Header 300×250 Mobile

सासाराम प्रखंड में स्थगित शिक्षक नियोजन प्रक्रिया की मुख्य बाधा दूर, अगले शेड्यूल में नियोजन शुरू होने के आसार

परामर्श समिति के अनुमोदन के अभाव में नहीं शुरू हो सकी नियोजन प्रक्रिया

- Sponsored -

334

- sponsored -

- Sponsored -

एसटीईटी के लिए छठे चरण के नए शेड्यूल के तहत रिक्तियों को भरा जाएगा

अभिषेक कुमार के साथ बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। रोहतास जिले के सासाराम प्रखंड में परामर्श समिति के गठन को लेकर असमंजस के कारण स्थगित शिक्षक नियोजन प्रक्रिया फिर से शुरू हो सकती है। क्योंकि सासाराम प्रखंड परामर्श समिति के गठन तथा निवर्तमान प्रखंड प्रमुख रामकुमारी देवी को प्रखंड परामर्श समिति का अध्यक्ष बनाने का रास्ता भी साफ हो गया है। माना जा रहा है कि अगस्त के दूसरे सप्ताह में हाईस्कूलों के लिए शिक्षक नियोजन के नए शेड्यूल में सासाराम प्रखंड में भी नियोजन होगा।

परामर्श समिति के गठन को लेकर सासाराम बीडीओ की ओर से मांगे गए मार्गदर्शन के कारण वरीय प्रशासनिक अधिकारियों के पसीने छूटने लगे थे। परामर्श समिति के अभाव में कई कार्य लंबित रह गए। राज्य भर में पिछले माह हुए शिक्षक नियोजन में भी सासाराम प्रखंड पिछड़ गया। क्योंकि शिक्षक नियोजन की निर्धारित तिथि के पूर्व सासाराम प्रखंड में शिक्षक नियोजन के लिए तैयार मेधा सूची का अनुमोदन समय पर नहीं किया जा सका। जिसके कारण शिक्षक नियोजन प्रक्रिया अधर में लटकी रही।

यह भी पढ़ें : सासाराम प्रखंड परामर्श समिति के गठन का रास्ता साफ, रामकुमारी बनेंगी परामर्श समिति की अध्यक्ष

विज्ञापन

मेधा सूची पर अनुमोदन नहीं मिलने के कारण अटकी शिक्षक बहाली

सासाराम बीडीओ ने 30 जून 2021 को रोहतास जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला स्थापना कार्यक्रम पदाधिकारी को पत्रांक 1233 प्रेषित कर नियोजन इकाई में पूर्व से तैयार मेधा सूची का अनुमोदन कराने की बात कही थी। बीडीओ ने बिहार पंचायती राज अधिनियम 2016 के संशोधित बिहार पंचायती राज अध्यादेश 2021 की धारा 66 की नई धारा 5 के अंतर्गत गठित परामर्श समिति के प्रावधान का हवाला दिया था। इसमें प्रावधान है कि प्रखंड परामर्शी समिति के मेधा सूची अनुमोदन के उपरांत ही जिला कार्यालय इस मेधा सूची का अनुमोदन करेगा।

असमंजस के कारण ही शिक्षा विभाग ने स्थगित किया था शिक्षक नियोजन

साथ ही सासाराम प्रखंड अंतर्गत पंचायत समिति स्तर की परामर्शी समिति के संबंध में भी पंचायती राज विभाग के वरीय पदाधिकारियों से मार्गदर्शन की मांगे जाने का हवाला भी सासाराम बीडीओ ने दिया था। इसके बाद ही शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने भी मेधा सूची अनुमोदन के अभाव में शिक्षक नियोजन प्रक्रिया को स्थगित कर दिया था। अब विभाग की ओर से मार्गदर्शन मिलने के बाद प्रखंड परामर्श समिति का गठन होगा और कई लंबित कार्य पूरे होंगे। हाई स्कूलों में शिक्षक बहाली के लिए सरकार की ओर से जारी नए शेड्यूल में सासाराम में भी नियोजन होने की उम्मीद जगी है।

इसे भी देखें : अब तक फाइनल मेधा सूची अपलोड नहीं हुई तो काउंसिलिंग तीसरे चक्र में

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored