Header 300×250 Mobile

राज्य सरकार के कर्मियों के लिए 35 छुटि्टयां लेकर आया 2022 का कैलेंडर

सचिवालय और निदेशालय के कर्मियों के नये साल की शुरुआत ही होगी छुट्‌टी के साथ

- Sponsored -

2,662

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। वर्ष 2022 का बिहार सरकार का कैलेंडर आ गया है। इसमें राज्य सरकार के कर्मियों के लिए 32 सार्वजनिक अवकाशों और तीन एच्छिक सहित कुल 35 छुट्टियां हैं। हालांकि इनमें नौ छुटि्टयां रविवार को और छह छुटि्टयां शनिवार को पड़ रहीं हैं। सचिवालय और निदेशालय के कर्मियों के नये साल की शुरुआत ही छुट्‌टी के साथ हो रही है। अर्थात् एक जनवरी को शनिवार है।

सचिवालय और निदेशालय में हफ्ता में पांच दिन कार्यदिवस होते हैं। शनिवार और रविवार को छुट्‌टी होती है। इसलिए साल की शुरुआत सचिवालय और निदेशालय के कर्मी सैर सपाटे के साथ कर सकते हैं। क्षेत्रीय और जिला कार्यालयों में केवल रविवार को साप्ताहिक अवकाश होता है। ऐसे में इन कार्यालयों में कार्य करने वाले कर्मियों को इस दिन सैर सपाटे के लिए एच्छिक अवकाश लेना पड़ेगा। सरकार की ओर से कर्मियों को साल में तीन दिन एच्छिक अवकाश लेने की सुविधा दी जाती है।

नये कैलेंडर में रविवार को पड़ रहीं हैं नौ छुटि्टयां

विज्ञापन

साल 2022 में जिन नौ दिनों की छुट्‌टी रविवार को पड़ रही है उनमें नौ जनवरी को गुरु गोविंद सिंह जयंती, 10 अप्रैल को रामनवमी, एक मई को श्रम दिवस, 10 जुलाई को ईद उल जोहा, दो अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती और दुर्गा पूजा, नौ अक्टूबर को हजरत मो.साहेब का जन्म दिवस, 30 अक्टूबर को छठ, 27 नवंबर को चित्रगुप्त पूजा और भाई दूज जबकि 25 दिसंबर को क्रिसमस डे है।

शनिवार को पड़ेगी पांच छुट्‌टी

इसके अलावा शनिवार को पड़ने वाली छह छुटि्टयों में पांच फरवरी को बसंत पंचमी, 19 मार्च को होली और शबे बारात, नौ अप्रैल को सम्राट अशोक जयंती, 23 अप्रैल को वीर कुंवर सिंह जयंती और 17 सितंबर को चेहल्लुम शामिल हैं। साथ ही शनिवार को पड़ने वाली एच्छिक छुटि्टयों में एक जनवरी के अलावा 15 जनवरी को मकर संक्रांति, 18 जून को अनुग्रह नारायण सिन्हा जयंती, 17 सितंबर को विश्वकर्मा पूजा, 29 अक्टूबर को छठ का खरना, तीन दिसंबर को डॉ. राजेंद्र प्रसाद जयंती और 24 दिसंबर को क्रिसमस ईव शामिल है।

वर्ष 2022 की सभी छुटि्टयों पर नजर डालें तो 09 जनवरी को गुरू गोविन्द सिंह जन्म दिवस, 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस, 05 फरवरी को वसंत पंचमी, 16 फरवरी को संत रविदास जयंती, 1 मार्च को महाशिवरात्रि, 18 एवं 19 मार्च को होली, 19 मार्च को शब – ए – बरात, 22 मार्च को बिहार दिवस, 09 अप्रैल को सम्राट अशोक अष्टमी, 10 अप्रैल को राम नवमी, 14 अप्रैल को महावीर जयंती और भीमराव अम्बेदकर जयंती, 15 अप्रैल को गुड फ्राईडे, 23 अप्रैल को वीर कुंवर सिंह जयंती, 01 मई को मई दिवस (श्रम दिवस), 10 मई को जानकी नवमी, 16 मई को बुद्ध पूर्णिमा, 03 मई को ईदुल फितर (ईद), 14 जून को कबीर जयंती, 10 जुलाई को ईदुल जोहा (बकरीद), 09 अगस्त को मोहर्रम, 11 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस, 17 सितम्बर को चेहल्लुम, 02 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती, 02 एवं 03 अक्टूबर को दुर्गा पूजा (सप्तमी, महाअष्टमी), 4 एवं 5 अक्टूबर को दुर्गा पूजा (महानवमी, विजयादशमी), 09 अक्टूबर को हजरत मो. साहब का जन्म दिवस, 24 अक्टूबर को दीपावली, 30 एवं 31 अक्टूबर को छठ पूजा, 27 नवम्बर को चित्रगुप्त पूजा और भाई दूज जबकि 25 दिसम्बर को क्रिसमस डे की छुट्‌टी है।

राज्य सरकार के कर्मियों के लिए प्रतिबंधित (ऐच्छिक) अवकाशों में नव वर्ष 1 जनवरी, मकर संक्रान्ति 15 जनवरी, कर्पूरी ठाकुर जयंती 24 जनवरी, होली 17 मार्च, रमजान का अंतिम जुमा 29 अप्रैल, ईदुल फितर (ईद) 04 मई, अनुग्रह नारायण सिन्हा जयंती 18 जून, ईदुल-जोहा (बकरीद) 11 जुलाई, अंतिम श्रावणी सोमवार 08 अगस्त, मुहर्रम 10 अगस्त, रक्षा बंधन 12 अगस्त, अनंत चतुर्दशी 09 सितम्बर, विश्वकर्मा पूजा 17 सितम्बर, दुर्गा पूजा कलश स्थापना 26 सितम्बर, दुर्गा पूजा 06 अक्टूबर, जय प्रकाश नारायण जयंती 11 अक्टूबर, श्रीकृष्ण सिंह जयंती 21 अक्टूबर, छठ पूजा (खरना) 29 अक्टूबर, डॉ राजेन्द्र प्रसाद जयंती 03 दिसम्बर और क्रिसमस ईव 24 दिसम्बर शामिल है। इन अवकाशों में से पूरे वर्ष में किन्हीं तीन अवकाशों का उपयोग कर्मी कर सकते हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored