Header 300×250 Mobile

खगड़िया में दिनदहाड़े अगवा कर जदयू नेता की हत्या

रविवार को हथियारबंद अपराधियों ने किया था सरेआम अपहरण

- Sponsored -

208

- Sponsored -

- sponsored -

जदयू सहकारिता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अशोक सहनी

मत्स्यजीवी सहयोग समिति के प्रखंड मंत्री का पद भी था इनके जिम्मे

खगड़िया (voice4bihar news)। खगड़िया जिले में बेखौफ अपराधियों ने दिनदहाड़े अगवा कर जदयू नेता अशोक सहनी की हत्या कर दी। वे जिला जदय सहकारिता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष के साथ ही मत्स्यजीवी सहयोग समिति नामक एनजीओ के प्रखंड मंत्री भी थे। रविवार को दिनदहाड़े जदयू नेता श्री सहनी का अपहरण हुआ था जबकि पुलिस ने सोमवार को भदास पंचायत के करीब से शव बरामद किया। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

अपहरण के अगले दिन मिली अशोक सहनी की लाश

विज्ञापन

उल्लेखनीय है कि अशोक उर्फ मुन्ना सहनी खगड़िया नगर परिषद क्षेत्र अंतर्गत बलुआही के रहने वाले थे। वे गैर सरकारी संगठन मत्स्यजीवी सहयोग समिति के खगाड़िया सदर प्रखंड के मंत्री भी थे। अपहरण के अगले दिन भदास पंचायत में इनकी क्षत – विक्षत लाश मिली। शरीर में गोली मारे के निशान थे तथा गर्दन लटकी हुई थी। ऐसे में यह स्पष्ट नहीं हो सका कि हत्या कैसे की गयी है।

जदयू नेता को उठा ले गए, मौके पर छोड़ गए बाइक

बताया जाता है कि अशोक सहनी को बदमाशों ने मुफ्फसिल थाना इलाके के कोठिया वाला के पास 30 मई को अगवा कर लिया था। कार सवार बदमाशों ने अशोक का अपहरण उस वक्त किया था जब वे शोभनी गांव में जलकर देखकर बाइक पर सवार होकर अपने घर लौट रहे थे। स्थानीय पुलिस ने उनकी बाइक को घटना के दिन ही बरामद कर लिया था।

एनजीओ के पूर्व मंत्री के साथ था विवाद, दो लोग हिरासत में

अशोक सहनी की पत्नी एवं उनके परिवार वालों ने बताया कि मत्स्यजीवी समिति के पूर्व प्रखंड मंत्री सिकेन्द्र सहनी के साथ अशोक का विवाद था। आशंका जताई गयी कि उन्हीं लोगों ने अपहरण कर लिया था। इधर सदर एसडीपीओ सुमित कुमार सिंह ने बताया कि अशोक सहनी का शव सोमवार को भदास पंचायत क्षेत्र से बरामद किया है। उन्होंने कहा कि हत्या गोली मार कर हुई या गला दबाकर यह पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल पायेगा। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored