Header 300×250 Mobile

बिहार में दो नाबालिग बच्चियों से गैंगरेप, छह नाबालिग बच्चों ने किया कुकर्म

दुष्कर्म करने के पहले सभी बच्चों ने मोबाइल पर देखा था अश्लील वीडियो

- Sponsored -

315

- sponsored -

- Sponsored -

साग तोड़ने गयी थीं बच्चियां, हाथ में चिल्लर थमाकर मुंह बंद रखने को कहा

पीड़ित बच्चियों की दादी ने दर्ज कराई एफआईआर, दो आरोपी हुए गिरफ्तार

शेखपुरा (voice4bihar news)। बिहार के शेखपुरा जिला अंतर्गत एक गांव में दो नाबालिग बच्चियों से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है, जहां छह नाबालिग लड़कों ने गांव के बधार में साग तोड़ रही दो नाबालिग बच्चियों के साथ कुकर्म को अंजाम दिया। मुंह बंद रखने के लिए इन बच्चियों की हथेली पर कुछ चिल्लर पैसे रख दिये थे। इस शर्मनाक वारदात का खुलासा तब हुआ जब अबोध बच्चियों ने घर जाकर अपनी दादी को पूरी बात बताई। यह वारदात जिले के बरबीघा थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई।

विज्ञापन

इस घटना की सूचना मिलने के बाद एक्शन में आई बरबीघा थाना पुलिस ने गांव में छापेमारी कर घटना में शामिल दो बालकों को पकड़ कर थाना ले आई। जबकि घटना के बाद चार बालक फरार हो गये हैं। घटना के संबंध में एक पीड़िता की दादी ने बरबीघा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। बरबीघा थाना अध्यक्ष सह पुलिस निरीक्षक ने बताया कि इस केस में अभियुक्त बनाए गए सभी छह बालकों ने इस वारदात से पहले मोबाइल पर अश्लील वीडियो देखा था। फिर गांव के बघार में सोमवार को साग तोड़ रही दो बालिकाओं को पकड़कर उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया।

थानेदार ने बताया कि घटना में शामिल सभी बालकों की उम्र 10 से 12 वर्ष के बीच है। जबकि रेप पीड़ित बच्चियां भी आठ से 10 साल की हैं। पुलिस निरीक्षक ने बताया कि घटना के संबंध में सोमवार की देर शाम को पीड़िता की दादी ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। दोनों पीड़ित बच्चियों को मेडिकल जांच कराने के लिए शेखपुरा भेजा गया है। जबकि पकड़े गए दोनों आरोपी बालकों को कोर्ट में प्रस्तुत किया जा रहा है।

सूत्रों ने बताया कि रेपकांड में शामिल सभी आरोपितों ने शातिराना अंदाज में घटना को अंजाम दिया। दुष्कर्म किए जाने के बाद जब दोनों नाबालिग लड़कियां रोने लगीं तो लड़कों ने एक लड़की के हाथ में 3 रुपये पकड़े दिये। वहीं दूसरी नाबालिग बच्ची को 5 रुपये थमा दिये। साथ ही हिदायत दी कि इस संबंध में किसी को कुछ मत बताना। थाने में शिकायत करने आई पीड़िता की दादी ने बताया कि मेरी पोती जब घर आई तो वह रो रही थी। उसके बाद जब जोर देकर पूछा तो पूरी बात बताई।

थाने में केस दर्ज होने के बाद इस घटना की खबर आसपास के गांवों में आग की तरह फैल गई। इसके साथ ही नाबालिग बच्चों की शर्मनाक हरकत और समाज में आ रही नैतिक गिरावट पर भी चर्चा होती रही। मोबाइल पर अश्लील वीडियो देखने के बाद इसे हकीकत में अंजाम देने वाले बच्चों के आपराधिक व्यवहार और उनके भविष्य को लेकर भी लोगों की चिंताएं देखने को मिलीं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored