी है। कोरोना संक्रमण की मार सबसे ज्यादा नेपाल के पर्यटन स्थलों पर पड़ा है। विदेशी पर्यटक के लिए नेपाल आगमन के 69 वर्ष के इतिहास में 2020 के बाद सबसे ज्यादा गिरावट देखी गई। इस वर्ष विदेशी पर्यटकों के आगमन में रिकॉर्ड 80 प्रतिशत तक कमी आई है।

विगत 2 वर्षों में सिर्फ 2.30 लाख विदेशी पर्यटक आये

नेपाल सरकार के संस्कृति, पर्यटन तथा नागरिक उड्डयन मन्त्रालय की ओर से सार्वजनिक किये गए आंकड़े बताते हैं कि वर्ष 2020 में कोविड संक्रमण के कारण गत वर्ष 2 लाख 30 हजार 85 विदेशी पर्यटक नेपाल आए थे। यह संख्या 2019 के तुलना में 80 दशमलव 7 प्रतिशत कम है। हवाई मार्ग तथा स्थल मार्ग होते हुए 2019 में नेपाल में कुल 11 लाख 97 हजार 119 विदेशी पर्यटक आए थे।

नेपाल में वीरान पड़ा पर्यटन स्थल।

विज्ञापन

बता दें कि नेपाल में विदेशी पर्यटन के लिए वर्ष 1950 में सुगौली संधि के बाद 1951 से पर्यटक के रूप में नेपाल आने की अनुमति दी थी। पर्यटन विभाग के अनुसार इन 69 वर्षों में किसी भी वर्ष में पर्यटक के आगमन में वैसी गिरावट दर्ज नहीं की गई थी, जैसी वर्ष 2020 में देखी गई।

नेपाल में वर्ष 1964 से पर्यटक का रखा जा रहा है रिकार्ड

नेपाल में विदेशी पर्यटन की शुरुआत भले ही 1951 में हुई, लेकिन इसे आंकड़ा के रूप में सहेजने का काम शुरू हुआ। यहां विदेशी पर्यटक का रिकार्ड 1964 से रखा जा रहा है। रिकार्ड में सुरक्षित अभिलेख के अनुसार 1964 में 9 हजार 526 विदेशी पर्यटक नेपाल घूमने आए थे। यह उस वर्ष के अनुसार 30 प्रतिशत पर्यटक की वृद्धि थी।

पर्यटन स्थल पर छाई हुई वीरानी।

2015 में पर्यटकों के आगमन में आई थी 32 प्रतिशत की कमी

कोविड से पूर्व नेपाल में 2015 में पर्यटकों के आगमन से 32 प्रतिशत की रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई थी। वर्ष 2020 में यह रिकॉर्ड भी धराशायी हो गया। कोविड के कारण 2020 में नेपाल करीब- करीब बन्द था। ऑनलाइन वीजा रोका गया था। इस समय भी दस दिन क्वारेन्टाइन में रह कर नेपाल आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या 2 लाख तक पहुंची थी। इससे नेपाल को विदेशी पर्यटक के आगमन से 25 अरब 78 करोड रुपये की आमदनी हुई थी।

पिछले वर्ष नेपाल में भारत व म्यांमार के सर्वाधिक पर्यटक आये

वही 2020 में नेपाल में जिन देशों के सर्वाधिक पर्यटक आये थे, उनमें भारत, म्यानमार, थाइल्यान्ड, चीन व संयुक्त राज्य अमेरिका प्रमुख थे। वहीं पर्यटकों को नेपाल लाने वाली 5 प्रमुख वायुसेवा में नेपाल वायुसेवा निगम, कतार एयरवेज, हिमालय एयरलायन्स, फ्लाई दुबई व एयर अरेबिया शामिल थी। जिसने 2020 में पर्यटक को लाने व ले जाने के लिए 10 हजार 256 अंतरराष्ट्रीय उडान भारी थी। यह संख्या वर्ष 2019 की तुलना में 68 प्रतिशत कम थी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored