Header 300×250 Mobile

लालू प्रसाद को रांची में मिली जमानत, नई दिल्ली से होगी रिहाई

दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में रांची हाईकोर्ट ने दी जमानत

- Sponsored -

330

- Sponsored -

- sponsored -

अदालत ने जमा कराया पासपोर्ट, नहीं कर सकेंगे विदेश यात्रा

Voice4bihar desk. चारा घोटाले के एक मामले में विगत तीन वर्षों से रांची के एक जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को शनिवार को जमानत मिल गयी। इस फैसले के बाद दिल्ली से लेकर पटना तक कार्यकर्ताओं में उत्साह छा गया, लेकिन उन्हें जश्न मनाने से मना कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद फिलहाल नई दिल्ली स्थित एम्स में इलाजरत हैं। कई बीमारियों से जूझ रहे लालू को पिछले दिनों रांची से एम्स रेफर किया गया था। ऐसे में बेल प्रक्रिया में थोड़ा विलंब हो सकता है। जानकारों ने बताया कि रांची हाईकोर्ट से जमानत के कागजात पहले रांची जेल भेजे जाएंगे। फिर जेल प्रशासन रीलिज ऑर्डर जारी करेगा। तभी उन्हें एम्स से छुट्‌टी मिलेगी।

झारखंड के दुमका कोषागार से अवैध निकासी को लेकर चारा घोटाले के एक मामले में लालू की जमानत पर शनिवार को रांची हाईकोर्ट में सुनवाई के बाद यह फैसला आया है। ऐसे में कुछ कानूनी प्रक्रियाओं के पालन के बाद आज लालू प्रसाद जेल से बाहर आ जायेंगे। हालांकि रांची हाईकोर्ट ने जमानत देते समय लालू प्रसाद के लिए कई शर्तें भी तय की हैं, जिनका पालन करना अनिवार्य होगा। वहीं लालू प्रसाद ने भाी अपने समर्थकों से जश्न नहीं मनाने की अपील की है।

अदालत ने शर्तों के साथ किया बेल ग्रांट

विज्ञापन

रांची हाईकोर्ट ने लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा है कि वे कोर्ट की अनुमति के बिना विदेश यात्रा नहीं कर सकेंगे। इसके तहत अदालत ने श्री प्रसाद का पासपोर्ट जमा करने का आदेश देते हुए यह भी कहा है कि जमानत के वक्त अदालत में सौंपे गए मोबाइल नंबर व पत्ता-ठिकाना वे नहीं बदलेंगे। यह जमानत उन्हें एक लाख रुपये के निजी मुचलके पर दी गयी है। इसके अलावा 10 लाख रुपये बतौर जुर्माना अदा करना होगा।

राजद कार्यकर्ताओं व लालू समर्थकों में छाई खुशी

पिछले दिनों विधानसभा व उसके बाहर हुए लाठीचार्ज में राजद नेताओं व कार्यकर्ताओं को मिले घाव पर राजद सुप्रीमो की जमानत ने मरहम का काम किया है। जमानत की खबर सुनते ही सोशल मीडिया पर खुशी का इजहार करने वालों का तांता लग गया। हालांकि उन्हें कोरोना गाइडलाइंस के कारण सार्वजनिक रुप से जश्न मनाने से रोक दिया गया है। पटना स्थित राजद मुख्यालय को अगले आदेश तक के लिए पहले ही बंद किया जा चुका है, ऐसे में पार्टी मुख्यालय में नेताओं का जुटान नहीं होगा। अपने आवास पर भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव विगत कई दिनों से मुलाक़ातियों से नहीं मिल रहे हैं।

राजद की अपील- अपने घरों में ही रहें कार्यकर्ता

राजद सुप्रीमो की जमानत के बाद जश्न मनाने को आतुर पार्टी समर्थकों के जोश पर पानी फिर गया है। इसके लिए पार्टी ने बकायदा कोरोना संक्रमण को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है। पार्टी की तरफ से अपील की गयी है कि सभी शुभचिंतकों, समर्थकों और कार्यकर्ताओं से विनम्र आग्रह किया जाता है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सभी अपने घरों में ही रहें। किसी प्रकार का जश्न नहीं मनाएं। आपसे विशेष आग्रह है कि पटना स्थित आवास पर आने का कष्ट नहीं करें। ज्ञात हो कि पिछले दिनों विधानसभा चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजों के आधार पर बधाई देने वालों का तांता तेजस्वी के आवास पर लग गया था, जिसके कारण अफरातफरी की स्थिति हो गयी थी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT