Header 300×250 Mobile

घर का ताला काटकर घुसे चोर को मुहल्लेवासियों ने धर दबोचा

ताला टूटने की आवाज सुनकर पड़ोसियों ने की घर की घेराबंदी

- Sponsored -

381

- Sponsored -

- sponsored -

भागते हुए चोरों ने चलाई गोली, एक पड़ोसी जख्मी, बनारस रेफर

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। सासाराम नगर थाना क्षेत्र के तकिया मोहल्ले में बाहर से ताला बंद मकान में चोरी करने की नीयत से घुसे एक चोर को लोगों ने रंगेहाथ धर दबोचा है। घर का ताला तोड़ने की आवाज के आधार पर स्थिति को भांपते हुए आसपास के लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी और मकान की घेराबंदी कर एक चोर को धर दबोचा, जबकि उसके अन्य सहयोगी भागने में सफल रहे। जिस घर में चोरी की नीयत से चोर घुसे थे वह मकान राम बिलास सिंह के पुत्र बीरेन्द्र कुमार है। बीरेंद्र अभी एमवीआई का गार्ड के पद पर तैनात हैं।

बताया जाता है कि घर में जब चोरों ने चोरी की नीयत से ताला काटना शुरू किया, तब घर में कोई नहीं था और ताला बाहर से बंद था। चोरों ने घर के एक से अधिक तालों को काटने में सफलता पाते हुए चोरी की घटना को अंजाम देना शुरू कर दिया था। इसी बीच सटे मकान रामविलास सिंह के दूसरे पुत्र को चोरों की चहलकदमी का अहसास हुआ और उसने अपने गार्ड भाई को सूचना देते हुए तत्काल पुलिस की मदद ली और ग्रामीणों को जगाने का काम किया तब जाकर चोरों के मंसूबे नाकाम हुए।

चोर और मुहल्लेवासियों के बीच हुई गोलीबारी

चोरी की घटना को अंजाम दिए जाने की सूचना पाते ही तकिया मोहल्ले में हो रही चोरी वाले मकान के आसपास के लोग जाग उठे और पब्लिक की सूचना पर तुरंत पुलिस भी पहुंच गयी। चारो तरफ से घिरते देख चोरों ने मकान के अंदर से ही फायरिंग कर दी और पीछे के मकान पर कूद कर भागने लगे। इस बीच चोरों को पकड़ने की फिराक में एक मुहल्लेवासी को भी गोली लगी है, जिसका नाम मनोज कुमार बताया जा रहा है। मनोज कुमार की गंभीर हालत को देखते हुए उसे बनारस रेफर कर दिया गया है। चोरों की गोलीबारी के जवाब में स्थानीय लाईसेंसी शस्त्रधारकों द्वारा भी हवाई फायरिंग की सूचना है।

घर में छिपे चोर भागने की फिराक में दबोचा गया

चोरी के दौरान मकान के चारों तरफ लोगों के जागने और दरवाजे पर पहुंच चुकी पुलिस के कारण कुछ चोर फायरिंग कर भागने में सफल रहे, जबकि एक चोर छिप गया जो बाद में भागने की फिराक में पकड़ा गया। पकड़े गये चोर के बांह में भी गोली लगी है। आशंका जतायी जा रही है कि चोर गिरोह के सदस्यों ने पब्लिक के हत्थे चढ़ने की आशंका को भांपते हुए खुद ही अपने साथी को गोली मार दी, ताकि उसके माध्यम से पुलिस के हाथ उन तक न पहुंच सके।

विज्ञापन

आशंका यह भी है कि चोरों ने यह गोली अपने हीं साथी की हत्या की नीयत से सीने पर गोली दागी होगी, लेकिन निशाना चूकने के कारण गोली बांह में जा लगी। बहरहाल मामले में पुलिस अनुसंधान कर रही है और पब्लिक के हत्थे चढ़े चोर को पुलिस हिरासत में लेकर इलाज कराने की प्रकिया कर रही है। उसे जेल भेजने की कार्रवाई भी की जा चुकी है।

सासाराम के तकिया में चोर को पकड़ने वाले पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करते एसपी आशीष भारती व अन्य।

पुलिस कप्तान ने किया प्रेस कांफ्रेंस

इस पूरे मामले में पुलिस कप्तान आशीष भारती ने नगर थाना परिसर पहुंच प्रेस कांफ्रेंस करते हुए पूरे मामले की जानकारी दी है। मौका ए वारदात से दबोचे गए अपराधी की पहचान स्वर्गीय अशोक चौरसिया के पुत्र सुरेश चौरसिया के रूप में हुई है, जो जिले का कुख्यात अपराधी गिरोह का मास्टर माइंड सदस्य है। गिरफ्तार अपराधी पूर्व में करगहर और सासाराम पुलिस द्वारा जेल भेजा चुका है। गिरफ्तार अपराधी का एक सहयोगी सुभाष यादव कुछ महीने पहले फोरलेन पर लूट के दौरान तत्कालीन दरिगांव थानाध्यक्ष दिवाकर प्रसाद पर गोली चलाने के आरोप में जेल जा चुका है। उसी ने होटल माउंटेन व्यू के सामने लूट के दौरान चालक की हत्या में अपनी संलिप्तता भी स्वीकार की थी।

दबोचा गया अपराधी जिला मुख्यालय में बड़ी चोरी और लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाला हथियार बंद अपराधिक गिरोह का सदस्य है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी के पास से एक देसी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस, 3 खोखा, एक मैगजीन, एक मोटरसाइकिल के अलावा दो पेचकस एवं एक कटर बरामद किया गया है। गिरफ्तार अपराधी ने अपने सहयोगियों के नाम का खुलासा भी किया है जिसके सत्यापन और गिरफ्तारी में पुलिस जुटी है।

गिरफ्तार सुरेश चौरसिया के गुनाहों की लंबी फेहरिस्त

पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक गिरफ्तार अपराधी सुरेश चौरसिया पर कई आपराधिक मामले भी दर्ज हैं, जिसमें सासाराम नगर थाना जनसंख्या 1045/2019 धारा 414,401, सहित 25(1-ख)ए/26//35 आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज है। इस कांड में पुलिस ने सुरेश चौरसिया के घर से भारी मात्रा में ज्वेलरी और सवा लाख रुपये नगद बरामद किये थे। सुरेश चौरसिया अपने सहयोगियों के साथ गोलीबारी के आरोप में करगहर थाना में 147/148/341/323/307/504/506/सहित 25(1-ख)ए/26/27/35 आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज थाना कांड संख्या 46/21 में जेल जा चुका है। सभी मामलों में वह आर्म्स एक्ट का आरोपी है।

जानकारी के अनुसार सुरेश चौरसिया दरिगांव थाना क्षेत्र के एनएच 2 पर कुछ महीना पहले दरिगांव थाना अध्यक्ष पर गोली चलाने वाले दुस्साहसी लुटेरा सुभाष के साथ जेल जा चुका है। जानकारी के अनुसार सुरेश चौरसिया कुख्यात अपराधियों के गिरोह का सक्रिय सदस्य है, जिसके गुनाहों के तार रोहतास से लेकर औरंगाबाद तक जुड़े हैं। पुलिस कप्तान आशीष भारती ने मौका ए वारदात पर पहुंच चोरी की घटना को असफल बनाने में अहम भूमिका निभाने वाली पुलिस टीम को प्रशस्ति पत्र प्रदान करते हुए पुरस्कृत किया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT