Header 300×250 Mobile

वैक्सीनेशन ही कोरोना की तीसरी लहर से बचायेगा : राहुल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष बोले, कोरोना से लड़ाई में प्रधानमंत्री के साथ पूरा देश खड़ा

- Sponsored -

516

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि कोरोना से निपटने का एक मात्र उपाय वैक्सीनेशन है। सरकार को इस पर फोकस करना चाहिए और जल्द से जल्द देश के सभी लोगों का वैक्सीनेशन हो जाये इसका उपाय करना चाहिए। श्री गांधी मंगलवार को जूम एप पर मीडिया से मुखातिब हुए थे। इस दौरान उन्होंने श्वेत पत्र जारी कर केंद्र की मोदी सरकार को कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए कुछ सुझाव भी दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना की लड़ाई में पूरा देश प्रधानमंत्री के साथ खड़ा है। प्रधानमंत्री पूरे देश की शक्ति का उपयोग करें।

प्रधानमंत्री के आंसू नहीं, ऑक्सीजन सिलिंडर मिलता तो बच सकती थी जान

राहुल गांधी ने कहा कि विशेषज्ञ बता रहे हैं कि देश में कोरोना की तीसरी लहर आयेगी तो सरकार को इससे निपटने की तैयारी समय पर पूरी कर लेनी चाहिए। हॉस्पीटल में बेड, ऑक्सीजन, दवाइयां जैसी जरूरी चीजों का इंतजाम कर लेना चाहिए ताकि शहर से लेकर गांव तक लोगों की जान बचायी जा सके। राहुल गांघी ने कहा कि दूसरी लहर में 90 फीसद ऐसी मौतें हुईं हैं जिन्हें समय पर ऑक्सीजन देकर बचाया जा सकता था। लोगों की मौत पर प्रधानमंत्री के भावुक होने के सवाल पर राहुल ने कहा कि जिनकी मौत हुई है उन्हें प्रधानमंत्री के आंसू से नहीं, ऑक्सीजन से बचाया जा सकता था।

कोरोना से मरने वाले सभी लोगों को मुआवजा दे सरकार

विज्ञापन

साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि सरकार कोरोना की दूसरी लहर में जितनी मौतें बता रही है उससे पांच से छह गुना ज्यादा लोगों की मौत हुई है। राहुल गांधी ने कहा कि हम इस वक्त इस बहस में नहीं पड़ना चाहते है। पर, चाहते हैं कि जिनकी मौतें हुईं हैं सरकार उनके परिजनों को मुआवजा दे। केंद्र सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है। सरकार ने महंगे-पेट्रोल डीजल बेचकर चार लाख करोड़ रुपये कमाये हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि सरकार वैज्ञानिकों और डॉक्टरों की बात सुने और कोरोना से लड़ाई को सामूहिकता से लड़े। पीएम, सीएम, डीएम से लेकर आम नागरिक की भी इसमें अहम भूमिका है। सरकार सभी का साथ ले, पूरा देश प्रधानमंत्री के साथ खड़ा है। उन्होंने वैक्सीनेशन पर जोर देते हुए कहा कि एक दिन में 80 लाख लोगों का टीकाकरण अच्छी बात है पर यह सतत् जारी रहना चाहिए। केद्र सरकार को इस लड़ाई को भाजपा और गैर भाजपा शासित राज्यों के रूप में न देखते हुए व्यापक रूप से देखना चाहिए और सभी राज्यों को समान रूप से संसाधन उपलब्ध कराना चाहिए।

महिलाओं और मुस्लिम समुदाय के लोगों में कोरोना टीका के प्रति अविश्वास को लेकर पूछे जाने पर राहुल गांधी ने कहा कि सरकार कोरोना से होने वाले नुकसान और वैक्सीन के फायदे के बारे में लोगों को स्पष्टता से बताये लोग जरूर उसकी बात सुनेंगे। राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर आने के पहले भी उन्होंने सरकार को सचेत किया था पर सरकार नहीं सुनी और देश को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ी।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी प्रधानमंत्री अपनी मार्केटिंग करते हैं। थाली बजाना, मोबाइल से टॉर्च जलाना, कोरोना को हरा देने और दुनिया को वैक्सीन आपूर्ति करने का दावा कर उन्होंने अपनी मार्केटिंग ही की और नतीजा देश के सामने है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored