Header 300×250 Mobile

भीषण अगलगी में जिंदा जल गए छह मासूम

गेहूं का होरहा पकाने के दौरान हुई अगलगी

- Sponsored -

218

- Sponsored -

- sponsored -

गेहूं की कटाई करने गए थे परिवार के सभी वयस्क

अररिया (Voice4bihar news)| होली के अगले दिन पछुआ हवा की शह पर आग ने भीषण तबाही मचाई। गेहूं का होरहा/ऊमी भूनने की कोशिश में छह मासूम जिंदा जल गए। घटना अररिया ज़िले के पलासी प्रखंड अंतर्गत कवैया गांव से आ रही है. जहां आग लगने से आधा दर्जन बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई है। घटना के वक़्त घर के सभी वयस्क गेहूं काटने के लिए खेत में गये थे।

घटना के बारे में बताया जाता है कि मंगलवार को कवैया गांव में गेहूं को आग पर पकाकर ओरहा बनाया जा रहा था। इसी दौरान पास में फैली सूखी घास में आग लग गई और देखते ही देखते भीषण रूप धारण कर लिया। आग की लपटों व धुआं की वजह से सभी बच्चे बाहर नहीं निकल पाए और उसकी ज़द में आने से दर्दनाक मौत हो गई।

विज्ञापन

इस हादसे में दो बच्चियां हुस्न आरा व गुलनाज़ ढाई वर्ष की थीं। वहीं बच्चों में अशरफ़ 5 वर्ष, दिलबर 4 वर्ष, तबरेज़ 3 वर्ष और अली हसन 11 वर्ष शामिल है।. घटना की सूचना मिलते ही मौक़े पर कई बड़े अधिकारी व पुलिस कर्मी दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए। घटना की ख़बर शहर में आग के तरह फ़ैल चुकी है।

घटना के बाद गांव में कोहराम मच गया। अफरा तफ़री का माहौल व चीख पुकार से सभी की आंखें नम हो गई। पुलिस ने शव को क़ब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम कराने के लिए भेज दिया। घटना के बाद से पूरा इलाका ग़मगीन हो चुका है।

घटना की जानकारी मिलते अररिया एसपी, एसडीपीओ सहित नगर थाना पलासी पुलिस अस्पताल पहुंच कर मामले की जानकारी ली। साथ ही प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवार को मदद दी गई।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored