Header 300×250 Mobile

आठ साल बाद हुआ स्थानांतरण, आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिकाएं खुशी से झूमीं

नियोजन के बाद से अब तक एक ही जगह कार्यरत थी महिला सुपरवाइजर

- Sponsored -

328

- sponsored -

- Sponsored -

  • तीन-तीन विकल्प मांगे गए थे सभी से, लॉटरी के जरिये हुआ निर्णय
  • जिले में कार्यरत चार दर्जन से अधिक आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिकाओं का हुआ तबादला

बजरंगी कुमार सुमन /अभिषेक कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। रोहतास जिले में कार्यरत आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिकाओं की स्थानांतरण प्रक्रिया एक माह की सरगर्मी के पश्चात आखिरकार गुरूवार को सम्पन्न हुई। जिला पदाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में स्थानीय डीआरडीए सभागार में प्रक्रिया शुरू हुई। इसके लिए सभी पर्यवेक्षिकाओं से पदस्थापन के लिए तीन-तीन विकल्पों के साथ आवेदन मांगे गए थ। आज इन आवेदनों पर निर्णय लेने के लिए लाटरी का दौर शुरू हुआ जो तीन घंटे तक चला।

जिले में कार्यरत चार दर्जन से अधिक आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिकाओं के वैकल्पिक आवेदन के आलोक में प्रथम विकल्पों वाली परियोजना की पुर्जी तैयार कराकर लॉटरी कराई गयी। प्रक्रिया के तहत पारदर्शिता बरतते हुए पोस्टिंग प्रक्रिया अंत तक जिलाधिकारी की निगरानी में सम्पन्न हुई । लॉटरी के दौरान पार्वती देवी और मनीषा श्रीवास्तव अकोढ़ीगोला से डेहरी ग्रामीण परियोजना में स्थानांतरित हुईं। इसी तरह आरती सिंह अकोढ़ी गोला से राजपुर, विमला कुमारी बिक्रमगंज से दावथ, अमिता कुमारी बिक्रमगंज से सूर्यपुरा, प्रियंका कुमारी बिक्रमगंज से डेहरी सदर स्थानांतरित हुईं।

गीतांजलि उत्पल बिक्रमगंज से नोखा, पूनम कुमारी चेनारी से नासरीगंज, वीणा कुमारी चेनारी से नौहट्टा, किरण कुमारी चेनारी से नोखा, बाली कुमारी दावथ से काराकाट, ज्योति कुमारी दावथ से दिनारा, सीमा कुमारी डेहरी सदर से सासाराम, ललिता कुमारी डेहरी सदर से अकोढ़ी गोला, कामिनी डेहरी सदर से तिलौथू सरोज कुमारी और फुलकुमारी डेहरी ग्रामीण से दिनारा भेजी जाएंगी। प्रमिला कुमारी सिंह दिनारा से नौहट्टा, गीतांजलि करगहर से कोचस, निर्मला कुमारी करगहर से कोचस, प्रियंका कुमारी करगहर से डेहरी ग्रामीण, आरती कुमारी करगहर के कोचस भेजी गयीं।

लॉटरी प्रक्रिया में भाग लेतीं आंगनबाड़ी पर्यवेक्षिकाएं।

विज्ञापन

इसी तरह कुसुम कुमारी काराकाट से बिक्रमगंज, कुमारी मालती काराकाट से दावथ, सृष्टि कुमारी कोचस से रोहतास, दूधवंती देवी कोचस से शिवसागर, दीपा कुमारी नासरीगंज से अकोढ़ीगोला, कुसुम कुमारी नौहट्टा से डेहरीसदर, गीता कुमारी नोखा से शिवसागर, सीमा कुमारी नोखा से सासाराम, कुमारी रिंकी और संगीता कुमारी नोखा से करगहर, तीजामुनी देवी राजपुर से चेनारी, ज्योति कुमारी राजपुर से संझौली, सुनीता कुमारी रोहतास से सासाराम, उर्मिला देवी रोहतास से नोखा स्थानांतरित हुईं।

इस क्रम में मीना देवी संझौली से काराकाट, कंचन कुमारी संझौली से तिलौथू, ज्योति कुमारी सासाराम से दिनारा, ऊषा किरण सासाराम से शिवसागर, मंजू देवी सासाराम से रोहतास, प्रियंका कुमारी सासाराम से चेनारी, गीता कुमारी शिवसागर से करगहर, कलिता कुमारी शिवसागर से सासाराम, प्रभा सिंह शिवसागर से करगहर, निर्मला देवी सूर्यपुरा से बिक्रमगंज, रुकसाना खातून सूर्यपुरा से काराकाट, मोनी कुमारी तिलौथू से काराकाट और गायत्री कुमारी का तिलौथू से नासरीगंज, पदस्थापन किया गया है। पूरी प्रक्रिया में जिला प्रोग्राम पदाधिकारी सुनीता कुमारी सहित सभी महिला पर्यवेक्षिका उपस्थित थीं।

दो पर्यवेक्षिकाओं को मिला होम ब्लाक पदस्थापन

जिले में कार्यरत 2 महिला पर्यवेक्षिकाओं को होम ब्लॉक में पदस्थापन किया गया। इनमें सीमा कुमारी का सासाराम नगर में निवास स्थान होने के बावजूद सासाराम में पदस्थापित करने का आदेश जिलाधिकारी ने बीमारी के आधार पर जारी किया है। वही कलिता कुमारी का पदस्थापन भी सासाराम में आवास होने के बावजूद दिव्यांगता के आधार पर सासाराम में किया गया है।

अब पर्यवेक्षिका बहाली पर टिकी निगाहें

जिले में 8 वर्षों से एक ही परियोजना में कार्यरत महिला पर्यवेक्षिकाओं के तबादले के बाद जिलेवासियों की नजरें अब 64 पदों पर होने वाली पर्यवेक्षिका बहाली पर टिकी हुई है । जिले में आंगनबाड़ी संचालन की व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए शुरू की गई पर्यवेक्षिका बहाली की संचिका धूल फांक रही है। 5 दर्जन से अधिक पदों पर होने वाली बहाली के लिए आईसीडीएस विभाग ने ऑनलाइन आवेदन अभ्यर्थियों से भरवाया है। आईसीडीएस ने 10 जून 2010 पुजारी संकल्प संख्या 1846 के आलोक में 31 दिसंबर 2018 को जारी पत्रांक 5994 के गाइडलाइन के तहत बहाली प्रक्रिया को पूर्ण किया जाना है लेकिन जिले में बहाली संचिका पर अधिकारी कुंडली मार बैठे हुए हैं।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored