Header 300×250 Mobile

बीमारी का पता नहीं, एक ही परिवार के चार भाई-बहनों की मौत

दरभंगा के निजी अस्पताल में मृतकों के माता-पिता का चल रहा इलाज

- Sponsored -

495

- Sponsored -

- sponsored -

मधुबनी (voice4bihar desk) जिले के बिस्फी थाना क्षेत्र के सिंगिया पंचायत के इटहरवा गांव निवासी रामपुनीत यादव की एक-एक कर चार संतानों की मौत अज्ञात बीमारी से गई। इससे पूरे इटहरवा गांव में अज्ञात बीमारी का खौफ फैल गया है। रामपुनीत यादव एवं उसकी पत्नी आशा देवी भी गंभीर हालत में दरभंगा के निजी अस्पताल में इलाजरत हैं। उनके आवास पर लोग घटना के बारे में जानने के लिए लगातार आ रहे है।

सभी की कोरोना जांच रिपोर्ट आयी है निगेटिव

विज्ञापन

घर पर परिजनों ने बताया कि रामपुनीत यादव दिल्ली में मिठाई दुकान में काम करते थे । वह कुछ दिन पहले ही अपने गांव आए थे । सबसे पहले उनके बड़े लड़के 18 वर्षीय जितेन्द्र यादव की मौत हो गयी । उसे पैर में सूजन और बुखार की शिकायत थी । इसके बाद नौ साल के पुत्र की मौत शनिवार को हो गई । दो बेटियां 12 वर्षीय पूजा कुमारी एवं 8 वर्षीय आरती कुमारी की मौत भी किसी अज्ञात बीमारी से हो गयी । इनमें से एक की मौत शनिवार की देर रात जबकि दूसरी की मौत रविवार को दरभंगा के शिशु वार्ड में हो गयी । जांच में सभी की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आयी है ।

शिशु विभाग के युनिट इंचार्ज ने बताया कि दोनों बच्चियों का बेहतर ढंग से इलाज किया गया । पूजा और आरती लोअर रेस्परेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन से पीड़ित थी । पंचायत के पूर्व मुखिया टेकन यादव ने बताया कि बच्चों के इलाज में कहीं न कहीं लापरवाही हुई है  जिसकी जांच होनी चाहिए । पंचायत के वर्तमान मुखिया दिलीप साफी ने घटना को काफी दुखद और हृदयस्पर्शी बताया। उन्होने कहा कि इलाजरत रामपुनीत यादव एवं उसकी पत्नी का किसी अच्छे अस्पताल में इलाज होना चाहिए ताकि उनकी जान बचायी जा सके।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT