Header 300×250 Mobile

पटना के अस्पताल में कथित रेप की शिकार महिला ने दम तोड़ा

कोरोना पीड़ित 45 वर्षीय महिला की बेटी ने लगाया था ICU में रेप का आरोप

- Sponsored -

438

- Sponsored -

- sponsored -

महिला की हालत बिगड़ने पर वेंटिलेटर पर रखा गया था, बुधवार को मौत

पटना (voice4bihar news)। राजधानी पटना के जगदेव पथ के पास स्थित एक बड़े निजी अस्पताल में कथित रेप की शिकार महिला ने आखिरकार बुधवार को दम तोड़ दिया। सोमवार को कोरोना पीड़ित 45 वर्षीया महिला से रेप का आरोप खुद उनकी बेटी ने लगाया था और इस संबंध में एक वीडियो भी बनाया था। अस्पताल के आईसीयू में एडमिट महिला के पैर बंधे होने की बात उनकी बेटी ने कही थी। पीड़ित महिला के बयान का वीडियो बनाकर बेटी ने फेसबुक पर भी डाला था। जिसके बाद खूब बवाल मचा और पुलिस ने तत्परता से इसकी जांच की थी।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कोरोना पीड़ित महिला की हालत बिगड़ने के बाद उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था। बुधवार को महिला की मौत से प्रशासन समेत पूरे अस्पताल परिसर में खलबली मच गयी। अस्पताल के सभी स्टॉफ जहां के तहां दुबक गए। किसी को भी इमरजेंसी वार्ड की तरफ आने से मना कर दिया गया। इस बीच शास्त्रीनगर पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर मामले की जानकारी ली।

जाप नेता ने पीड़ित परिवार से बातचीत का ऑडियो किया जारी

विज्ञापन

इस प्रकरण में बुधवार को एक एफआईआर भी दर्ज कराने की सूचना है। सोमवार को प्रकरण सामने आने के बाद महिला की बेटी (पटना के एक कॉलेज की छात्रा) ने लिखित शिकायत दर्ज कराने से इनकार कर दिया था। हालांकि तब भी पुलिस ने आकर पूरे मामले की जांच की थी। इस बीच जन अधिकार पार्टी के नेता प्रेमचंद सिंह व पीड़ित परिवार के बीच बातचीत का ऑडियो पप्पू यादव के ट्विटर हैंडल से जारी किया गया है। इसमें अस्पताल से अपने मरीज का नाम कटवाने की बात एक लड़की कह रही है।

अस्पताल प्रबंधन ने रेप के आरोपों को बताया था मनगढ़ंत

मामला तूल पकड़ने पर सफाई देने आए अस्पताल प्रबंधन ने तर्क दिया कि मरीज ने तीन व्यक्तियों पर छेड़खानी का आरोप लगाए हैं। इनमें एक फल विक्रेता, एक अस्पताल कर्मी का चाचा और सादे लिबास में एक अन्य व्यक्ति का नाम आया। अस्पताल ने यह भी तर्क दिया कि मरीज वार्ड में भर्ती है, जहां 20-25 मरीज हैं। ऐसी खुली जगह पर बाहरी व्यक्ति का किसी मरीज के साथ छेड़खानी करना लगभग असंभव है। फिर उक्त महिला मरीज की तिमारदारी महिला नर्स कर रही हैं, जो हर समय वहां मौजूद रहती हैं।

ठोस सबूत नहीं मिलने पर वापस ले ली थी शिकायत

अस्पताल में रेप के प्रयास का सनसनीखेज मामला सामने आने पर शास्त्रीनगर पुलिस ने तत्काल जांच की थी। इस दौरान अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज चेक किये गए और आरोप लगाने वाली लड़की से पूछताछ की थी। आरोप के पक्ष में कोई ठोस सबूत नहीं मिलने के बाद महिला की बेटी ने अपने आरोप वापस ले लिये। अब महिला की मौत के बाद दर्ज लिखित शिकायत में क्या बातें कही गयी हैं, और पुलिस इस पर क्या एक्शन लेती है, फिलहाल इसका पता नहीं चल सका है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT