Header 300×250 Mobile

पेट्रोल पंप के कैश वैन से 42 लाख रुपये लूटे, पुलिस ने पीछा किया तो 32 लाख छोड़कर भागे

नेशनल हाईवे पर चार अपराधियों ने दिनदहाड़े वारदात को दिया अंजाम

- Sponsored -

349

- Sponsored -

- sponsored -

 विरोध करने पर एक कर्मचारी को मारी गोली, कैश से भरा बैग ले भागे

घटना के बाद पुलिस ने दिखाई तत्परता, 32 लाख रुपये बरामद

औरंगाबाद (voice4bihar news)। बिहार के औरंगाबाद जिले में अपराधियों ने सोमवार को एक पेट्रोल पंप के कैश वैन पर धावा बोलते हुए 42 लाख रुपये लूट लिये । दिनदहाड़े हुई लूट की घटना जिले के बारून थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्रैंड ट्रंक रोड (NH -2 ) पर हुई। घटना का विरोध करने पर एक कर्मी को अपराधियों ने गोली मार दी। हालांकि पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए लूटी गई रकम का बड़ा हिस्सा बरामद कर लिया है। शेष रकम की बरामदगी और अपराधियों की धर-पकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है।

बताया जाता है कि लूट की यह घटना उस वक्त हुई जब पेट्रोल पंप के कर्मी डीजल – पेट्रोल बिक्री के रुपए जमा कराने रोहतास जिले के डेहरी ऑन सोन स्थित बैंक जा रहे थे। कैश वैन में लगभग 42 लाख रुपये लेकर कर्मचारी जैसे ही जीटी रोड पर पहुंचे , पूर्व से घात लगाए अपराधियों ने उस पर हमला बोल दिया। कैश वैन को रोक कर हथियार के बल पर रुपये लूट लिये। विरोध करने पर अपराधियों ने पलामू जिले के जपला थाना क्षेत्र निवासी एक पेट्रोल पंप कर्मी को गोली मार दी और फरार हो गए।

NH-2 पर कैश वैन पहुंचते ही लुटेरों ने बोला धावा

विज्ञापन

औरंगाबाद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनूप कुमार ने पत्रकारों को बताया कि दो मोटरसाइकिल पर सवार चार बदमाशों ने सिरिस गांव के समीप NH -2 पर एक कैश वैन से दिनदहाड़े 42 लाख रुपए लूट लिये । घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अपराधियों का पीछा करना शुरू किया। इस दौरान जम्होर थाना क्षेत्र के मोर डिहरी गांव के निकट मोटरसाइकिल सवार दो अपराधियों ने वाहन व रुपये से भरा बैग छोड़ दिया और तीखे मोड़ का लाभ उठाते हुये फरार हो गये।

मोटरसाइकिल व 30 लाख रुपये छोड़कर भागे अपराधी

श्री कुमार ने बताया कि मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल तथा रुपए से भरा बैग बरामद कर लिया। उन्होंने बताया कि बैग से 32 लाख रुपए मिले हैं जबकि अपराधी अपने साथ करीब 10 लाख रुपए निकालकर भागने में सफल रहे। एसडीपीओ ने बताया कि लूट के दौरान अपराधियों ने एक पेट्रोल पंपकर्मी को गोली भी मारी है जो फिलहाल खतरे से बाहर है। इस सिलसिले में संबंधित थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। मामले की जांच की जा रही है। बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पूरे जिले की नाकेबंदी कर छापेमारी की जा रही है।

बैग में थे 42 लाख, तो 10 लाख रुपये ही क्यों ले गए लुटेरे?

औरंगाबाद पेट्रोल पंप लूट कांड में पुलिस ने भले ही 32 लाख रुपये की बरामदगी कर राहत की सांस ली है, लेकिन पुलिस की यह थ्योरी थोड़ी अटपटी लग रही है। सवाल यह है कि 42 लाख रुपये से भरा बैग लूटकर भाग रहे अपराधियों ने आखिर 10 लाख रुपये पर ही संतोष क्यों कर लिया? पुलिस की मानें तो घुमावदार सड़क के कारण बाइक सवार अपराधी पुलिस की पकड़ में नहीं आ सके, तो क्या पुलिस की गाड़ी अपराधियों के इतने नजदीक पहुंच गयी थी? सवाल यह भी है कि जब पुलिस इतने करीब आ गयी थी तो अपराधियों को बैग में से 10 लाख रुपये निकालने का वक्त कब मिल गया? बहरहाल पुरी सच्चाई घटना की जांच के बाद ही सामने आ सकेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT