Header 300×250 Mobile

मधुबनी नरसंहार : सीएम की सख्ती के बाद बदले पुलिस के तेवर

हत्यारों की संपत्ति की जा रही जब्त, थानेदार को किया गया सस्पेंड

- Sponsored -

352

- sponsored -

- Sponsored -

भाजपा विधायक पर लग रहे आरोपों के बीच वीडियो जारी कर देनी पड़ी सफाई

Voice4bihar news. मधुबनी जिले के बेनीपट्‌टी में ऐन होली के दिन खेली गयी ‘खून की होली’ के मामले में अब पुलिस का जमीर जग चुका है। मधुबनी नरसंहार व बेनीपट्‌टी नरसंहार के रुप में चर्चित इस मामले की पुलिस का यह तेवर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान के बाद बदला है। दो गुटों की रंजिश में हुई सीआरपीएफ जवान समेत परिवार के पांच सदस्यों की निर्मम हत्या के मामले में अब तक एकतरफा कार्रवाई के आरोप लग रहे थे। इसमें स्थानीय भाजपा विधायक पर पक्षपात के आरोप लग रहे थे, लेकिन मामले को जातीय व राजनीतिक तूल दिये जाने के बाद मुख्यमंत्री को इस मामले में हस्तक्षेप करना पड़ा।

सीएम ने कहा- हत्याकांड में सख्त एक्शन व स्पीडी ट्रायल होगा

बता दें कि सोमवार को जदयू कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत के क्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ लहजे में कहा कि मधुबनी के बेनीपट्टी के महमदपुर गांव में होली के दिन हुई आपराधिक घटना में दोषियों के खिलाफ तेजी से सख्त एक्शन और ट्रायल होगा। उन्होंने कहा कि घटना के बारे में सीएम की टिप्पणी आने में हुई देरी पर श्री कुमार ने कहा कि अकारण मेरी कोई प्रतिक्रिया नहीं होती है क्योंकि हम दिन भर काम करते हैं, यह लोगों को मालूम है। अगर क्राइम होता है तो उसे देखना पुलिस की जिम्मेवारी है।

उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस महानिदेशक से कम से कम पांच बार बात हुयी है और आज भी इस संदर्भ में दो बार बात हुई है। उन्होंने कहा कि क्राइम करने वाले को किसी भी स्थिति में नहीं छोड़ा जायेगा। कोई किसी की हत्या करके बच नहीं सकता है। मेरा डायरेक्शन रहता है कि कानून के मुताबिक जल्द से जल्द कार्रवाई करें। ऐसे लोगों के विरुद्ध तेजी से ट्रायल हो, इसके लिए प्रयास करना चाहिए।

मधुबनी नरसंहार कांड : एक्शन में आई मधुबनी पुलिस, आरोपितों का घर कुर्क

बेनीपट्टी के महमदपुर में हुई गोलीबारी व हत्याकांड के मुख्य आरोपित प्रवीण झा व नवीन झा के घर पुलिस ने दूसरे दिन भी कुर्की – जब्ती की कार्रवाई की । पुलिस ने आरोपितों के दलान के छप्पर को तोड़कर सारा सामान निकाल कर जब्त कर लिया। वहीं पक्के मकान के सारे खिड़की , चौखट व गेट को तोड़कर घर में रखा सारा सामान को जब्त कर ले गया। रविवार को जहां तीन – चार ट्रैक्टर सामान ले गया। वहीं दूसरे दिन भी कई वाहनों से सामान ले जाया गया।

यह भी पढ़ें : नवंबर में ही लिख दी गयी थी नरसंहार की पृष्ठभूमि

अपराधियों की अचल-संपत्तियों को भी करेंगे जब्त : डीएसपी

बेनीपट्टी नरसंहार के फरार आरोपितों के घरों की कुर्की कर न्यायालय के आदेश पर जल्द ही अचल संपत्तियों को भी जब्त करेंगे । पुलिस उपाधीक्षक अरुण कुमार सिंह ने कहा कि दस लोगों के घर कुर्की – जब्ती का आदेश मिला है। एक – दो दिनों में अन्य आरोपितों के घर के कुर्की – जब्ती का आदेश प्राप्त हो जाएगा। वहीं डीएसपी ने कहा कि कांड में अब तक दस लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। एक भी आरोपित नहीं बच सकेंगे। पांच – पांच पुलिस टीम संभावित जगहों पर रेड कर रही है। जहां से भी हल्की भी सूचना मिल रही है, वहां छापेमारी टीम पहुंच कर रेड कर रही है।

प्रवीण झा व नवीन झा पर हथियार बरामदगी मामले में होगी प्राथमिकी

विज्ञापन

महमदपुर गोलीबारी व हत्याकांड के मुख्य आरोपित प्रवीण झा व नवीन झा पर एक औरर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी । पुलिस जल्द ही आरोपितों के खिलाफ आर्स एक्ट के तहत एक ओर प्राथमिकी दर्ज करेगी । हालांकि , हथियार बरामदगी के मामले में किस किस को आरोपित किया जाएगा, ये अब तक जानकारी नहीं मिल सकी है , लेकिन हथियार बरामदगी के मामले में एफआईआर होगी।

बता दे कि कोर्ट के आदेश पर रविवार को भारी पुलिस फोर्स के साथ पुलिस गैवीपुर पहुंच कर फरार आरोपी प्रवीण झा व नवीन झा के घर कुर्की -जब्ती की कार्रवाई कर रही थी। इसी दौरान घर से एक हथियार बरामद हुआ । हथियार बरामदगी के साथ ही पुलिस ने उक्त हथियार को जब्त कर थाना ले आयी।

पुलिस इंस्पेक्टर सह निवर्तमान एसएचओ निलंबित, लाइन हाजिर किये गए

प्रेसवार्ता करते आईजी।

बेनीपट्टी नरसंहार में डीआईजी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बेनीपट्टी थाना के पुलिस इंस्पेक्टर सह निवर्तमान एसएचओ महेन्द्र कुमार सिंह को निलंबित कर लाइन हाजिर कर दिया है। एसपी डॉ सत्यप्रकाश ने निलंबन की पुष्टि करते हुए कहा कि जो भी पुलिस लापरवाही करेंगे, वे बख्शे नहीं जाएंगे । बता दें कि गत 29 मार्च को हुए महमदपुर में नरसंहार में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई।

वहीं एक अन्य मनोज सिंह इलाजरत है। अपराधियों ने उनके मुंह में निर्दयता के साथ गोली मार दी थी । मृतक के परिजनों ने बेनीपट्टी थाना के निवर्तमान एसएचओ महेन्द्र कुमार सिंह पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है । परिजनों का आरोप था कि पूर्व एसएचओ अपराधियों से मिलकर छठ पोखर में हुई मछली विवाद में एकतरफा कार्रवाई की थी। वैसे परिजनों व ग्रामीणों ने डीएसपी पर भी पक्षपात का आरोप लगाया था। अभी देखना होगा कि मधुबनी नरसंहार कांड में अब किस पर गाज गिरती है।

यह भी देखें : फरार आरोपितों की संपत्ति होगी जब्त : एसपी

आरोपों से घिरे भाजपा विधायक ने वीडियो जार कर दी सफाई

पूर्व मंत्री सह बेनीपट्टी विधायक सह विनोद नारायण झा पर इस कांड में एकतरफा पैरवी करने को लेकर लग रहे आरोपों के बीच विधायक का सफाई देने के लिए आगे आना पड़ा। एक वीडियो जारी कर विधायक ने कहा कि आरोपितों से कभी भी उनका संपर्क नहीं रहा है। जो लोग इस आड़ में राजनीति कर रहे हैं, उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। विधायक ने कहा कि अपराधियों को फांसी की सजा मिले, इसके लिए सभी को प्रयास करना होगा।

वीडियो के माध्यम से अपनी बात रखते विधायक विनोद नारायण झा।

श्री झा ने कहा कि ये मामला दरअसल हरलाखी विधानसभा के महमदपुर गांव का है जबकि वे बेनीपट्टी के विधायक हैं। अगर वे बेनीपट्टी में होते तो जरुर पीड़ित परिवार के पास जाते। फिलहाल, वे दिल्ली में हैं और आईसीयू में भर्ती दामाद का इलाज करा रहे हैं। गौरतलब है कि विधायक विनोद नारायण झा पर कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं कि एक जाति विशेष का होने के कारण हत्यारों की पैरवी कर रहे हैं। इस मामले को लेकर करणी सेना समेत शिवहर विधायक चेतन आनंद व अन्य संगठनों ने आवाज मुखर किया था। इसी के जवाब में पूर्व मंत्री को वीडियो जारी करना पड़ा।

यह भी पढ़ें : मुख्य आरोपी प्रवीण झा को विधायक विनोद नारायण झा का संरक्षण : तेजस्वी यादव

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored