Header 300×250 Mobile

मुजफ्फरपुर में कथित ‘जहरीली शराब’ से फिर 5 की मौत

चार ग्रामीणों की हालत गंभीर, दो लोगों को वेंटिलेटर पर रखा गया

- Sponsored -

240

- Sponsored -

- sponsored -

पुलिस ने मुखिया प्रत्याशी नीरज कुमार सहित चार लोगों को किया गिरफ्तार

पंचायत चुनाव की आड़ में ‘शराब पार्टी’ की चर्चा दबी जुबान से कर रहे ग्रामीण

मुजफ्फरपुर (voice4bihar news)। मुजफ्फरपुर जिले में एक बार फिर संदिग्ध रूप से 5 लोगों की मौत हो गयी है, वहीं चार अन्य लोग गंभीर हालत में एक निजी अस्पताल में वेंटिलेटर पर इलाजरत हैं। जिले के कांटी थाना क्षेत्र के सिरसियां व बरियारपुर गांव में ये सभी मौतें सोमवार से लेकर मंगलवार की रात तक हुई हैं। विगत 10 दिनों के भीतर मुजफ्फरपुर जिले में यह दूसरी घटना है। विगत दिनों जिले के कटरा प्रखंड अंतर्गत दरगाह गांव में भी जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो गयी थी।

पंचायत चुनाव के ऐन पहले हुई घटना से सकते में प्रशासन

राज्य के अलग-अलग जिलों में जहरीली शराब से मौत की घटनाओं की बीच मुजफ्फरपुर जिले में दूसरी वारदात सामने आने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। 15 नवंबर को प्रखंड में होने वाले पंचायत चुनाव से ठीक पहले हुई इस घटना से पुलिस की नींद उड़ गई है। हालांकि प्रशासन ने मौत की वजह की अभी पुष्टि नहीं की है। डीएसपी पश्चिमी अभिषेक आनंद और कांटी थाना की पुलिस पूरे इलाके में गहन छानबीन कर रही है।

ग्रामीणों ने कहा- सभी ने किया था ‘नशीला तरल पदार्थ’ के सेवन

दूसरी ओर ग्रामीणों की मानें तो शराब पीने के बाद बरियारपुर गांव के 50 वर्षीय अशोक राय व रामबाबू राय की मौत सोमवार को दिन में हो गयी, जबकि सोमवार की रात में सिरसियां गांव के लक्ष्मण राय के 25 वर्षीय पुत्र सुमित राय की भी मौत हो गई। वहीं मंगलवार को सिरसियां गांव के ही दिलीप राय और मानिकपुर निवासी 50 वर्षीय मो. शहजाद की इलाज के दौरान मौत हो जाने की सूचना मिली।

एक निजी अस्पताल में इलाजरत हैं चार ग्रामीण

30 घंटे के भीतर दोनों गांवों के 5 लोगों की मौत के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है। ग्रामीणों की मानें तो यहां शराब पीने से अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है औऱ कई लोग बीमार हैं। इनमें से चार का इलाज एक निजी अस्पताल में कराया जा रहा है। दो लोगों की गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टर ने वेंटिलेटर पर रखा है। हालांकि उनका इलाज कहां कराया जा रहा है, इसकी जानकारी गांव के लोगों को नहीं है।

यह भी देखें : पंचायत चुनाव के बाद शराब पार्टी, 5 लोगों की संदिग्ध मौत

कांटी थाना क्षेत्र में संदिग्ध स्थिति में 5 लोगों की मौत के बाद गांव में चिंतातुर लोग।
कांटी थाना क्षेत्र में संदिग्ध स्थिति में 5 लोगों की मौत के बाद गांव में चिंतातुर लोग।

विज्ञापन

ग्रामीणों ने कहा- लोकल मेड शराब पीने से हुई घटना

मिली जानकारी के मुताबिक सिरसिया गांव के 50 वर्षीय दिलीप राय और 55 वर्षीय सिकिल राय को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां दिलीप राय इलाज के दौरान मौत हो जाने की बात बताई जा रही है। वहीं एक की हालत बहुत नाजुक बताई जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि सभी लोग लोकल मेड शराब पीने से बीमार हुए हैं, जिसमें अबतक 5 लोगों की मौत हो गई है। माना जा रहा है कि शराब पीने वाले कई लोग छुपकर इलाज करा रहे हैं, इसलिए मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है।

पुलिस ने कहा- पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट होगा मौत का कारण

स्थानीय हल्कों में यह चर्चा आम है कि कांटी थाना क्षेत्र में हुई हालिया मौतों के लिए शराब जिम्मेदार है, लेकिन पुलिस प्रशासन ने लोगों के मरने और बीमार होने के कारणों को स्पष्ट नहीं किया है। डीएसपी पश्चिमी अभिषेक आनंद ने इस मामले में कहा है कि दो लोगों की मौत औऱ दो बीमार लोगों का इलाज किसी अस्पताल में कराए जाने की जानकारी मिली है। डीएसपी ने बताया कि दो मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के वास्तविक कारणों का पता चल सकेगा।

तो जहरीली शराब नहीं,  ‘नशीला तरल पदार्थ’ के सेवन के बाद बिगड़ी तबियत

उधर मंगलवार की शाम स्थिति की जानकारी मिलते ही मुजफ्फरपुर जोन के आईजी गणेश कुमार व एसएसपी जयंत कांत प्रभावित गांवों में पहुंचे। दोनों अधिकारियों ने ग्रामीणों औऱ मृतकों के परिजनों से पूछताछ की। ग्रामीणों ने बताया कि कोई नशीला तरल पदार्थ के सेवन के बाद कई लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें : मुजफ्पुरपुर के कटरा में शराब पीने से मौत की बात चीख-चीख कर कह रहे परिजन

कांटी थाना क्षेत्र में संदिग्ध स्थिति में 5 लोगों की मौत के बाद गांव में पहुंचे पुलिस अधिकारी।
कांटी थाना क्षेत्र में संदिग्ध स्थिति में 5 लोगों की मौत के बाद गांव में पहुंचे पुलिस अधिकारी।

कांटी थानाध्यक्ष व दो चौकीदारों को एसपी ने किया सस्पेंड

ग्रामीण व परिजनों से पूछताछ के बाद एसएसपी ने कांटी थानाध्यक्ष कुंदन कुमार के साथ साथ कांटी थाना में पदस्थापित दो चौकीदार नागेंद्र पासवान व मो इस्लाम को इस मामले में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। एसएसपी ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी। जबकि ग्रामीण शराब पीने से मौत की बात बता रहे हैं।

मुखिया प्रत्याशी नीरज कुमार समेत चार लोग हिरासत में

पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके से पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। एसएसपी के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें क्षेत्र में ताबड़तोड़ छापेमारी करती रही। इस क्रम में पुलिस ने एक मुखिया प्रत्याशी नीरज कुमार सहित चार लोगों को हिरासत में लेकर घंटों पूछताछ की। गिरफ्तार लोगों में शामिल मुखिया प्रत्याशी नीरज कुमार, अनिल ठाकुर व नितेश कुमार की निशानदेही पर पुलिस क्षेत्र में शराब कारोबार करने वाले माफियाओं को दबोचने के लिए देर रात तक छापेमारी कर रही थी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored