Header 300×250 Mobile

नेपाल : अग्निपरीक्षा में फेल हुए केपी शर्मा ओली, प्रधानमंत्री की कुर्सी गयी

पीएम केपी ओली के सांसदों ने ही किया घात, मतदान में नहीं लिया भाग

- Sponsored -

224

- Sponsored -

- sponsored -

अपनी ही सरकार गिराने वाले नेकपा सांसदों की देखें पूरी सूची

अररिया से राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

जोगबनी (voice4bihar news)। नेपाल के प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओली सोमवार को संसद में लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के बाद संसद में बहुमत साबित नहीं कर पाये। ऐसे में प्रधानमंत्री की कुर्सी डगमगा गयी है। सोमवार को संसद में आयोजित मतदान प्रक्रिया में प्रधामन्त्री ओली के पक्ष में सिर्फ 93 सांसदों ने मतदान किया जबकि प्रधानमन्त्री पद पर बने रहने के लिए कम से कम 136 सांसदों का समर्थन चाहिए था। अब सदन के पटल पर अपने सांसदों का विश्वास खो चुके अब प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली संविधान के अनुरूप खुद ही पद मुक्त हो जाएंगे।

विज्ञापन

मतदान प्रक्रिया में 232 सांसदों की थी उपस्थिति

नेपाल संसद में सोमवार को विश्वास मत को लेकर आहूत बैठक में कुल 232 सांसदों की उपस्थिति थी। इनमें से 93 सांसदों ने प्रधानमन्त्री ओली के पक्ष में मतदान किया। जबकि 124 सांसदों ने विपक्ष में मतदान किया। 15 सांसदों ने किसी के पक्ष में मतदान नहीं किया।

प्रमुख प्रतिपक्षी दल नेपाली कांग्रेस, माओवादी केन्द्र, जनता समाजवादी पार्टी (जसपा) के बाबूराम भट्टराई व उपेन्द्र यादव पक्ष ने भी पूर्व में घोषित निर्णय के अनुसार विपक्ष में मतदान किया है। संविधान के अनुरूप स्पीकर अब इस बात की घोषणा करते हुए राष्ट्रपति को जानकारी देंगे। उम्मीद है कि इसके बाद प्रधानमंत्री ओली को कार्यवाहक प्रधानमंत्री में नियुक्त करते हुए नई सरकार बनाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored