Header 300×250 Mobile

थानेदार गोलीकांड के आरोपी सेराज अली की जमानत खारिज

कोलकाता-दिल्ली हाईवे पर सक्रिय लुटेरा गिरोह का सदस्य है सेराज अली

- Sponsored -

250

- Sponsored -

- sponsored -

विगत फरवरी माह में दरिगांव के तत्कालीन थानेदार को मारी गयी थी गोली

घटनास्थल पर बरामद बाइक के जरिये सेराज अली तक पहुंची थी पुलिस

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (Voice4bihar news)। कोलकाता-दिल्ली फोरलेन हाईवे पर रोहतास जिले में दरिगांव थाना क्षेत्र के कोटा गांव के समीप ट्रक लूट के दौरान तत्कालीन थानेदार पर गोली चलाने वाले गिरोह के सदस्य सेराज अली की जमानत याचिका खारिज हो गयी। यह वारदात विगत फरवरी महीने में उस वक्त हुई थी, जब तत्कालीन थानाध्यक्ष दिवाकर प्रसाद मॉर्निंग गश्ती पर निकले थे। याचिका पर सुनवाई सासाराम सिविल कोर्ट के एडीजे पांच की अदालत में हुई। विगत 18 मई 2022 को बेल पेटिशन 488/22 को एडीजे पांच की अदालत ने किया खारिज कर दिया।

विज्ञापन

हाईवे पर थानेदार को लगी थी गोली

घटनाक्रम पर गौर करें तो कोलकाता-दिल्ली नेशनल हाईवे पर विगत पिछले 29 दिसम्बर को ट्रक चालक सह मालिक के भाई सुदामा पटेल की गोली मार लुटेरों ने हत्या कर दी थी। साथ ही खलासी जगमोहन पटेल को भी अपराधियों ने गोली मार कर जख्मी कर दिया था। सुदामा पटेल को लुटेरों ने सीने में गोली मारी थी, जबकि जगमोहन पटेल को गोली बांह में लगी थी।

फोरलेन पर हुई लूट के दौरान चालक की हत्या के बाद से ही रोहतास पुलिस फोरलेन पर चौकस थी। चालक की हत्या अहले सुबह हुई थी। तमाम कोशिशों के बावजूद पुलिस को चालक हत्याकांड में घटना के एक माह बाद भी कोई सुराग नहीं हाथ लग सका था। ऐसे में लूट कांड गिरोह की शिनाख्त करने व लुटेरों का सुराग पाने की फिराक में विगत 03 फरवरी को पुलिस अहले सुबह की गश्ती के दौरान काफी चौकसी बरत रही थी। इसी बीच तत्कालीन थानाध्यक्ष दिवाकर प्रसाद पर गोली चला जख्मी कर लुटेरे फरार हो गये थे।

मौक़ा ए वारदात से बरामद हुई थी अपाची बाइक

वारदात के बाद लुटेरे फरार हो गए लेकिन मौका ए वारदात से पुलिस ने अपाची बाईक बरामद की थी। परिवहन विभाग से मिली जानकारी के आलोक में अपाची मालिक सेराज अली को पुलिस ने 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया था। सेराज अली के स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर लूट कांड के गिरोह का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने करगहर थाना क्षेत्र के खौरेया गांव निवासी सुभाष यादव और चेनारी थाना क्षेत्र के चंद्रकैथी गांव निवासी सन्नी दिओल चंद्रवंशी को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT