Header 300×250 Mobile

अगलगी में जिंदा जल गए चार मासूम, दूसरे गांव में काम करने गए थे मां-बाप

पटना जिले पुनपुन की घटना, अलाउद्दीनचक गांव में पसरा मातम

- Sponsored -

379

- Sponsored -

- sponsored -

विधायक गोपाल रविदास पहुंचे पीड़ितों के गांव, एसडीओ ने दिये चार लाख रुपये

पटना (voice4bihar news)। राजधानी पटना से सटे पुनपुन में एक लोमहर्षक मामला सामने आ रहा है, जहां झोपड़ी में आग लगने से एक ही परिवार के चार मासूम जिंदा जल गए। घटना पुनपुन प्रखंड अंतर्गत अलाउद्दीनचक गांव में बुधवार की सुबह हुई। सूचना मिलने पर घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने सभी शवों को बाहर निकालकर कब्जे में लिया।

बताया जाता है कि अलाउद्दीनचक गांव निवासी छोटू पासवान व उनकी पत्नी लक्ष्मी देवी बुधवार की सुबह बगल के गांव में काम करने गए हुए थे। इस दौरान बच्चों को घर में छोड़ रखा था। झोपड़ी में किसी तरह आग लग गयी और चारों तरफ धुआं भर गया। इस वजह से बच्चे घर से बाहर नहीं निकल सके और सभी जिंदा जल गए। मृतकों की पहचान छोटू पासवान की पुत्री डॉली कुमारी (12 वर्ष), राखी कुमारी ( 8 वर्ष) , आरती कुमारी ( 6 वर्ष) व पुत्र अंकित कुमार (4 वर्ष) के रूप में हुई है।

विधायक गोपाल रविदास ने पीड़ित परिवार को दी सांत्वना

घटना की जानकारी मिलने पर फुलवारीशरीफ के विधायक गोपाल रविदास घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने बच्चों के मां-बाप छोटू पासवान व लक्ष्मी देवी को ढांढ़स बंधाते हुए कहा कि आपदा की घड़ी में हम लोग आपके परिवार हैं, आपके साथ हैं। स्थानीय विधायक ने कहा कि वे जिलाधिकारी पटना से बात कर 6 महीने का राशन, आपदा राहत के तहत निर्धारित राशि प्रत्येक मृतक के लिए 4-4 लाख रुपये, तथा कबीर अंत्येष्टि योजना की राशि दिलाएंगे। साथ ही रविदास ने दलित परिवार को 3 डिसमिल जमीन देने की भी मांग की।

विज्ञापन

मृत बच्चों के बिलखते मां-बाप व अगलगी में राख हुआ आशियाना।
मृत बच्चों के बिलखते मां-बाप व अगलगी में राख हुआ आशियाना।

अंचलाधिकारी ने की तत्काल मदद, 3 डिसमिल जमीन देने का आश्वासन

उधर अंचलाधिकारी पुनपुन, प्रखंड विकास पदाधिकारी पुनपुन व अनुमंडल पदाधिकारी मसौढ़ी ने अलाउद्दीनचक गांव पहुंच कर जायजा लिया l स्थानीय विधायक की पहल पर अंचलाधिकारी पुनपुन ने आपदा राहत राशि के तौर पर तत्काल 5800 रुपये पीड़ित परिवार को दिये। साथ ही कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत 3000 रुपये दिये गए। पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद के लिए कई स्थानीय लोग भी सामने आए।

शव उठाने में मदद करते स्थानीय विधायक गोपाल रविदास।

पीड़ित परिवार को बतौर मुआवजा 16 लाख रुपये देगा प्रशासन

दूसरी ओर मसौढ़ी के अनुमंडल अधिकारी ने आश्वासन दिया कि 6 माह का राशन मृतक परिवार को एवं प्रत्येक मृतक के एवज में चार – चार लाख रुपये बतौर मुआवजा दिये जाएंगे l एसडीओ ने अभी तुरंत चार लाख रुपये का चेक सौंपते हुए शेष 12 लाख रुपये 10 से 15 दिनों के भीतर देने का वादा किया। अंचलाधिकारी पुनपुन ने भी पीड़ित परिवार को निवास के लिए 3 डिसमिल जमीन बहुत जल्द उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT