Header 300×250 Mobile

दो साल पहले गोली मारने के लिए ललकारा था, अब आया पुलिस की गिरफ्त में

बुलेट पर सवार तीन अपराधियों ने मिलकर की थी युवक की हत्या

- Sponsored -

405

- sponsored -

- Sponsored -

नहौना गैस एजेंसी के पास हुई नवनीत मिश्रा की गिरफ्तारी

बजरंगी कुमार के साथ अभिषेक कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। वर्ष 2018 में रोहतास जिला मुख्यालय के मुफस्सिल थाना क्षेत्र अंतर्गत शाहपुर गांव में हत्या के लिए ललकारने वाले अभियुक्त को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दो वर्ष पूर्व शाहपुर गांव में दरवाजे पर बैठे मुकेश गुप्ता को गोली मार जख्मी किए जाने के मामले में दर्ज प्राथमिकी में पत्तियां गांव निवासी नवनीत मिश्रा को नामजद अभियुक्त बनाया गया था।

मंगलवार को नवनीत मिश्रा की गिरफ्तारी नहौना गैस एजेंसी के पास से हुई है। गिरफ्तारी की पुष्टि रोहतास पुलिस कप्तान आशीष भारती ने स्वयं की है। नवनीत पर मुकेश गुप्ता हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त अमित कुमार को ललकारने का आरोप है। जख्मी मुकेश की मौत इलाज के दौरान वारदात के एक सप्ताह बाद बनारस में हो गयी थी।

दो दिन बाद तीन नामजदों के विरुद्ध हुई थी प्राथमिकी

घटनाक्रम पर गौर करें तो 22 अक्टूबर 2018 की संध्या पांच बजे बुलेट सवार अपराधियों ने गोली मार कर मुकेश गुप्ता को जख्मी कर दिया था। उसे आनन-फानन में स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उसे बीएचयू के ट्रामा सेंटर ले जाया गया था। उस वक्त मुफस्सिल थाना पुलिस के समक्ष घायल युवक के पिता ओम प्रकाश साह ने बयान दर्ज कराया था, जिसके आलोक में घटना के दो दिन बाद एफआईआर दर्ज हुई थी।

विज्ञापन

मामले में शाहपुर निवासी अमित सिंह, पतियां निवासी नवनीत मिश्रा और नहौना निवासी अमजद खान को नामजद अभियुक्त बनाते हुए प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पहले तो इस मामले में दर्ज कांड संख्या 201/18 धारा 326, 307, 504, 506, 34 आईपीसी सहित 27 आर्म्स एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई, लेकिन जख्मी मुकेश गुप्ता की सप्ताह भर बाद हुई मौत के बाद धाराएं परिवर्तित करते हुए 302, 277 लगा दी गयी है।

यह भी देखें : इलाज के लिए पैसे नहीं दिये तो पिता व भाई को गड़ासे से काट डाला

अमित की गली से गुजरना मुकेश को पड़ा महंगा

मुकेश गुप्ता हत्याकांड को लेकर मुफस्सिल थाने में पिता ओमप्रकाश साह के फर्द बयान के आधार पर घटना के दो दिन बाद दर्ज प्राथमिकी कांड संख्या 201/18 दर्ज हुई थी। इसमें कहा गया है कि 22 अक्टूबर 2018 को बुलेट पर सवार अमित सिंह, कमलेश मिश्रा और नहौना निवासी जफरू खान के पुत्र अमजद खान उनके दरवाजे पर पहुंचे। देशी कट्टे से लैस अमित सिंह ने मुकेश गुप्ता पर उसके घर की गली से गुजरने का आरोप लगाते हुए गाली गलौज शुरू कर दी।

इसी बीच कमलेश मिश्रा के पुत्र नवनीत मिश्रा ने ललकारते हुए गोली मार देने की बात कही और अमित ने अपने कट्टे से गोली चला दी। गोली मुकेश की कनपटी में लगी। वह घटनास्थल पर गिर पड़ा। इस बीच तीनों अपराधी मौका ए वारदात से भागने में सफल रहे। भागने के दौरान अमजद खान पर फायरिंग कर दहशत फैलाने का आरोप भी दर्ज प्राथमिकी में मृतक के पिता ने लगाया है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इस मामले के नामजद अभियुक्त रहे अमजद खान को वर्ष 2018 में गिरफ्तार किया था जो फिलहाल जमानत पर है।

यह भी देखें : हर्ष फायरिंग : युवक के सिर में लगी गोली, मौके पर ही दम तोड़ा

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT