Header 300×250 Mobile

अपराधियों की जड़ खोदने में जुटी रोहतास पुलिस, फर्जी सिम कार्ड विक्रेता को दबोचा

सिम कार्ड खरीदने आए ग्राहकों के पहचान पत्र पर खरीदे कई सिम कार्ड

- Sponsored -

170

- sponsored -

- Sponsored -

अपराधियों व आसामाजिक तत्वों को महंगा दाम पर बेचा मोबाइल का सिम

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (Voice4bihar news)। रोहतास जिले में चोरी, लूट, छिनैती व हत्या के मामले में अपराधियों की ताबड़तोड़ गिरफ्तारी के बाद पुलिस अब अपराध और अपराधियों की जड़ें खोजने में लगी है। हाल के दिनों में पुलिस ने लुटेरों के पास से एक हॉटस्पॉट मशीन जब्त की थी। हॉटस्पॉट मशीन की जब्ती के बाद यह तय हो गया था कि अपराधी सिम का प्रयोग कॉल करने के लिए नहीं करते, बल्कि व्हाट्सएप चैटिंग और व्हाट्सएप कॉलिंग के लिए प्रयोग में आने वाले इंटरनेट डाटा को कम्युनिकेशन का आधार बनाते हैं। इसी कड़ी में पुलिस ने जिले के डालमियानगर से फर्जी सिम कार्ड बेचने के आरोप में एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया।

ज्वेलरी दुकान में हुई चोरी के बाद बरामद मोबाइल ने किया बड़ा खुलासा

पूरे मामले की जानकारी देने के लिए पुलिस कप्तान आशीष भारती ने गुरुवार की शाम पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेस वार्ता की। एसपी ने बताया कि बीते 13 फरवरी को राजपुर में बाजार के ज्वेलरी दुकान में अज्ञात चोरों द्वारा चोरी की घटना घटित होने के बाद पुलिसिया अनुसंधान में घटनास्थल से एक मोबाइल बरामद किया गया था। बरामद मोबाइल में सिम और बैटरी नहीं था।

विज्ञापन

घटनास्थल से बरामद मोबाइल की तकनीकी जांच की गयी तो घटना के पूर्व मोबाइल में प्रयोग किए गए सिम कार्ड के डिटेल्स मिले। इसके बाद पुलिस ने जब सिम कार्ड के लिए प्रयुक्त कागजात के आधार पर मोबाइल नंबर के धारकों से पूछताछ शुरू की तो अपराध से जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली। पुलिसिया पूछताछ में वैसे लोगों ने मोबाइल नंबर के प्रयोग पर अनभिज्ञता जताई।

इसी दौरान एक शख्स ने पुलिस के समक्ष खुलासा किया कि स्वयं के लिए सिम कार्ड खरीदने के लिए डालमियानगर के न्यू सिधौली स्थित राज कम्युनिकेशन मोबाइल दुकान पर दस्तावेज समर्पित किया था। मोबाइल दुकानदार द्वारा फोटो युक्त पहचान पत्र का दुरुपयोग करते हुए सिम कार्ड निकासी में फर्जीवाड़ा किए जाने की आशंका इन लोगों ने जताई। स्थानीय थानाध्यक्ष ने राज कम्युनिकेशन मोबाइल दुकान पर जांच-पड़ताल के दौरान दुकान मालिक राज कुमार से कड़ाई से पूछताछ की। इस दौरान पूरे मामले से पर्दा उठा, जो चौंकाने वाला निकला।

ग्राहकों के आईडी पर एक की बजाय दो सिम एक्टिवेट करता था दुकानदार

इस खुलासे के मुताबिक सिम कार्ड लेने आए ग्राहकों के फोटो युक्त पहचान पत्र का प्रयोग करते हुए ग्राहकों की मौजूदगी में एक की बजाय दो सिम एक्टिव करने का खुलासा दुकानदार ने किया है। इतना ही नहीं, एक सिम ग्राहकों को देकर दूसरे सिम कार्ड को ऊंचे दामों पर बेचने की बात स्वीकार की है। ज्यादा पैसे कमाने के लालच में दुकानदार ने वैसे लोगों को भी सिम बेच दिया जो अपराधी किस्म के हैं, या अपनी पहचान छुपाकर गलत कार्य करते हैं।

पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक डालमियानगर स्थित राज कम्युनिकेशन मोबाइल के मालिक राज कुमार ने कई आसामाजिक तत्वों को सिम उपलब्ध कराये हैं। पिछले दिनों ज्वेलरी दुकान में चोरी करने वाले अपराधियों को ₹900 में सिम कार्ड बेचे जाने की पुष्टि भी जांच में हो चुकी है। ज्वेलरी दुकान में हुई चोरी की घटना में इस दुकानदार द्वारा बेचे गए फर्जी सिम का प्रयोग किया गया है। गिरफ्तार दुकानदार सुरेंद्र गुप्ता के पुत्र राजकुमार गुप्ता को पुलिस ने जेल भेज दिया है। पुलिस पिछले एक महीने के अंदर गिरफ्तार अपराधियों के पास बरामद मोबाइल और उनके व्हाट्सएप और कॉल डिटेल्स को खंगालने में जुटी है। निकट भविष्य में बड़े खुलासे होने के संकेत भी पुलिस विभाग के अधिकारियों ने दिए हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored