Header 300×250 Mobile

चुनावी रंजिश में हुई नवनिर्वाचित मुखिया प्रकाश महतो की हत्या!

महज 36 वोटों से चुनाव हारने वाले पूर्व मुखिया पर लगाए जा रहे आरोप

- Sponsored -

506

- Sponsored -

- sponsored -

लिखित रूप से कुछ भी नहीं मिला, स्पष्ट रूप से वजह बता पाना मुश्किल

आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर किया पथराव, दो वाहनों को किया आग के हवाले

दोनों ओर से फायरिंग की भी सूचना, पुलिस कर रही गोली चलाने की बात से इनकार

जमुई (voice4bihar news)। जमुई जिला अंतर्गत अलीगंज प्रखंड की दरखा पंचायत के मुखिया प्रकाश महतो की हत्या के पीछे चुनावी रंजिश को वजह माना जा रहा है। वारदात के विरोध में मुखिया के चाहने वालों व ग्रामीणों का गुस्सा सातवें आसमान पर था। लोग चीख-चीखकर आरोप लगा रहे थे कि चुनावी रंजिश के कारण ही प्रकाश महतो की हत्या हुई है। हालांकि अभी तक लिखित रूप से कुछ नहीं दिया गया है, जिसकी वजह से स्पष्ट रूप से कुछ कहना मुश्किल है।

विदित हो कि बिहार में समापन की ओर बढ़ रहे पंचायत चुनाव में रक्तपात की लगातार खबरें आ रही हैं। जमुई में प्रकाश महतो की हत्या के पीछे पूर्व मुखिया का हाथ होने की बात कही जा रही थी। उग्र लोगों का आरोप था कि पूर्व मुखिया मो. सालिक के इशारे पर ही प्रकाश महतो की हत्या की गयी है।

उल्लेखनीय है कि अलीगंज की दरखा पंचायत में विगत 29 अक्टूबर को पंचायत चुनाव के लिए वोट डाले गए थे। एक नवम्बर को हुई मतगणना में कड़ा मुकाबला दिखा था। इसमें प्रकाश महतो ने मो. सालिक को महज 36 वोटों से शिकस्त दी थी। शायद इसी वजह से हत्याकांड में चुनावी रंजिश की बात कही जा रही है।

मुखिया प्रकाश महतो के समर्थकों का गुस्सा सातवें आसमान पर

विज्ञापन

शुक्रवार की शाम हुई हत्या के बाद मुखिया के समर्थकों का गुस्सा सातवें आसमान पर जा पहुंचा। गुस्साये ग्रामीणों व परिजनों ने नवादा-सिकंदरा मुख्य मार्ग स्थित बालडा मोड के समीप सड़क जाम कर दिया है। लोगों ने टायर जलाकर आवागमन पूरी तरह बाधित कर दिया। इस बीच सिकंदरा, लछुआड़ व चंद्रडीह थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों का समझााने का प्रयास किया। लोग इतने गुस्से में थे कि पुलिस पदाधिकारियों की एक नहीं सुनी। इसी बीच भीड़ में से किसी ने पथराव शुरु कर दिया।

घटनास्थल से दूर हटकर हालात पर नियंत्रण की योजना बनाते पुलिस पदाधिकारी।

उग्र भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव, दो वाहन फूंके

मौके पर पहुंचे अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी व तीनों थानेदार हालत को काबू करने में जुट गए। तभी भीड़ की तरफ से हुई हवाई फायरिंग से अफरातफरी मच गयी। पुलिस वालों ने भी मोर्चा संभालते हुए हवा में गोलियां दागी। इस बीच पथराव तेज हो गया। लिहाजा पुलिस को वहां से भागना पड़ा। पुलिस वहां से करीब आधा किलोमीटर दूरी पर खड़ी रही। पथराव में होमगार्ड के एक जवान व पुलिस हवलदार चोटिल हुए हैं। दूसरी ओर पुलिस ने अपनी तरफ से फायरिंग किये जाने की बात से इनकार किया है।

भीड़ ने पुलिस को खदेड़ा, काफी दूरी पर खड़े रहे पुलिस पदाधिकारी

पुलिस के भागने पर भी भीड़ का गुस्सा बरकरार रहा। लोगों ने पुलिस के दो वाहनों में आग लगा दी। रात के करीब नौ बजे तक दोनों वाहन धू-धू कर जल रहे थे। पुलिस कुछ भी करने की स्थित में नहीं है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि जिस स्थान पर भीड़ प्रदर्शन कर रही थी, वहां से करीब आधा किलोमीटर की दूरी पर एसडीपीओ समेत कई पुलिस अधिकारी खड़े थे।

संबंधित खबर : जमुई जिले की दरखा पंचायत से मुखिया चुने गए थे प्रकाश महतो

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT