Header 300×250 Mobile

मस्जिद के पास वीडियो बनाने की अफवाह पर शिक्षक को बेरहमी से पीटा

इमामबाड़ा के पास खुली दुकान व भीड़ का वीडियो बनाने के शक में पिटाई

- Sponsored -

460

- sponsored -

- Sponsored -

मस्जिद में नमाज पढ़कर निकलते लोगों का वीडियो बनाने की उड़ाई अफवाह

पटना (voice4bihar news)। फुलवारीशरीफ के खलीलपुरा में एक कोचिंग संचालक सह शिक्षक को उन्मादी भीड़ ने वीडियो बनाने के शक में बेरहमी से पीटकर अधमरा कर दिया। इमामबाड़ा स्थित मस्जिद के पास मोबाइल से बात कर रहे शिक्षक के साथ यह हैवानियत तब हुई, जब किसी शख्स ने अफवाह फैला दी कि मस्जिद से नमाज पढ़कर निकल रहे लोगों का वीडियो बना रहा है। वहां मौजूद दर्जन भर आसामाजिक तत्वों ने मिलकर शिक्षक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पीड़ित शिक्षक ने इसकी शिकायत फुलवारीशरीफ थाने में की है।

पीड़ित शिक्षक रेयाज ने बताया कि खलीलपुरा में रह रहे एक शिक्षक के पास ऑनलाइन क्लास के लिए नोट्स लेने के लिए भेजा था। उनके आने तक खलीलपुरा इमामबाड़ा स्थित मजिस्द के सामने इंतजार कर रहे रेयाज ने अपने सहयोगी शिक्षक को कॉल लगाया। इस दौरान किसी तरह से उनके मोबाइल की फ्लैश लाइट जल गयी। यह देख कुछ लोगों ने अफवाह फैला दी कि यह शख्स मस्जिद से नमाज पढ़ निकल रहे लोगों का वीडियो बना रहा है। साथ ही वहां पर खुली दुकानों पर मौजूद भीड़ को कैमरे में कैद कर रहा है।

विज्ञापन

खलीलपुरा के दानिश नामक लड़के ने भीड़ का उकसाया

इस अफवाह के बाद बिना कुछ पूछे दर्जन भर युवक गिद्ध की तरह टूट पड़े और लात-घूंसे से पीटकर अधमरा कर दिया। गनीमत रही कि वहां मौजूद एक सज्जन ने किसी तरह भीड़ के चंगुल से बाहर निकाला। वहां से भागकर फुलवारीशरीफ थाने पहुंचे शिक्षक रेयाज ने इसकी लिखित शिकायत पुलिस से की। भीड़ को उकसाने व मारपीट करने में खलीलपुरा का दानिश नामक लड़का उसके साथी भी थे। भीड़ के हाथों पिटते शिक्षक बार-बार यह कहते रहे कि ‘मैं रोजे से हूं, मैं कोई वीडियो नहीं बना रहा था।’ इसके बावजूद किसी ने एक न सुनी।

लफंगई करने पर शिक्षक ने लगाई थी फटकार, इसी का लिया बदला

बताया जाता है कि दानिश इससे पूर्व भी रेयाज के कोचिंग के पास जाकर लफंगई कर रहा था। उस समय कोचिंग के शिक्षक ने उसे डांट कर भगाया था। शायद इसी का बदला लेने के लिए दानिश ने ऐसी अफवाह फैलाई कि मस्जिद से निकल रहे लोगों का वीडियो बना रहा है। जिसके बाद सभी टूट पड़े। बहरहाल पुलिस ने रेयाज की शिकायत पर कार्रवाई शुरू कर दी है। हालांकि अभी तक किसी की कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। थानाध्यक्ष रफिकुर रहमान ने बताया कि मैं इसे गंभीरतापूर्ण लेते हुए कार्रवाई में जुटा हूं। जल्द ही आरोपित की गिरफ्तारी होगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored