Header 300×250 Mobile

भारी मात्रा में पेट्रोल-डीजल तस्करी का खुलासा, अर्थव्यवस्था की तेल निकाल रहे धंधेबाज

23 ड्रम में भरकर नेपाल से भारत ले जा रहे थे 5700 लीटर डीजल

- Sponsored -

260

- sponsored -

- Sponsored -

लॉकडाउन में नेपाल से भारत में तेल की तस्करी परवान चढ़ी

चायनीज सेब व काली मिर्च की तस्करी पर भी अंकुश नहीं

राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

जोगबनी बॉर्डर (voice4bihar)। भारतीय अर्थव्यवस्था की तेल निकालने पर आमादा पेट्रोल-डीजल के तस्करों का एक और कारनामा सामने आया है। यह मामला नेपाल के मोरंग जिले के रतुवामाई नगरपालिका क्षेत्र का है, जहां नेपाल सीमा के सोनमणि गोदाम के रास्ते मिनी ट्रक पर लोड कर नेपाल से भारत ला रहे 23 ड्रम में रहे पांच हजार सात सौ लीटर डीजल पकड़ा गया है।

गौरतलब है कि आम दिन हो या लॉकडाउन, यह नियम व पाबंदियां भारत-नेपाल सीमा के दोनों तरफ बैठे तस्करों के गिरोह पर लागू नहीं होता। आम दिनों में भारत से नेपाल तथा नेपाल से भारत में तस्करी के जरिये सामान लाने- ले जाने के लिए ये गिरोह नित्य नई जुगत लगाते रहे हैं। अब अबकि सीमा के दोनों तरफ लॉकडाउन की पाबंदियां लगी हैं तो इन तस्करों ने “आपदा में अवसर” का खेल शुरू कर दिया है। इसकी एक बानगी आज देखने को मिली।

आम दिनों की बजाय लॉकडाउन में ज्यादा तस्करी!

सूत्र बताते हैं कि आम दिनों के मुकाबले इन दिनों ज्यादा पैमाने पर तस्करी होती है। तस्कर इस कोरोना काल का फायदा भी बखूबी उठाना जान गए हैं, तो माल सप्लाई की डिमांड भी बढ़ी है। लिहाजा बड़े पैमाने पर डीजल की तस्करी का खेल चल रहा है। नेपाल सशस्त्र प्रहरी बल मोरंग एसपी तीर्थ पौडेल ने बताया कि सूचना मिली थी कि सीमावर्ती क्षेत्र के पेट्रोल पंप से डीजल को ट्रक में लोड कर भारत की तरफ तस्करी की जा रही है। सूचना के आधार पर सशस्त्र प्रहरी बल टंकी सिनवारी से पुलिस निरीक्षक के कमाण्ड में एक टीम को भेजा गया। इस टीम ने डीजल लोड कर रखे मिनी ट्रक को जब्त किया है।

पेट्रोल पंप संचालक की मिलीभगत से हो रही तस्करी

विज्ञापन

एसपी तीर्थ पौडेल ने बताया कि प्रथम अनुसंधान में पेट्रोल पम्प संचालक की मिलीभगत से तेल तस्करी की बात सामने आई है। पुलिस की गिरफ्त में आये मिनी ट्रक के चालक ने बताया कि नेपाल से डीजल की तस्करी कर भारत ले जा रहा था। रविवार को जब्त तेल व गाड़ी को रानी भंसार के सुपुर्द कर दिया गया।

यह भी देखें : अर्थव्यवस्था की ‘तेल निकालने’ में लगे हैं तेल के तस्कर

पकड़े गए पेट्रोल-डीजल लदे ट्रक के साथ नेपाल पुलिस।

इस्लामपुर के रास्ते हर रोज हजारों लीटर तेल की तस्करी

सूत्रों की मानें तो नेपाल से तस्करी कर लाये जाने वाले डीजल व पेट्रोल के लिये ग्रामीण रास्तों का प्रयोग कर भारत लाये जा रहे हैं। सैकड़ों साइकिल सवार ब्यक्ति छोटे-छोटे गैलन में रखकर कुछ ही मिनट में खुली सीमा को पार कर हजारों लीटर डीजल-पेट्रोल नेपाल से भारत पहुंचा देते हैं। जिसे जोगबनी थाना क्षेत्र अंतर्गत मीरगंज के समीप व सीमा से ही तय स्थानों पर स्टॉक कर रखा जाता है।

पेट्रोल-डीजल के साथ ही मादक पदार्थों की भी तस्करी

समाचार सूत्र बताते हैं कि सीमा के उस पार से इस पार तक पेट्रोल-डीजल सहित अन्य मादक पदार्थों की आवाजाही यहां आम बात हो गयी है। खेप पहुंचाने वाले शख्स को इस्लामपुर में रहे तस्कर गिरोह के मुखिया पूरी व्यवस्था मुहैया कराते हैं। इसके तहत सीमा के दोनों तरफ तैनात सुरक्षा कर्मियों की पूरी निगरानी की जाती है। जैसे ही सुरक्षा कर्मी दूर नजर आते हैं कि तस्कर को रोक दिया जाता है।

सूत्र बताते हैं कि स्थानीय होने के कारण तस्कर गिरोह के मुखिया सुरक्षाकर्मियों की नजर में नहीं चढ़ पाते। इस गिरोह के लोग इस्लामपुर, भेरयारी, सोनमणि गोदाम के रास्ते चाइनीज सेब, काली मिर्च आदि की तस्करी व्यापक पैमाने पर करते हैं, जिन पर कोई सख्त कार्रवाई होती नहीं दिखती।

यह भी पढ़ें : भारत से ले जा रहे पेट्रोलियम, नेपाल से तस्करी कर ला रहे गांजा की खेप

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT