Header 300×250 Mobile

ललन सिंह उर्फ लल्लू मर्डर केस में कक्कू खान गिरफ्तार

वर्ष 2012 में हुई थी तथाकथित ठेकेदार ललन सिंह उर्फ लल्लू की हत्या

- Sponsored -

814

- sponsored -

- Sponsored -

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। वर्ष 2012 में एनटीपीसी के तथाकथित ठेकेदार ललन सिंह उर्फ लल्लू मर्डर केस मामले में 10 साल के बाद और रोहतास जिले के बहुचर्चित कांग्रेसी नेता जाहिद परवेज उर्फ कक्कू खान को रोहतास पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसकी पुष्टि करते हुए रोहतास पुलिस कप्तान आशीष भारती ने डेहरी ऑन सोन स्थित अपने कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान मीडिया से मुखातिब होकर पूरे मामले की जानकारी साझा की है।

रोहतास पुलिस कप्तान के मुताबिक लल्लू मर्डर केस के आरोपी कक्कू खान के विरुद्ध डेहरी नगर थाना कांड संख्या 312/12 के मामले में स्थाई वारंट जारी था। रोहतास पुलिस तब हरकत में आई जब दिल्ली-एनसीआर इलाके में कक्कू खान की सक्रियता की सूचना मिली। पुलिस ने अपना जाल दिखाते हुए तकनीकी अनुसंधान के आधार पर कक्कू की गिरफ्तारी में सफलता पाई है। पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक हरियाणा स्थित सूरजकुंड इलाके से पप्पू खान की गिरफ्तारी करने में रोहतास पुलिस सफल हुई है।

रोहतास पुलिस की गिरफ्त में कक्कू खान तथा मीडिया को जानकारी देते एसपी आशीष भारती।

विज्ञापन

बताते चलें कि जाहिद परवेज उर्फ कक्कू खान पुराना कांग्रेसी नेता है, जो पूर्व में डेहरी विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर चुनाव वर्ष 2010 में लड़ चुका है। पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक दिल्ली एनसीआर में रियल एस्टेट से जुड़कर राजनीतिक तौर पर बड़ी सक्रियता के साथ जीवन व्यतीत करने वाले कक्कू खान बालू घाट संचालन करने वाले अपने संबंधियों के सहयोग और संपर्क में था। जानकारी के मुताबिक नासरीगंज के बहुचर्चित बालू व्यवसायी कक्कू खान के करीबी रिश्तेदार हैं।

आपसी विवाद में हुई थी लल्लू की हत्या

रोहतास पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक लल्लन सिंह उर्फ लल्लू की हत्या लेनदेन को लेकर उपजे विवाद के कारण हुई थी। मूलत: पटना जिले के मूल निवासी लल्लू की हत्या उन दिनों हुई थी, जब पुलिस कप्तान के तौर पर रोहतास जिले की कमान आईपीएस मनु महाराज के हाथ में थी। उनके नेतृत्व में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी कक्कू खान के डेहरी सुभाष नगर स्थित आलीशान मकान की कुर्की जब्ती कराई थी। तब से हीं कक्कू फरार चल रहा था।

इस कांड में कक्कू खान सहित मंटू चौधरी मिट्ठू चौधरी अरुण चौबे और संदीप यादव को नामजद अभियुक्त बनाया गया था। इस मामले में अरुण चौबे और संदीप यादव अभी तक फरार है। गिरफ्तारी के तौर पर कक्कू खान की गिरफ्तारी तीसरे अभियुक्त के तौर पर हुई है। बतौर पुलिस कप्तान आशीष भारती ने बताया कि कांग्रेसी नेता जाहिद परवेज उर्फ कक्कू खान के विरुद्ध पटना और डेहरी में अन्य अपराधिक मामले भी दर्ज हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT