Header 300×250 Mobile

जातीय जनगणना के मुद्दे पर जदयू के एक सुर, राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने भी पार्टी के रूख का समर्थन किया

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के बाद ललन सिंह ने भी उठाई मांग

- Sponsored -

633

- sponsored -

- Sponsored -

नवनियुक्त जदयू अध्यक्ष ने कहा- अगले वर्ष होने वाले 7 राज्यों के चुनाव में उतारेंगे उम्मीदवार

एनडीए के साथ रहकर उतारेंगे उम्मीदवार, बात नहीं बनी तो अकेले ही उतरेंगे चुनाव मैदान में

पटना/लखीसराय (voice4bihar news)। जातीय जनगणना के मुद्दे पर जदयू के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने पार्टी के रुख का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि जातीय जनगणना होनी चाहिए इससे पता चल सकेगा कि किस जाति के लोगों की कितनी संख्या क्या है। इस आधार पर उनके विकास के कार्य किये जा सकेंगे। इसके साथ ही जदयू के सभी बड़े नेताओं ने इस मुद्दे पर अपना रुख साफ कर दिया है, जबकि भाजपा में इस मुद्दे पर मतभिन्नता देखी जा रही है।

केंद्र सरकार ने मांग ठुकराई तो बिहार में जातीय जनगणना का विकल्प खुला 

यहां बता दें कि इन दिनों बिहार में जातीय जनगणना का मुद्दा गरमाया हुआ है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केंद्र से जातीय जनगणना कराने की मांग करने के साथ यह भी कह चुके हैं कि अगर केंद्र उनकी मांग नहीं मानता है तो राज्य के पास विकल्प खुला है। बिहार में केवल भाजपा जनगणना की पक्षधर नहीं है। भाजपा को छोड़ दें तो इस मुद्दे पर जदयू और राजद के सुर एक हैं।

एनडीए की सहयोगी पार्टी हम के मुखिया जीतन राम मांझी ने भी नीतीश कुमार का साथ देने का वादा किया है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव राजद के बड़े नेताओं के साथ इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी सौंप चुके हैं। इधर, जदयू के सांसद राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह से इस मुद्दे पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित साह से मुलाकात कर अपनी मांग रख चुके हैं।

विज्ञापन

संबंधित खबर : जातीय जनगणना के मुद्दे पर जदयू नेता हुए मुखर, नीतीश कुमार व उपेंद्र कुशवाहा ने पुरजोर मांग उठाई

समता पार्टी के पुराने साथियों से ललन सिंह की अपील, जदयू में आएं सभी लोग

जदयू के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अगले साल उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी अपनी राय रखी है। उन्होंने कहा है कि जदयू एनडीए के तहत इन राज्यों में चुनाव लड़ेगा। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि अगर एनडीए से बात नहीं बनी तो जदयू अपने दम पर पांचों राज्यों में चुनाव लड़ेगा। उल्लेखनीय है कि संगठन की कमान संभालने के साथ ही ललन सिंह पूरी तरह एक्टिव हो गये हैं। उन्होंने समता पार्टी काल के तमाम लोगों को जदयू से जुड़ने की अपील की है।

समता पार्टी के पुराने साथियों को जदयू में आने की अपील करते पार्टी अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह।

सोशल मीडिया पर जारी कर ललन सिंह ने कहा है कि समता पार्टी के गठन काल के किसी कारण से भूले – बिछड़े व असक्रिय साथियों से निवेदन करता हूं कि बिहार व देश के लिए आवश्यक जनहितकारी मुद्दों के साथ सक्रिय होकर जनता दल (यूनाईटेड) से जुड़ जायें। आपके बहुमूल्य विचारों व सुझावों का सम्मान होगा। उन्होंने देश के युवाओं से भी न्याय के साथ विकास करने वाली पार्टी जदयू से जुड़ने की अपील की है।

यह भी देखें : बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने OBC की हकमारी पर संसद में रखी अपनी बात

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT