Header 300×250 Mobile

देश का अत्याधुनिक जू सफारी पर्यटकों के लिए तैयार

मनोरंजन व एडवेंचर का एक साथ आनंद लेने के लिए आएंगे पर्यटक

- Sponsored -

440

- sponsored -

- Sponsored -

राजगीर में जू सफारी का आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे उद्घाटन

राजगीर (voice4bihar news)। बिहार के पिकनिक स्पॉट में शुमार राजगीर में सैर-सपाटा का आनंद उठाने वालों के लिए एक और तोहफा मिला है। यहां ‘राजगीर जू सफारी’ के रुप में पर्यटकों के लिए मनोरंजन व एडवेंचर का एक नया अध्याय बुधवार से चालू होने जा रहा है। इस जू सफारी का उद्घाटन 16 फरवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे। यह जू सफारी पूर्वोत्तर भारत का पहला और देश का सबसे अत्याधुनिक जू सफारी के रूप में पर्यटकों के सामने आएगा।

बाघ, शेर, चीता, भालू व हिरण का दिखेगा विहंगम नजारा

यहां तीन खेतों में दो बाघ, 6 शेर, 2 चीता, दो भालू, आठ वर्किंग हिरण लाए गए हैं। इसके अलावा ढाई सौ से अधिक हिरण पहले से मौजूद हैं। सामान्य हिरण को छोड़ शेष वन्यजीवों को सूबे के बाहर के चिड़िया घरों से लाया गया है। पारदर्शी शीशे के ब्रिज पर चढ़कर इन जानवरों को देखने का आनंद किसी एडवेंचर से कम नहीं होगा। तथागत बुद्ध की स्थली राजगीर में पहले से मौजूद आठ सीट वाले रोपवे, घोड़ा कटोरा, वेणुवन और कई मनोरम नजारों को देखने का लुत्फ यहां उठा सकेंगे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है राजगीर जू सफारी

विज्ञापन

राजगीर जू सफारी का निर्माण मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जाता है। इसके निर्माण के हर चरण पर नीतीश कुमार की नजर लगी रही। इसके पहले 26 अगस्त 2021 को मुख्यमंत्री ने जू सफारी का जायजा लिया था। तब उन्होंने जू सफारी के अंदर रहने वाले वन्यजीवों को यहां के वातावरण के अनुसार एजस्ट करने का निर्देश दिया था। साथ ही वन्य जीवों की बेहतर देखभाल के लिए हर छोटी-बड़ी गतिविधियों पर भी ध्यान रखने की बातें कही थी।

सीएम के निर्देशों के आलोक में जू सफारी के अंदर सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई है। मंगलवार को जू सफारी के अंदर तैयारियों को जायजा लेने के लिए वन विभाग के वरीय अधिकारी आए और सभी तरह की तैयारियों से रूबरू हुए। इसी तरह से मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर स्थानीय प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन ने भी अपने स्तर से पुख्ता तैयारी कर ली है। जू सफारी 191 हेक्टेयर में निर्माण कराया गया है। इसके निर्माण में 177 करोड़ रुपए व्यय किया गया है।

2200 शाकाहारी पशु, दर्जनों हिंसक पशु के अलावा 10 हजार तितलियां भी दिखेंगी

बताया जाता है कि इस जू सफारी के अंदर 22 सौ अधिक संख्या में शाकाहारी पशुओं के अलावा शेर, बाघ, भालू, चीता की संख्या 8-8 की है। इसके अलावा 10 हजार से अधिक प्रजातियां की तितलियां रखने की पूरी योजना कर ली गई है। यह तितली घर अत्याधुनिक तितली घर के रूप में निर्माण कराया गया है। यह तितली घर देश के अत्याधुनिक तितली घर के रूप में होगा। जू सफारी को चालू होने के बाद अव राजगीर में लोगों को घूमने के लिए कम से कम 4 दिन लगेगा।

संबंधित खबर : राजगीर में जू सफारी के साथ 8 सीटर रोपवे भी खुलेगा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored