Header 300×250 Mobile

प्रतिबंधित दवा की खेप लेकर पहुंचीं दो महिला तस्कर गिरफ्तार

जोगबनी के चाणक्य चौक से नेपाल में प्रवेश करते ही सुरक्षा बलों ने धर दबोचा

- Sponsored -

392

- Sponsored -

- sponsored -

एक महिला तस्कर जोगबनी की रहने वाली तो दूसरी नेपाल के इस्लामपुर की

जोगबनी (voice4bihar news)। भारत-नेपाल सीमा पर नशीली वस्तुओं व अन्य चीजों की अवैध आवाजाही रुकने का नाम नहीं ले रही है। हैरत की बात यह है कि इस अवैध कारोबार में शामिल तस्करों की गिरफ्तारी भारत में कम हर होती है, जबकि नेपाल में प्रवेश करते ही सुरक्षा बलों के हत्थे चढ़ जाते हैं। बृहस्पतिवार को नशीली दवा व आर्म्स के साथ नेपाल बॉर्डर पर पकड़े गए पप्पू पटेल के खिलाफ जांच अभी शुरू भी नहीं हुई कि शुक्रवार को प्रतिबंधित दवा तस्करी का बड़ा मामला सामने आ गया। नेपाल पुलिस ने दो महिलाओं को प्रतिबंधित दवाओं की खेप ले जाते पकड़ा है।

बताया जाता है कि इन दोनों महिलाओं का ताल्लुक नशीली दवा तस्करों के गिरोह से है। प्रतिबंधित दवा तस्करी में पकड़ी गयी दोनों महिलाएं भारत व नेपाल के सीमावर्ती इलाके की रहने वाली हैं और इनकी गिरफ्तारी बॉर्डर के नेपाल भाग में हुई है। महिला तस्करों के पास भारी मात्रा में प्रतिबंधित दवाएं मिली हैं। जानकारी के अनुसार अस्थायी पुलिस चौकी मटियरवा के समीप ड्यूटी पर तैनात नेपाल पुलिस के जवान धर्मेन्द्र शाह ने चाणक्य चौक से नेपाल आ रहीं दो महिलाों को शक के आधार पर रोका। इनके झोले की तलाशी ली गयी तो भारी मात्रा में प्रतिबंधित दवा की खेप बरामद की गई।

विज्ञापन

अररिया के जोगबनी व नेपाल के इस्लामपुर की रहने वाली हैं महिला तस्कर

प्रतिबंधित दवा की खेप ले जा रही महिलाओं के बारे में सूत्रों ने बताया कि ये दोनों लम्बे समय से भारत से नेपाल की ओर कैरिंग के मार्फ़त तस्करी के धंधे में लगी थीं। ये प्रतिबंधित दवाओं के अलाव अन्य कई चीजों को भारत से नेपाल पहुंचाने में सिद्ध्हस्त थीं। स्थानीय होने के कारण इनपर शक नहीं होता था और सुरक्षा कर्मियों को इनके अवैध कार्य की भनक नहीं लग पाती थी। गिरफ्तार महिलाओं की पहचान जोगबनी की रिहाना खातून व नेपाल भाग के इस्लामपुर की जस्मिन खातुन के रुप में हुई है ।

ट्रामाडोल नामक दवा की खेप लेकर निकली थीं तस्कर

गिरफ्तार महिलाओं के पास ट्रामाडोल नामक दवा 440 पीस व एसपी 660 पीस बरामद की गई है। इलाका पुलिस कार्यालय रानी के इन्सपेक्टर प्रकाश राउत ने बताया कि दोनों को गिरफ्त में लेकर आगे की जांच की जा रही है। हालांकि भारत की सीमा में तस्करों के सुरक्षित घूमने का सवाल अब भी बरकराह है। जब जोगबनी के चाणक्य चौक में एसएसबी जवान की तैनाती है, तो फिर इतनी संख्या में प्रतिबंधित दवा लेकर तस्कर नेपाल में कैसे घुस गए?

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored