Header 300×250 Mobile

नाइट कर्फ्यू के बावजूद खुला था फ्लिपकार्ट का दफ्तर, अपराधियों ने लूट लिये 14 लाख रुपये

थाना से चंद कदमों की दूरी पर रात के 10 बजे हुई वारदात

- Sponsored -

304

- sponsored -

- Sponsored -

फ्लिपकार्ट कुरियर कंपनी के कार्यालय में घुसकर अपराधियों ने की लूटपाट

मुजफ्फरपुर (voice4bihar news)। राज्य में अपराधियों के बढ़ते मनोबल की एक और घटना मुजफ्फरपुर में सामने आई, जब अहियापुर थाना से चंद कदम की दूरी पर हथियारबंद अपराधियों ने 14 लाख रुपये लूट लिये। मंगलवार की रात एक निजी कोरियर कंपनी के कार्यालय में घुसकर चार सशस्त्र अपराधियों ने हथियार के बल पर कार्यालय के कर्मचारियों को कब्जे में कर लिया और 14 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। विरोध करने पर कर्मचारियों के साथ मारपीट भी की।

विरोध करने पर कर्मचारियों को पीटा

उधर , पुलिस अपराधियों की पहचान के लिए कार्यालय में लगाये गए सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगालने में लगी है। बुधवार को दिनभर पुलिस इस मामले की गहन जांच पड़ताल में जुटी रही, लेकिन घटना के कई घंटे गुजर जाने के बाद भी पुलिस को अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिल सका है। अहियापुर थाने के पुलिस अधिकारी ने कहा कि कोरियर कंपनी कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरा का फुटेज स्पष्ट रूप से नहीं दिख रहा है, जिसके कारण अपराधियों की पहचान करने में दिक्कत हो रही है।

विज्ञापन

सभी दुकानें हो गयीं बंद तो क्यों खुला था फ्लिपकार्ट कूरियर का दफ्तर?

बताया जाता है कि अपराधियों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब पुलिस ने पूरे जिले को शाम 7 बजे घूम-घूम कर बंद करवा दिया गया था। इसके बावजूद भी फ्लिपकार्ट के कर्मचारी कार्यालय को रात के दस बजे तक खोलकर दिनभर के कलेक्शन की गिनती कर रहे थे। कार्यालय के कर्मचारी मनीष कुमार ने बताया कि रुपए का मिलान किया जा रहा था, इसी क्रम में चार की संख्या में आये अपराधियों ने कार्यालय में घुसकर इस पूरी घटना को अंजाम दिया।

हथियार से लैस होकर आये थे चार अपराधी

मनीष ने बताया कि सभी अपराधी हथियार से लैस थे। एक अपराधी ने कैशरूम में घुसकर कैशियर के साथ मारपीट की और 14 लाख रुपए लूटकर निकल गए। घटना की सूचना मिलते ही नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने भी दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल की। उन्होंने इस मामले में कोरियर कंपनी के कर्मचारियों की लापरवाही की बात कही है।

नगर डीएसपी का कहना है कि जब सरकार के आदेशानुसार कोरोना गाइडलाइन के तहत शाम 7 बजे तक दुकान, कार्यालय पूर्णतः बंद कर देना है तो फिर रात के 10 बजे के बाद तक भी कोरियर कंपनी का कार्यालय क्यों और कैसे खोलकर रखा गया था। उन्होंने कहा कि सभी विन्दुओं को केंद्र में रखकर जांच पड़ताल की जा रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT