Header 300×250 Mobile

ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी में निजी अस्पताल का डायरेक्टर धराया

मुजफ्फरपुर के जिला पार्षद का बेटा है निजी अस्पताल का डायरेक्टर डॉ. अबुल वफा, दो और दबोचे गये

- Sponsored -

414

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी करने के आरोप में निजी अस्पताल के डायरेक्टर सहित तीन लोगों को ईओयू (आर्थिक अपराध इकाई) की टीम ने शास्त्रीनगर के शकूर कॉलोनी से गिरफ्तार किया है। इन पर कोरोना महामारी के दौरान एक ऑक्सीजन सिलेंडर 50000 रुपये तक में बेचने का आरोप है।

पुलिस गिरफ्त में डॉ. अबुल वफा।

विज्ञापन

जानकारी के मुताबिक, ईओयू की टीम को सूचना मिली कि शकूर कॉलोनी में रहने वाला डॉ. अबुल वफा ऑक्सीजन गैस सिलेंडर की कालाबाजारी कर रहा है। ईओयू के डीएसपी रजनीश कुमार और भास्कर ने टीम का गठन कर डॉ. अबुल वफा के ठिकानों पर छापेमारी कर उसे धर दबोचा। उसके पिता मो. लाल बाबू मुजफ्फरपुर जिले के कटरा 42 के जिला पार्षद हैं जबकि खुद डॉ. वफा शास्त्रीनगर इलाके में यूनिक हॉस्पिटल के नाम से संचालित निजी अस्पताल का डायरेक्टर है।

 

डॉ. अबुल वफा का विजिटिंग कार्ड।

आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने पूछताछ के बाद उसकी निशानदेही पर इस कालाबाजारी में सहयोग करने वाले उसके दो और सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए सहयोगियों में धनरुआ के सांडा गांव का निवासी धूपेंद्र कुमार और किशनगंज का रहने वाला राजू कुमार शामिल है। धूपेंद्र कुमार फिलहाल कुम्हरार में रह रहा था जबकि राजू पटना सिटी में। इओयू की टीम ने जब अबुल वफा के घर की तलाशी ली तो उसके पास से सात बड़े और दो छोटे ऑक्सीजन गैस सिलेंडर सहित कई रेगुलेटर, एक मोटरसाइकिल और एक पियाजियो मालवाहक वाहन बरामद किया गया। इस संबंध में शास्त्रीनगर थाने में केस दर्ज कराया गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT