Header 300×250 Mobile

सिमुलतला आवासीय विद्यालय में एक-एक प्राचार्य-उप प्राचार्य, 62 शिक्षक और 63 शिक्षकेत्तर कर्मी होंगे नियुक्त

नीतीश मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी

- Sponsored -

614

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। सिमुलतला आवासीय विद्यालय में स्थापना के 11 वर्ष बाद प्राचार्य से लेकर शिक्षक और कर्मी तक के 127 पदों को स्वीकृति मंत्रिमंडल ने दी है। इनकी नियुक्ति पर व्यय के लिए 7,30,31,868 रुपये की स्वीकृति मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने सात दिसंबर को दी है। मंत्रिमंडल ने सिमुलतला आवासीय विद्यालय में एक-एक प्राचार्य और उप प्राचार्य, 62 शिक्षक और 63 शिक्षकेत्तर कर्मी यानी कुल 127 शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी की नियुक्ति को मंजूरी दी है।

सिमुलतला शिक्षा सोसाइटी करती है विद्यालय का संचालन

बता दें कि इसी साल मार्च में शिक्षा विभाग ने सिमुलतला शिक्षा सोसाइटी शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मी सेवा शर्त तथा अनुशासन नियमावली 2021 को मंजूरी दी थी। 2010 में स्थापित सिमुलतला आवासीय विद्यालय का संचालन सिमुलतला शिक्षा सोसाइटी के माध्यम से किया जाता है। सोसाइटी की फंडिंग बिहार सरकार करती है।

लिखित परीक्षा के आधार पर होगी नियुक्ति

सिमुलतला शिक्षा सोसाइटी शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मी सेवा शर्त तथा अनुशासन नियमावली 2021 के अनुसार, विद्यालय में प्राचार्य से लेकर शिक्षकों तक की नियुक्ति लिखित परीक्षा के आधार पर होगी। प्लस 2 विद्यालय के शिक्षक के लिए तीन साल तक स्नातक शिक्षक के रूप में पढाने का अनुभव, बीएड की डिग्री तथा स्नातक में न्यूनतम 55 फीसद अंक अनिवार्य है। विद्यालय में माध्यमिक शिक्षक, शरीरिक शिक्षक और पुस्तालयाध्यक्ष की नियुक्ति के लिए भी नियमावली में प्रावधान किये गये हैं।

राजभवन के औषधालय में फिजियोथेरेपिस्ट की होगी नियुक्ति

इसके अलावा सात दिसंबर को मंत्रिमंडल की बैठक में राजभवन स्थित राजकीय औषधालय के लिए फिजियोथरेपिस्ट के एक पद के सृजन को मंजूरी दी गयी।

उच्चतम न्यायालय द्वारा सिविल अपील सं. 3661-3662/2020 बिहार राज्य बनाम पवन कुमार एवं अन्य में 10.11.2021 को पारित अंतरिम आदेशानुसार बिहार राज्य खनन निगम को राज्य में बालू खनन कार्य संवेदकों के माध्यम से अगले आदेश तक करने एवं 2019 के बन्दोबस्तधारियों से प्राप्त 10 प्रतिशत प्रतिभूति राशि (267.83 करोड़ रुपये) वापस करने की स्वीकृति दी गयी है।

पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग पटना एवं वैशाली जिला में जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास निर्माण हेतु बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड से प्राप्त द्वितीय पुनरीक्षित प्राक्कलन कुल 9,49,02,000 रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति तथा योजना लागत में हुई वृद्धि के फलस्वरूप परिशिष्ट -6 के अनुसार अंतर राशि 1,99,14,000 रुपये का वहन बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के द्वारा Corporate Social Responsibility के तहत किये जाने की स्वीकृति दी गयी।

 

विज्ञापन

दरभंगा जिलान्तर्गत केवटी प्रखंड के बाढ़ पोखर में अन्य पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय +2 उच्च विद्यालय भवन के निर्माण हेतु भवन निर्माण विभाग से प्राप्त द्वितीय पुनरीक्षित प्राक्कलन कुल 7,12,28,150 रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी है। योजना एवं विकास विभाग सांख्यिकी सेवा (संशोधन) नियमावली, 2021 को स्वीकृति दी गयी है।

पांच चिकित्सा पदाधिकारियों की सेवा समाप्त

डॉ. असलम हुसैन, चिकित्सा पदाधिकारी, सिविल सर्जन कार्यालय, गोपालगंज को 17.01.2015 से लगातार अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने,  डॉ. सुनील कुमार चौधरी, सदर अस्पताल, किशनगंज को 24.05.2016 से लगातार अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने,  डॉ. मो. सबाह अंसारी, चिकित्सा पदाधिकारी सदर अस्पताल, पूर्णियां को 10.06.2014 से लगातार अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने और डॉ. शिवानी सिंह, चिकित्सा पदाधिकारी, रेफरल अस्पताल, छतरगाछ, किशनगंज को 10.06.2016 से लगातार अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने के आरोप में सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। डॉ. कविन्द्र प्रसाद सिंह, तत्कालीन प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, अतरी, गया को अनिवार्य सेवानिवृत्त कर दिया गया है।

बेगूसराय में स्थापित होगा 150 छात्रों की क्षमता वाला आयुर्वेद कॉलेज

राजकीय अयोध्या शिवकुमारी आयुर्वेद महाविद्यालय-सह-चिकित्सालय, बेगूसराय में 150 नामांकन क्षमता के आयुर्वेद महाविद्यालय, 200 बेड के चिकित्सालय, छात्रावास, आवासीय भवनों के निर्माण एवं अन्य अनुसांगिक कार्यों के लिए बिहार चिकित्सा सेवायें एवं आधारभूत संरचना निगम लि. से प्राप्त तकनीकी अनुमोदित प्राक्कलन के आधार पर वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 2,57,46,00,000 रुपये की लागत पर योजना की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी।

राजकीय राय बहादुर टुनकी साह (आरबीटीएस) होमियोपैथिक चिकित्सा कॉलेज एवं अस्पताल, मुजफ्फरपुर में 120 नामांकन क्षमता के होमियोपैथिक कॉलेज एवं अन्य अनुसांगिक भवनों के निर्माण हेतु बिहार चिकित्सा सेवायें एवं आधारभूत संरचना निगम लि. से प्राप्त तकनीकी अनुमोदित प्राक्कलन के आधार पर वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 1,21,01,00,000 रुपये की लागत पर योजना की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी।

राजकीय महारानी रामेश्वरी भारतीय चिकित्सा संस्थान, मोहनपुर, दरभंगा में 120 नामांकन क्षमता के आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय एवं 150 शैय्या का आयुर्वेदिक अस्पताल तथा अन्य अनुसांगिक भवनों के निर्माण हेतु बिहार चिकित्सा सेवायें एवं आधारभूत संरचना निगम लि. से प्राप्त तकनीकी अनुमोदित प्राक्कलन के आधार पर वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 1,95,63,34,000 रुपये की लागत पर योजना की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी।

राजकीय तिब्बी कॉलेज, कदमकुआं, पटना के नये परिसर का निर्माण नालन्दा चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल, अगमकुआं, पटना परिसर में कराने एवं राजकीय तिब्बी कॉलेज एवं अस्पताल के नये भवनों के निर्माण हेतु बिहार चिकित्सा सेवाएं एवं आधारभूत संरचना निगम लि. से प्राप्त तकनीकी अनुमोदित प्राक्कलन के आधार पर वित्तीय वर्ष 2021-22 में 2,64,44,91,000 रुपये की लागत पर योजना की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी।

जल संसाधन विभाग पश्चिम चम्पारण जिलान्तर्गत वाल्मीकिनगर में पांच सौ लोगों के बैठने की क्षमता वाले बहुउद्देशीय सभागार एवं 04 ब्लॉक के 102 कमरों के अतिथि गृह का निर्माण कार्य जिसकी प्राक्कलित राशि 12021.00 लाख रुपये है के प्रशासनिक एवं व्यय की स्वीकृति दी गयी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored