Header 300×250 Mobile

मुजफ्फरपुर में लगातार हो रही आपराधिक वारदातों से लोग दहशत में

रजिस्ट्री कार्यालय के कर्मचारी की बाइक सवार अपराधियों ने की हत्या

- Sponsored -

438

- Sponsored -

- sponsored -

मुजफ्फरपुर (voice4bihar desk)। मुजफ्फरपुर में लगातार हो रही आपराधिक वारदातों से लोग दहशत में हैं। एक ही रात दो थाना क्षेत्रों में हुई गोलीबारी की घटनाओं ने लोगों की नींद उड़ा दी है। गोलीबारी की एक घटना में जहां रजिस्ट्री कार्यालय के कर्मचारी की हत्या कर दी गयी वहीं एक घटना का शिकार युवक अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहा है।

एक दिन पहले भी हो चुकी है हत्या की वारदात

रविवार की देर रात मनियारी थाना क्षेत्र के रामपुर काशी गांव में अपराधियों ने रजिस्ट्री ऑफिस के कर्मचारी अब्दुल कुद्दस की गोली मारकर हत्या कर दी। दो दिनों के अंदर हत्या की यह दूसरी वारदात है। इसके पहले अहियापुर इलाके में शनिवार की रात रियल स्टेट कारोबारी विनोद कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस अभी विनोद की हत्या की गुत्थी सुलझा भी नहीं पायी थी कि अपराधियों ने रजिस्ट्री ऑफिस के कर्मचारी अब्दुल कुद्दस की गोली मारकर हत्या कर दी। अब्दुल कुद्दस वैशाली जिले के चेहरा कला माझिया गांव के निवासी थे।

ग्रामीणों ने सड़क किनारे शव देख पुलिस को दी सूचना

जानकारी के अनुसार, सोमवार की अहले सुबह ग्रामीणों ने मुजफ्फरपुर महुआ सड़क के किनारे शव पड़ा देखा तथा पुलिस को इसकी सूचना दी। मृतक के पास मिले कागजात के आधार पर उसकी पहचान मुजफ्फरपुर रजिस्ट्री ऑफिस के कर्मचारी के रूप में हुई। मृतक के रिश्तेदार तनवीर ने बताया कि सूचना मिलने पर वे लोग थाना पर पहुंचे और शव की पहचान की।

विज्ञापन

इस बीच, सूचना के आधार पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। घटनास्थल से शव लाने वाले चौकीदार ने बताया कि शव को मनियारी थाना के रामपुर काशी गांव की सड़क के किनारे से बरामद किया गया । बताया गया है कि मृतक के पिता भी रजिस्ट्री कार्यालय में कर्मचारी थे । मनियारी पुलिस ने बताया कि घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है ।

लूटपाट के दौरान कंपाउंडर को मारी गोली

इधर, एक अन्य वारदात में लूटपाट के दौरान अपराधियों ने कंपाउंडर को गोली मार दी और उसकी बाइक और बैग लूटकर फरार हो गये। वारदात ब्रह्मपुरा थाना के समीप ओवर ब्रिज के नीचे रविवार की रात हुई। बताया गया है कि घायल अमजत हुसैन ने गोली लगने के बाद स्थानीय लोगों से मदद मांगी लेकिन कोई भी उसकी मदद को आगे नहीं आया। इस स्थिति में अजमत खुद निजी अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने दर्द की शिकायत की। डॉक्टर ने जब इलाज शुरू किया तो एक गोली लगने की बात सामने आयी। फिलहाल घायल अमजद की हालत खतरे से बाहर बतायी गयी है।

एक बाइक पर सवार तीन अपराधियों ने घटना को दिया अंजाम

घायल अजमत ने बताया कि वे सादपुरा में रहते हैं। दामोदरपुर में उनका पैतृक निवास है। वे शहर के एक निजी क्लिनिक में कंपाउंडर का काम करते हैं। रविवार की रात वे क्लिनिक से काम निपटा कर अपने पैतृक निवास दामोदरपुर जा रहे थे। इसी क्रम में संजय सिनेमा रोड में ओवरब्रिज के नीचे एक ही बाइक पर सवार तीन अपराधियों ने लूटपाट के दौरान उन्हें गोली मार दी तथा बैग और बाइक लूटकर फरार हो गए। घायल अजमत हुसैन का र्लाज बैरिया स्थित निजी अस्पताल में कराया जा रहा है। पुलिस ने अजमत के बयान पर इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों की तलाश शुरू कर दी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored