Header 300×250 Mobile

सीबीएसई के तर्ज पर बिहार में भी मिले कॉपी मूल्यांकन का मेहनताना

संगठन ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से की मांग

- Sponsored -

545

- sponsored -

- Sponsored -

कॉपी मूल्यांकन की दर बढ़ा कर राशि का भुगतान किया जाये : फैक्टनेब

पटना (Voice4bihar desk)। बिहार राज्य संबद्ध डिग्री महाविद्यालय शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ (फैक्टनेब) ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से मांग की है कि इन्टरमीडिएट परीक्षा 2021 की उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन पारिश्रमिक सीबीएससी के तर्ज पर भुगतान भुगतान किया जाये।

विज्ञापन

बिहार राज्य संबद्ध डिग्री महाविद्यालय शिक्षक शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ (फैक्टनेब) के प्रधान संयोजक डा. शंभूनाथ प्रसाद सिन्हा, राज्य संयोजक प्रो. राजीव रंजन एवं मीडिया प्रभारी प्रो. अरुण गौतम ने बताया कि सी.बी.एस.सी. बारहवीं परीक्षा की उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन का मेहनताना प्रति कॉपी 30 रुपये की दर से भुगतान करती है, जबकि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति मात्र 15 रुपये के दर से करती है।

इसी प्रकार आवागमन राशि एवं रिफ्रेशमेंट क्रमशः 250 रुपये और 75 रुपये है जबकि बिहार में मात्र 75 और 40 रुपये ही भुगतान किया जाता है। ठहराव भत्ता भी सी.बी.एस.सी. 800 रुपये प्रतिदिन की दर से करती है, जबकि परीक्षा समिति मात्र 200 -300 रुपये ही करती है।

फैक्टनेब के मीडिया प्रभारी प्रो. अरुण गौतम ने बताया कि महासंघ ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष, सचिव एवं परीक्षा नियंत्रक को पत्र लिख कर मांग की है कि मूल्यांकन कार्य मे संलग्न शिक्षकों को 20 कॉपी प्रतिदिन को मानक मानते हुये सीबीएसई के तर्ज पर सभी तरह के मूल्यांकन पारिश्रमिक का भुगतान किया जाये। प्रो. गौतम ने आगे बताया कि अगर ऐसा किया जाता है तो बिहार के छात्र-छात्राओं को और अधिक लाभ होगा तथा परीक्षाफल अधिक बेहतर होगा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored