Header 300×250 Mobile

नल-जल योजना में लूट-खसोट करने वाले 4 पंचायतों के मुखिया पर गिरी गाज

पश्चिमी चंपारण के डीएम की बड़ी कार्रवाई, मुखिया के साथ पंचायत सचिवों की भी जाएगी नौकरी

- Sponsored -

407

- sponsored -

- Sponsored -

  • कुकुरा, रखही चम्पापुर, राजपुर तुमकड़िया तथा गौनाहा की मंझरिया पंचायत के मुखिया पर गिरी गाज
  • बख्शे नहीं जाएंगे सरकारी योजनाओं में गड़बड़ी करने वाले : कुन्दन कुमार

राजेश कुमार की रिपोर्ट

बेतिया (voice4bihar news)। राज्य की विभिन्न पंचायतों के मुखिया जहां पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के साथ ही अगली बार भाग्य आजमाने की कोशिश में लगे हैं वहीं वित्तीय गड़बड़ी करने वाले मुखियों पर लगातार गाज गिर रही है। इन पर सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में लूट खसोट व अन्य गड़बड़ी के आरोप लगे हैं। इस क्रम में पश्चिमी चम्पारण जिले के नरकटियागंज प्रखण्ड अंतर्गत कुकुरा, रखही चम्पापुर, राजपुर तुमकड़िया तथा गौनाहा प्रखंड अंतर्गत मंझरिया पंचायत के मुखिया नल-जल योजना में गड़बड़ी को लेकर बर्खास्त किए जाएंगे।

गुरुवार को जिलाधिकारी कुन्दन कुमार द्वारा मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान समीक्षात्मक बैठक के दौरान उक्त निर्देश जारी किया गया है। उक्त सभी पंचायतों के मुखियों के विरुद्ध बिहार पंचायती राज अधिनियम, 2006 की धारा 18(5) के तहत मुखिया पद से बर्खास्त करने का प्रस्ताव विभाग को भेजने का निर्देश प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को दिया गया है।

विज्ञापन

डीएम कुंदन कुमार।

जिलाधिकारी श्री कुमार ने कहा कि नल-जल योजना में गड़बड़ियों की शिकायत पर विगत दिनों उक्त पंचायतों में वरीय पदाधिकारी एवं तकनीकी पदाधिकारी से नल-जल योजना की जांच कराई गई थी, जहां जांच के दौरान उक्त पंचायतों की योजनाओं में गम्भीर अनियमितता, राशि निकासी के बाद भी कार्य पूरा नहीं करने, योजना का अनुश्रवण नहीं करने, त्रुटि निराकरण हेतु पर्याप्त समय देने के बावजूद त्रुटि निराकरण नहीं कराने, सरकारी राशि की बंदरबांट करने जैसे अनियमितता के कई आरोप के आलोक में इन सभी से स्पष्टीकरण मांगा गया था।

यह भी पढ़ें : कार्यकाल के अंतिम समय में बर्खास्त हुए रोहतास जिले के चार और मुखिया जी

इनलोगों की ओर से स्पष्टीकरण का जवाब भी नहीं दिया गया। जिसके उपरांत लापरवाही एवं अनियमितता बरतने के मामले में इनके विरूद्ध कार्रवाई की जा रही है। डीएम श्री कुमार ने कहा कि सात निश्चय योजना राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल है, ऐसे में सरकारी योजनाओं में गड़बड़ी करने वालों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही इन पंचायतों के संबंधित वार्ड एवं क्रियान्वयन समिति के सदस्यों के विरूद्ध भी प्राथमिकी दर्ज कराई गई है तथा संबंधित पंचायत के पंचायत सचिव के विरूद्ध भी अनुशासनात्मक कार्रवाई का निर्देश दिया गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored