Header 300×250 Mobile

बर्लिन स्थित इंटरनेशनल पीस ब्यूरो के सदस्य बनाए गए बिहार के अजीत सिंह

बक्सर के मूल निवासी हैं अजित, वर्तमान में पटना में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर कार्यरत

- Sponsored -

350

- Sponsored -

- sponsored -

नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित इस संस्था का दुनिया के 70 देशों में है विस्तार
“युद्ध के बगैर एक विश्व” के लिए समर्पित है ‘इंटरनेशनल पीस ब्यूरो’

विज्ञापन

पटना (voice4bihar desk)। बर्लिन स्थित दुनिया के सबसे पुराने अंतरराष्ट्रीय शांति महासंघ इंटरनेशनल पीस ब्यूरो के सदस्य के रूप में अजीत सिंह का चयन हुआ है | श्री सिंह पटना के बेली रोड स्थित आईएएस कॉलोनी के रहने वाले हैं। ये राज्य के बक्सर जिले के मूल निवासी हैं और वर्तमान में पटना वीमेंस कॉलेज में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर कार्यरत हैं। विश्वस्तर की एक प्रतिष्ठित संस्था के सदस्य के रुप में जगह मिलना पटना समेत बिहार के लिए गर्व की बात है।

उल्लेखनीय है कि सन 1891 में स्थापित तथा नोबेल शांति पुरस्कार प्राप्त इंटरनेशनल पीस ब्यूरो का विजन “युद्ध के बगैर एक विश्व” के लिए समर्पित है। इंटरनेशनल पीस ब्यूरो दुनिया भर के 70 देशों में 300 सदस्य संगठन, व्यक्तिगत सदस्यों के साथ मिलकर, एक वैश्विक नेटवर्क हैं, जो एक सामान्य उद्देश्य “सैन्य और सामाजिक खर्च के बीच असंतुलन के बारे में जागरूकता” के लिए ज्ञान और अनुभव को एक साथ लाता है।
वैश्विक स्तर पर सतत विकास के लिए निरस्त्रीकरण इंटरनेशनल पीस ब्यूरो का वर्तमान मुख्य कार्यक्रम केंद्रित है और इसके तहत इंटरनेशनल पीस ब्यूरो का ध्यान मुख्य रूप से सैन्य खर्च के पुनर्स्थापन पर है। वैश्विक स्तर पर अजीत सिंह के लिए शांति के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि है |

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT