Header 300×250 Mobile

नेपाल में एक मंच पर दिखे भाजपा व कांग्रेस के दिग्गज नेता

नेपाली कांग्रेस के महाधिवेशन में विभिन्न सियासी दलों के नेताओं ने की शिरकत

- Sponsored -

339

- sponsored -

- Sponsored -

पूर्व प्रधानमंत्री केपी ओली समेत नेपाल के सभी प्रमुख दलों के शीर्ष नेता भी पहुंचे

कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक व भाजपा के डॉ. हर्षवर्द्धन की उपस्थिति ने खींचा ध्यान

राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

जोगबनी (voice4bihar news)। भारत के निकटतम पड़ोसी देश नेपाल में सत्तारुढ़ नेपाली कांग्रेस के महाधिवेशन में विभिन्न सियासी दलों के शीर्ष नेताओं ने शिरकत की। इसमें नेपाल की विपक्षी पार्टी व सत्ता में सहयोगी दलों के नेताओं के अलावा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक व भारतीय जनता पार्टी के डॉ. हर्षवर्द्धन की उपस्थिति ने सबका ध्यान खींचा। लंबे समय बाद नेपाल के दिग्गज नेता प्रचंड, माधव कुमार नेपाल और पूर्व प्रधानमंत्री केपी ओली ने भी मंच साझा किया।

शुक्रवार को शुरू नेपाली कांग्रेस के 14 वें महाधिवेशन के उद्घाटन समारोह में शुभकामना देने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रमुख नेता कार्यक्रम स्थल भृकुटीमण्डप में पहुंचे हैं, लेकिन इन सब के बीच कई रोचक तथ्य देखने को मिला। जिससे उपस्थित सभी लोगों का ध्यान खींचा। लेकिन इन सबके बीच एक अलग संयोग भी बना है कि सभी राजनीतिक दलों के प्रमुख एक मंच पर उपस्थित दिखे। ये सभी अलग-अलग विचारधारा वाले राजनीतिक दलों का नेतृत्व करते हैं।

 केपी ओली, पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड और माधव कुमार नेपाल एक मंच पर

गौरतलब है कि तत्कालीन नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (नेकपा) भंग होने के पश्चात किसी भी कार्यक्रम में एक मंच पर नहीं दिखने वाले एमाले अध्यक्ष केपी शर्मा ओली, माओवादी केन्द्र के अध्यक्ष पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड व एकीकृत समाजवादी के अध्यक्ष माधव कुमार नेपाल, जसपा नेपाल के अध्यक्ष उपेन्द्र यादव, लोसपा नेपाल के अध्यक्ष महन्थ ठाकुर उक्त समारोह में एक मंच पर सहभागी हुए हैं ।

नेपाल के शीर्ष नेताओं के बीच लंबे समय से चल रहा गतिरोध

विज्ञापन

उल्लेखनीय है कि केपी ओली व माधव नेपाल के बीच पिछले पांच महीने से मुलाकात नहीं है, तो दूसरी ओर ओली व प्रचण्ड के बीच एक वर्ष से किसी भी प्रकार का संपर्क नहीं हुआ है। नेकपा के विवाद उत्कर्ष में पहुंचने के बाद ओली–प्रचण्ड व नेपाल के बीच दूरी बढ़ी थी। वहीं भारत की बात करें तो नेपाल के प्रधानमन्त्री सह नेपाली कांग्रेस के सभापति शेर बहादुर देउवा के आमंत्रण पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करते हुए मुकुल वासनिक नेपाल पहुंचे हैं।

महाधिवेशन में शीर्ष नेताओं के बीच में सम्मान में दिखी रोचकता 

महाधिवेशन में नेपाली कांग्रेस के सभापति तथा प्रधानमन्त्री शेरबहादुर देउवा को नमस्कार करते हुए नेकपा (एमाले) के अध्यक्ष केपी शर्मा ओली उद्घाटन सत्र में पहुंचे, लेकिन बगल में ही उपस्थित नेकपा (माओवादी केन्द्र) के अध्यक्ष पुष्पकमल दाहाल ‘प्रचण्ड’ व नेकपा (एकीकृत समाजवादी)के अध्यक्ष माधवकुमार नेपाल के अभिवादन को नजरअंदाज करते हुए मंचासीन हो गए। मंच पर साथ में बैठे दो शीर्ष नेताओं के नमस्कार को ओली ने जिस तरह बेवस्ता करते हुए आसन ग्रहण किया, उसकी ओर सभी आगंतुकों का ध्यान खींच गया। इस व्यवहार के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

नेपाली कांग्रेस के महाधिवेशन में विचार रखते भारती राष्ट्रीय कांग्रेस के मुकुल वासनिक व बीजेपी नेता डॉ हर्षवर्द्धन।

मुकुल वासनिक बोले- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस व नेपाली कांग्रेस के बीच ऐतिहासिक सम्बन्ध

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता मुकुल वासनिक ने नेपाली कांग्रेस के महाधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा कि भारत व नेपाल के बीच के सम्बन्ध और सशक्त करना होगा। उन्होंने कहा कि भारत चाहता है कि नेपाल में राजनीतिक स्थायित्व रहे। हमारा संबंध पुरानी मित्रता का संबंध है। उन्होंने कहा कि नेपाली कांग्रेस के महाधिवेशन में आने से वे हर्षित हैं। साथ ही कहा कि भारतीय राष्ट्र्रीय कांग्रेस व नेपाली कांग्रेस के बीच भी ऐतिहासिक सम्बन्धों को निरन्तरता देनी होगी।

डॉ. हर्ष वर्द्धन ने कहा- नेपाल-भारत का सम्बन्ध अलौकिक

भारतीय जनता पार्टी के नेता डा. हर्ष वर्द्धन ने नेपाली कांग्रेस के महाधिवेशन में बोलते हुए कहा कि नेपाल-भारत का सम्बन्ध अलौकिक है। उन्होंने कहा कि ‘कोरोना की रोकथाम में भी भारत सरकार ने नेपाल को काफी सहायता प्रदान की है। नेपाल व भारत का सम्बन्ध प्रगाढ़ है। उन्होंने एक ही मंच पर नेपाल के पूर्व प्रधानमन्त्री सहित अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं की उपस्थित पर हर्ष व्यक्त किया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT