Header 300×250 Mobile

हल्की आंधी में ही धराशायी हुआ नव निर्मित टोल प्लाजा का शेड

शनिवार की दोपहर आई आंधी में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया टोल प्लाजा

- Sponsored -

294

- Sponsored -

- sponsored -

डेहरी-यदुनाथपुर रोड पर केरपा में टोल प्लाजा बनाने में लगे थे करोड़ों रुपए

सासाराम (voice4bihar news) । रोहतास जिले के डेहरी ऑन सोन को यदुनाथपुर से जोड़ने वाली सड़क पर शनिवार को हल्की आंधी व बारिश के बीच टोल प्लाजा का शेड धराशायी हो गया। करोड़ों रुपए की लागत से नवनिर्मित टोल प्लाजा पर लोहे के स्ट्रक्चर वाला शेड गिरने के बावजूद किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। दुर्घटना के वक्त शेड के नीचे कोई शख्स या वाहन नहीं था, जिसके कारण एक बड़ा हादसा टल गया।

दरअसल रोहतास जिले के तिलौथू प्रखंड क्षेत्र के कई इलाकों में हल्की आंधी के साथ बूंदाबांदी हुई । इससे कई जगह लगे होर्डिंग और पोस्टर पूरी तरह से फट गये, लेकिन सबसे ज्यादा तबाही तिलौथू एवं रामडिहरा स्टेशन के बीच स्थित केरपा टोल प्लाजा के शेड को हुआ है। यह छत इस आंधी में पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है। गनीमत यह रही कि यह टोल प्लाजा का छत लॉकडाउन के समय में ही गिरा। अन्यथा जिस तरह से इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहन चलते हैं या वहां लोगों की मौजूदगी रहती है, उस हिसाब से यहां बहुत बड़ी जान माल की क्षति हो सकती थी।  इस दौरान किसी वाहन को  और न ही किसी  व्यक्ति को कोई  नुकसान नहीं हुआ।

विज्ञापन

पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए टोल प्लाजा की एस्बेस्टस वाली छत को देखकर लोग इसकी गुणवत्ता पर सवाल खड़े कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से गाड़ियां कम चल रही है, ऐसे में  यह हादसा हुआ तो लोगों की जान बच गई है। अगर यह टोल प्लाजा चालू रहता और उस दौरान यह हादसा होता तो आज यहां कई लाशें बिछी  होती। इतनी तेज हवा भी नहीं चल रही थी फिर भी टोल प्लाजा का शेड धड़ाम से गिर गया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बेहद तेज आवाज के साथ लोहे के स्ट्रक्चर व एस्बेस्टस वाला टोल प्लाजा का शेड नीचे की ओर गिरा ।उस वक्त नीचे से कोई गाड़ी पार नहीं हो रही थी। जिसकी वजह से बड़ा हादसा होने से बच गया। अब सवाल उठता है कि ढंग से अभी शुरू भी नहीं हुआ यह टोल प्लाजा और इतनी जल्दी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया ।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored