Header 300×250 Mobile

पत्नी ने ही प्रेमी से साथ मिलकर कराई पति की हत्या, पुलिस ने 8 को दबोचा

प्रेमिका के चक्कर में सहयोगियों के साथ हवालात पहुंचा युवक

- Sponsored -

1,243

- sponsored -

- Sponsored -

चेनारी थाना क्षेत्र के सबराबाद में हुई थी सिकंदर कुमार की हत्या

वारदात के 24 घंटे के भीतर पुलिस ने किया मामले का उद्भेदन

  • रोहतास से अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। पुरानी कहावत है– ”पर नारी, पैनी छुरी तीन तरफ से खाए.. धन हरे यौवन हरे, घोर नरक ले जाए”। ऐसा ही एक मामला रोहतास जिले में उजागर हुआ है। जहां प्रेमिका के चक्कर में एक युवक को अपने मित्रों समेत हत्या के मामले में जेल भेजा गया है। चेनारी थाना क्षेत्र के सबराबाद में सिकंदर कुमार की हत्या ने जितनी सनसनी फैलाई थी, उससे अधिक सनसनी तब फैली जब रोहतास पुलिस ने खुलासा किया कि हत्या अनैतिक संबंधों को लेकर हुई है और वारदात का पूरी षड्यंत्र मृतक की पत्नी मंजू देवी ने ही रचा था।

क्या है पूरा मामला

कोलकाता-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर 2 नवंबर की देर शाम रोहतास के चेनारी थाना क्षेत्र अंतर्गत सबराबाद में अपराधियों ने शिवसागर थाना क्षेत्र के पहाड़पुर गांव निवासी सिकंदर यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी मंजू देवी सहित उसके प्रेमी अशोक सिंह के अलावे भूलन यादव, पंकज सिंह, मंटू कुमार, संदीप कुमार उर्फ आकाश राकेश राय को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

हत्या शिवसागर थाना क्षेत्र के सीमावर्ती चेनारी थाना क्षेत्र के सबराबाद में की गई थी। मृतक के गांव पहाड़पुर और सबराबाद की दूरी महज 10 किलोमीटर बताई जा रही है और दोनों के बीच पखनारी गांव में मृतक की पत्नी मंजू देवी का मायका है। पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक सिकंदर यादव की हत्या सुपारी देकर कराई गई है। सुपारी के रूप में दी गई एडवांस राशि को पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त हथियार सहित बरामद कर लिया है।

हत्या के बाद जांच में जुटी पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही हत्या का उद्भेदन करते हुए मृतक की पत्नी एक नाबालिक सहित आठ 8 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही साथ हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार एवं वाहन को भी बरामद कर लिया गया। सभी गिरफ्तार अपराधियों ने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है। हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद रोहतास एसपी आशीष भारती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी।

विज्ञापन

हत्या में प्रयुक्त हथियार व अन्य सामान।

गांव के ही एक शख्स के साथ चार वर्षों से चल रहा था अनैतिक संबंध

मृतक सिकंदर यादव की पत्नी मंजू देवी और गिरफ्तार प्रेमी अशोक यादव के बीच विगत 4 वर्षों का प्रेम प्रसंग ही सिकंदर की हत्या का कारण बना। पत्नी ने अशोक सिंह के साथ मिलकर अपने पति को रास्ते से हटाने के लिए षड्यंत्र रचा, जिसमें गांव के ही कुछ लोगों का सहारा लिया गया। उन्होंने बताया कि गांव के ही लोग सिकंदर सिंह को ऑटो में बैठाकर अशोक सिंह के बताए गए ठिकाने पर ले गए जहां पर उसको गोली मार दी गई। इसके बाद डेड बॉडी को उसी टेम्पो में लादकर अस्पताल पहुंचा दिया गया था।

गिरफ्तार अपराधियों में मृतक सिकंदर सिंह की पत्नी मंजू देवी, विगन यादव का पुत्र भूलन यादव, भुनेश्वर सिंह उर्फ कन्हैया सिंह के पुत्र पंकज सिंह (सभी पहाड़पुर निवासी) के अलावा खंडवा गांव निवासी कैलेन्द्र प्रसाद के पुत्र मंटू कुमार, रोजही गांव निवासी प्रभु पासवान के पुत्र संदीप कुमार उर्फ आकाश, सरैया गांव निवासी राम प्रसाद सिंह के पुत्र अशोक सिंह, सबराबाद निवासी दिनेश्वर राय के पुत्र राकेश राय सहित एक नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से 1 देसी कट्टा, 1 जिंदा कारतूस, 2 मोटरसाइकिल, 1 टेम्पो व 7 मोबाइल फोन बरामद हुए। इसके अलावा हत्या की सुपारी के तौर पर दी गयी रकम में से 22,000 रुपये नकद भी बरामद हुए हैं।

हत्या के साथ ही इलाके में फैली प्रेम प्रसंग की चर्चा

2 नवंबर की शाम गांव के ही एक नाबालिग युवक के साथ घर से निकले सिकंदर यादव की गोली मारकर हत्या किए जाने के बाद डेड बॉडी को एक ऑटो से अस्पताल ले जाने और वहां छोड़कर भाग जाने का जिक्र करते हुए मृतक के पिता मुंशी यादव ने नाबालिग युवक का नाम लेकर बयान दिया था। इसके साथ ही इलाके में मृतक की पत्नी और चेनारी थाना क्षेत्र के सरैया गांव निवासी व्यक्ति के साथ प्रेम प्रसंग की चर्चा पूरे इलाके में आम हो चुकी थी। मृतक की पत्नी के प्रेम प्रसंग की चर्चा की भनक पाते ही पुलिस हरकत में आ गयी और मृतक की पत्नी सहित प्रेमी को हिरासत में ले लिया। कड़ी पूछताछ के बाद सिकंदर यादव की हत्याकांड का पर्दाफाश करने में पुलिस सफल रही।

हत्याकांड का उद्भेन करने वाले पुलिसकर्मियों का उत्साह बढ़ाते पुलिस कप्तान आशीष भारती।

पुलिस कप्तान ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस पुरस्कृत होगी टीम

सिकंदर यादव हत्याकांड मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए मामले का उद्भेदन पुलिस ने कर लिया है। हालांकि हत्याकांड को लेकर दर्ज प्राथमिकी संख्या 328/22 में 5 लोगों को नामजद बनाया गया था। पुलिस ने मृतक की पत्नी समेत 7 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजने सहित एक नाबालिक युवक को निरुद्ध किया है। थानाध्यक्ष निर्मल कुमार के अलावे शिवसागर थानाध्यक्ष सुशांत कुमार मंडल, सब इंस्पेक्टर सुरेंद्र बैठा, नेहा कुमारी, मुकेश कुमार के अलावे सिपाही शंभू नाथ यादव, सरोज कुमार और शाहिद खान को पुरस्कृत किए जाने की घोषणा पुलिस कप्तान आशीष भारती ने की है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT