Header 300×250 Mobile

लॉकडाउन के दौरान गीत गाकर सुर्खियां बटोरने वाला दारोगा दिलीप कुमार निराला घूसखोरी में सस्पेंड

मकान पर कब्जा दिलाने के एवज में 26.5 हजार रुपये रिश्वत लेने का लगा आरोप

- Sponsored -

666

- Sponsored -

- sponsored -

लॉकडाउन-2 में गीतों के जरिये जागरूकता फैला रहे थे दारोगा दिलीप कुमार निराला

महीनों पहले मिली ख्याति के बाद लगा बदनुमा दाग, गिरफ्तारी के डर से चल रहे फरार

आरा ( एसएनबी ) । देश में कोरोना की दूसरी लहर को लेकर हुए लॉकडाउन के दौरान सड़क पर घूम-घूमकर गीत गाकर चर्चा में आये दारोगा दिलीप कुमार निराला एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं। लेकिन इस बार दिलीप कुमार निराला किसी ख्याति की वजह से नहीं बल्कि रिश्वतखोरी के कारण चर्चा में आए हैं। घूस लेने के आरोप में दारोगा पर सिर्फ एफआईआर दर्ज की गयी है, बल्कि उन्हें सस्पेंड भी कर दिया गया है। फिलहाल वे गिरफ्तारी के डर से फरार चल रहे हैं।

“आदमी मुसाफिर है, आता और जाता है, आते-जाते रास्ते पर यादें छोड़ जाता है…।” तथा “जिंदगी इम्तेहान लेती है…” जैसे बॉलीवुड के गाने गाते इस दारोगा को खूब सराहना मिली थी। हाथ में माइक लेकर लोगों को लॉकडाउन का पालन करने की नसीहत देने और बीच-बीच में अपने स्वर में वॉलीवुड के गीत गाने के अंदाज को खूब पसंद किया गया था। इसके साथ ही दिलीप की छवि सुपरकॉर्प के रूप में गढ़ी गयी थी, लेकिन अब एक बदनुमा दाग ने दारोगा को फरार होने पर विवश कर दिया है।

एफआईआर के बाद निलंबन, फिर विभागीय कार्रवाई

इस मामले में पहले दारोगा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी। उसके बाद सस्पेंड करते हुये विभागीय कार्रवाई भी शुरू कर दी गयी। फिलहाल, भोजपुर जिले के जगदीशपुर थाने में पोस्टेड दारोगा दिलीप कुमार निराला पर दबंगों से मकान खाली कराने के नाम पर साढ़े 26 हजार रुपये घूस लेने का आरोप लगा है। इसे लेकर आरा शहर के शिवगंज निवासी विश्वनाथ प्रसाद द्वारा नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। दारोगा डीके निराला हाल तक आरा नगर थाने में ही पोस्टेड थे।

विज्ञापन

एसपी ने कहा- भ्रष्ट आचरण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं

दूसरी ओर घूसखोरी का मामला सामने आने के बाद से ही दारोगा फरार चल रहे हैं। पुलिस की टीम दारोगा की खोज में लगी है। भोजपुर के पुलिस कप्तान विनय तिवारी ने बताया कि दारोगा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। एसडीपीओ हिमांशु केस की जांच कर रहे हैं। उनकी रिपोर्ट के आधार पर दारोगा के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। दारोगा को सस्पेंड कर दिया गया है और विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गयी है। एसपी ने कहा कि भ्रष्ट आचरण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

मकान खुलवाने के एवज में 26 हजार रुपये वसूलने का आरोप

दारोगा दिलीप कुमार निराला पर आरोप लगाने वाले शिवगंज निवासी विश्वनाथ प्रसाद की ओर से दर्ज प्राथमिकी में कई संगीन आरोप लगाए गए हैं। विश्वनाथ प्रसाद का आरोप है कि उनकी एक बेटी सुनीता देवी ने शिवगंज में पूर्व में एक मकान खरीदा है। मकान के पड़ोस में रहने वाले अर्जुन प्रसाद और दिलीप प्रसाद उस मकान का दरवाजा खोलने नहीं दे रहे थे।

घूसखोरी का वीडियो बनाने पर छीन लिया था मोबाइल फोन

तब विश्वनाथ प्रसाद ने नगर थाने में पोस्टेड दारोगा दिलीप कुमार निराला से इसकी शिकायत की थी। इस पर दारोगा ने कहा था कि मकान खुलवा देंगे, लेकिन खर्च करना पड़ेगा। खर्च के नाम पर 20 जुलाई को आर्य समाज मंदिर के पीछे दारोगा डीके निराला को साढ़े 26 हजार रुपये दिये गये थे । तब विश्वनाथ प्रसाद के बेटे ने रिश्वत देने का वीडियो बना लिया था। इस पर दारोगा आग बबूला हो गये और उनके बेटे का 15 हजार का मोबाइल छीन लिया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored