Header 300×250 Mobile

नवादा में पकड़ी गयी नकली सिगरेट बनाने की फैक्ट्री

बाजार में बिकने को तैयार 3 करोड़ के नकली सिगरेट जब्त

- Sponsored -

375

- sponsored -

- Sponsored -

देशी -विदेशी ब्रांड के हजारों पैकेट नकली सिगरेट बरामद,

फैक्ट्री का प्रबंधक गिरफ्तार, मालिक व उसके पार्टनर फरार

नवादा (voice4bihar news)। हाल ही में जहरीली शराब से 17 लोगों की मौत के कारण चर्चा में आये नवादा जिले से एक और बड़ी खबर आ रही है। यहां देशी विदेशी ब्रांड के नाम पर नकली सिगरेट बनाने के धंधे का भंडाफोड़ होने के साथ ही करोड़ों के सिगरेट बरामद किये गए हैं। हैरतअंगेज बात है कि विगत सात वर्षों से इस फैक्ट्री में दुनिया के कई देशों के बड़े सिगरेट ब्रांड के नकली उत्पाद बना कर बाजार में माल बेचा जाता था।

बताया जाता है कि नवादा जिले के हिसुआ थाने के हादसा गांव में बिना लाइसेंस के फर्जी तरीके से संचालित श्री इंटरप्राइजेज नामक सिगरेट फैक्ट्री पर छापेमारी की गयी। इस दौरान लगभग तीन करोड़ रूपए मूल्य के देसी-विदेशी सिगरेट जब्त किये गए। साथ ही फैक्ट्री के प्रबंधक रमेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि फैक्ट्री के मालिक पटना सिटी निवासी राजू सुलतानिया, रोहित सुलतानिया, रमेश सुल्तानिया फरार बताये जा रहे हैं।

आईटीसी प्राइवेट लिमिटेड की शिकायत पर हुई छापेमारी

हिसुआ के प्रभारी थाना अध्यक्ष सुभाष कुमार ने बताया कि आईटीसी प्राइवेट लिमिटेड के ब्रांड प्रोटेक्शन ऑफिसर गौरव माथुर ने कोलकाता से पहुंचकर लिखित आवेदन दिया था, जिसमें आरोप था कि उनकी कंपनी के प्रोडक्ट गोल्ड फ्लैक, गोल्ड फ्लैश के नाम पर नवादा में नकली सिगरेट बनाया जा रहा है। इसके अलावा कनाडा, लीबिया, इंग्लैंड सहित कई देशों के ब्रांडेड सिगरेट की नकल कर कंपनी का करोड़ों रुपए की चपत लगाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की थी।

विज्ञापन

लीज पर जमीन लेकर 7 वर्षों से चला रहे थे फैक्ट्री

गौरव माथुर की शिकायत के आधार पर नवादा पुलिस शुक्रवार की सुबह ही छापेमारी करने पहुंच गयी। यहां पता चला कि हिसुआ थाने के हादसा गांव में लगभग 7 वर्षों से राजू सुलतानिया व उसके पार्टनरों ने हादसा के कारु लाल से 2 एकड़ जमीन लीज पर लेकर सिगरेट फैक्ट्री बना रखी थी। इसमें बड़े पैमाने पर देसी- विदेशी ब्रांड के कीमती सिगरेट बना कर अवैध तरीके से बाजारों में बेचा जा रहा था। छापेमारी के दौरान राजस्थान के सीकर निवासी रमेश कुमार नामक फैक्ट्री प्रबंधक को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

नकली फैक्ट्री में तैयार करोड़ों की शराब।
नकली फैक्ट्री में तैयार करोड़ों की शराब।

सप्लाई के लिए तैयार थे कई ट्रक सिगरेट, पुलिस ने वहीं पर किया सील

थाना अध्यक्ष ने बताया कि लगभग कई ट्रकों में भरने वाले सैकड़ों कार्टन सिगरेट को फैक्ट्री में ही सील कर दिया गया है। कई कार्टन सिगरेट को नमूने के तौर पर थाने भी लाया गया। पुलिस का यह भी मानना है कि अवैध तरीके से फैक्ट्री चलाकर करोड़ों रुपए सरकारी राजस्व की चपत इन धंधेबाजों ने लगाई है। साथ ही देश के नामी मार्केटिंग ब्रांड आईटीसी को भी करोड़ों रुपये का चूना लगाया गया। उन्होंने कहा कि अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जाएगी।

डुप्लीकेट माल के लिए बदनाम पटना सिटी के रहने वाले हैं फैक्ट्री के मालिक

राजधानी पटना में डुप्लीकेट माल सप्लाई के लिए बदनाम पटना सिटी के कई धंधेबाज अब पटना सिटी में फैक्ट्री लगाने की बजाय बाहर के जिलों में कारोबार कर रहे हैं। जानकार बताते हैं कि लगातार नकली माल पकड़े जाने के कारण बदनाम सिटी में पुलिस की पैनी नजर के कारण ये धंधेबाज दूसरे जिलों में कारोबार फैला रहे हैं। फिलहाल अवैध सिगरेट फैक्ट्री के उद्भेदन से नवादा जिले में बड़े पैमाने पर किए जा रहे फर्जीवाड़े का खुलासा किया गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored