Header 300×250 Mobile

भाकपा माले नेता की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकी पत्नी, दम तोड़ा

एक सप्ताह पहले पार्टी के अंचल सचिव जनार्दन शर्मा की कोरोना से हुई थी मौत

- Sponsored -

249

- Sponsored -

- sponsored -

माले के सच्चे सिपाही थे दोनों, परिजनों में मचा हाहाकार

छपरा (voice4bihar news)। भाकपा माले के अंचल सचिव जनार्दन शर्मा की कोरोना से मौत का सदमा झेल रहीं उनकी पत्नी ने भी बृहस्पतिवार को दम तोड़ दिया। सारण जिले के अमनौर थाना क्षेत्र अंतर्गत धरहरा गांव निवासी जनार्दन शर्मा की मौत एक सप्ताह पूर्व कोरोना संक्रमत के चलते हो गयी थी। तब से उनकी पत्नी सदमे में थीं। गुरुवार की सुबह इनकी पत्नी लक्ष्मीना देवी 63 वर्ष की अकस्मात मौत हो गई।

विज्ञापन

एक सप्ताह के अंदर पति की कोरोना से मौत व सदमा में पत्नी की मौत की खबर क्षेत्र में चर्चा की विषय बनी हुई है। दोनों की मौत से इनके परिजनों में हाहाकार मच गया व गांव में मातम सा छा गया है। यह दंपति अपने पीछे तीन पुत्र छोड़ गया है, जिसमें से एक पुत्र की शादी नहीं कर पाए थे। इस वर्ष करना चाह रहे थे, पर शायद यह सब ईश्वर को मंजूर नहीं था।

इनके निधन से भाकपा माले के कार्यकर्ताओं में शोक की लहर है। माले के जिला अध्यक्ष साभा राय पार्टी के सदस्य पूर्व सरपंच शत्रुध्न शर्मा, बिजेंद्र मिश्रा, प्रभात सिंह आदि ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए इनके निधन को अपूरणीय क्षति बताया। नेताओं ने कहा कि दोनों पति-पत्नी माले के सच्चे सिपाही थे। इन्होंने आजीवन माले के बैनर तले समाज के लिए संघर्ष किया। बताया जाता है कि जनार्दन शर्मा इस वर्ष पत्नी को मुखिया प्रत्याशी बनाये हुए थे। आज भी चारों तरफ इनके पोस्टर बैनर लगे मिलेंगे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored