Header 300×250 Mobile

नीतीश कैबिनेट का विस्तार आज, शाहनवाज और नितिन समेत 22 नये मंत्री बनेंगे

- Sponsored -

283

- sponsored -

- Sponsored -

भाजपा कोटे सेे जनक राम, नीतीश मिश्रा, इंजीनियर शैलेंद्र और श्रेयसी सिंह केे भी नाम की चर्चा

जदयू कोटे से श्रवण कुमार, सुमित सिंह, लेसी सिंह, बीमा भारती, दामोदर राउत और महेश्वर हजारी भी बन सकते हैं मंत्री

पटनाा (voice4bihar Desk)। पिछले करीब ढाई महीने में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सीधा और सबसे अधिक जो सवाल पूछा गया तो वह यही था कि मंत्रिमंडल (cabinet) का विस्तार कब होगा। मुख्यमंत्री ने पहले कहा कि जब होगा तो आपको इसकी सूचना दे दी जायेगी। इंतजार जब और बढ़ा तो मुख्यमंत्री ने कहा कि देर भाजपा की ओर से है। सोमवार को भी जब वे मीडिया के सामने आये तो उन्होंने यही कहा कि भाजपा की सूची आते ही मंत्रिमंडल का विस्तार कर दिया जायेगा।

पर, शाम होते-होते मंत्री पद के दावेदारों के फोन घनघनाने लगे। इधर, मीडिया में भी नीतीश मंत्रिमंडल के विस्तार की खबर जोर पकड़ने लगी। रात करीब नौ बजे पक्का हो गया कि मंगलवार मंत्री पद के कई दावेदारों का मंगल करने वाला है। आधिकारिक रूप से राजभवन से मीडिया हाउस में मंगलवार दोपहर बारह बजे के आमंत्रण मिलने लगे। यानी कि नीतीश कैबिनेट का विस्तार मंगलवार को 12 बजे किया जाना है।

इसके साथ ही कौन-कौन मंत्री बनेंगे और किन्हें मायूसी हाथ लगेगी इसकी चर्चा जोर पकड़ने लगी। जदयू और भाजपा के कई ऐसे नाम हैं जिनको लेकर कोई संशय नहीं है। इसमें सबसे पहला नाम विधान परिषद के निर्विरोध नव निर्वाचित सदस्य शाहनवाज हुसैन का है। हुसैन केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री रह चुके हैं। हालांकि 2014 का लोकसभा चुनाव हारने के बाद उन्हें सरकार में तो भागीदारी नहीं दी गयी लेकिन संगठन में उनका खूब उपयोग किया गया।

हाल ही में जम्मू कश्मीर में हुए डीडीसी चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी तो इसमें हुसैन की भूमिका की भी सराहना की गयी। इनाम के रूप में पार्टी ने उन्हें जब से बिहार विधान परिषद का टिकट देने का ऐलान किया तभी से उनके बिहार में मंत्री बनने की प्रबल संभावना दिख रही थी। खबर है कि भाजपा कोटे से मंत्री पद की शपथ लेने का न्योता उन्हें आधिकारिक रूप से भेज दिया गया है और वे मंगलवार की सुबह तक पटना की धरती पर पहुंच भी जायेंगे।

विज्ञापन

इनके अलावा भाजपा कोटे से बांकीपुर के विधायक नितिन नवीन का भी नाम मंत्री पद के प्रबल दावेदारों में बताया जाता है। सम्राट चौधरी भी मंत्री बनाये जा सकते हैं। इनके अलावा जनक राम, नीतीश मिश्रा, इंजीनियर शैलेंद्र और श्रेयसी सिंह भी मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं। जदयू कोटे से श्रवण कुमार, सुमित सिंह, लेसी सिंह, बीमा भारती, दामोदर राउत और महेश्वर हजारी के नामों की चर्चा जोर शोर से है। फिलहाल इस मंत्रिमंडल विस्तार में हम और वीआईपी को क्या मिलेगा यह साफ नहीं हो सका है।

इसके पहले 16 नवंबर को नीतीश कुमार ने सातवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उनके साथ 14 मंत्रियों ने भी शपथ ली थी। इनमें भाजपा के सात और जदयू के चार मंत्रियों के अलावा हम और वीआईपी के एक-एक सदस्य मंत्री बने थे। हालांकि जदयू कोटे से मंत्री बने मेवालाल चौधरी को बाद में भ्रष्टाचार के पुराने मामलोंं के कारण मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया था।

फिलहाल नीतीश मंत्रिमंडल में मुख्यमत्री सहित कुल 14 सदस्य हैं। प्रावधान के अनुसार अधिकतम 22 और सदस्य मंत्रिमंडल का हिस्सा बन सकते हैं। भाजपा और जदयू के बीच विभागों का बंटवारा पहले ही हो चुका है अब शपथ ग्रहण के बाद इसी में से नये सदस्यों को विभाग आवंटित किये जाने हैं।

इस पूरी कवायद में एक और चर्चा पर जो पूर्ण विराम लगा है वह हैं उपेंद्र कुशवाहा। कुशवाहा के पिछले ढाई महीने में तीन बार मुख्यमंत्री से मिलने के बाद कयास लगाये जा रहे थे कि वे एनडीए में आयेंगे और मंत्रिमंडल विस्तार में लाभान्वित भी होंंगे। पर, अब यह साफ हो गया है कि नीतीश और कुशवाहा के बीच सुलह होने में अभी कुछ और वक्त लगेगा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored