Header 300×250 Mobile

99 का चक्कर : 99 दिनों में ही हटा दिये गए भोजपुर के 99वें एसपी राकेश कुमार दुबे

अवैध बालू खनन रोकने में विफल रहे पुलिस अधीक्षक पर गिरी गाज

- Sponsored -

456

- sponsored -

- Sponsored -

भोजपुर में “आया राम-गया राम” की तर्ज पर चल रहा एसपी का पद

सितंबर 2018 के बाद चार बर्षों में भोजपुर में चार पुलिस अधीक्षक बदले गए

आरा/पटना (voice4bihar news)। अक्सर कहा जाता है कि ’99 का चक्कर बड़ा खराब होता है।’ आज के वैज्ञानिक युग में यह जुमला कहने-सुनने में बड़ा दकियानुस अवधारणा जान पड़ता है, लेकिन भोजपुर के एसपी राकेश कुमार दुबे के साथ यह सटीक बैठता है। यह महज संयोग है कि 99वें पुलिस अधीक्षक के तौर पर भोजपुर पुलिस की कमान संभालने वाले राकेश दुबे अपने पदस्थापना के 99 दिनों बाद ही हटा दिये गए। इस कार्यकाल के दौरान उन्होंने जिले के लिए कुछ यादगार काम किये तो बालू खनन की काली कोठरी में अपना दामन बेदाग नहीं रख पाये।

भोजपुर जिले में अधिक वक्त तक नहीं टिक रहे एसपी

विदित हो कि राज्य के सोन तटीय जिलों में लाल बालू के काले खेल को लेकर मचे बवंडर में कई अफसरों पर गाज गिर चुकी है। बुधवार को राकेश दुबे समेत राज्य के पांच अफसरों पर कार्रवाई हुई है, इनमें औरंगाबाद के एसपी सुधीर कुमार पोरिक तथा पटना, औरंगाबाद व रोहतास के डीटीओ भी शामिल हैं। भोजपुर एसपी की बात करें तो हाल के वर्षो में जिले में एसपी राकेश कुमार दूबे का कार्यकाल सबसे कम रहा है। इससे पूर्व एसपी हर किशोर राय भी करीब साढ़े सात महीने ही जिले में रह सके थे। यह अवधि राकेश दुबे के कार्यकाल की अपेक्षा लगभग दोगुना है।

विज्ञापन

यह भी पढ़ें : भोजपुर व औरंगाबाद के एसपी की जगह भेजे गए पटना के दो एसपी

6 अप्रैल को हुए थे पदासीन तो 14 जुलाई को पदच्युत

तारीखों पर गौर करें तो इसी वर्ष छह अप्रैल 2021 को हर किशोर राय का तबादला करते हुए सरकार ने राकेश दुबे को भोजपुर का एसपी बनाया था। तब वे बिहार के राज्यपाल के एडीसी थे। राकेश कुमार दुबे ने 10 अप्रैल को भोजपुर पुलिस की कप्तानी संभाली थी। उसके ठीक 99 दिन बाद राकेश कुमार दूबे भोजपुर से हटा दिये गये। एक संयोग यह भी है कि बतौर एसपी राकेश कुमार दूबे की जिले में पहली पोस्टिंग थी। वे राजभवन से आये थे और पुलिस मुख्यालय बुला लिये गए।

एसपी प्रतिमा एस वर्मा व अवकाश कुमार के बाद किसी भी पुलिस कप्तान ने नहीं खेली लंबी पारी

अमूमन एक जिले में पदस्थापित एसपी दो से तीन साल तक पद पर बने रहते हैं, लेकिन भोजपुर जिले में ऐसा नहीं हुआ। यहां सितंबर 2018 से जुलाई 2021 तक करीब चार वर्षों में अब तक चार एसपी बदले जा चुके हैं। इनमें राकेश दुबे सर्वाधिक कम तीन माह नौ दिन तक एसपी रहे। इनके अलावा आदित्य कुमार ने नौ माह तक सेवाएं दी तो सुशील कुमार करीब 15 माह पर इस पद पर रहे। हरकिशोर राय ने 7.5 माह तक पुलिस की कप्तानी संभाली थी। इनके पहले एसपी अवकाश कुमार व प्रतिमा एस वर्मा ने यहां लंबी पारी खेली थी।

यह भी देखें : अवैध बालू खनन मामले में बड़ी कार्रवाई, भोजपुर व औरंगाबाद के एसपी समेत पांच अफसर हटाये गए

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT