Header 300×250 Mobile

बिहार में अब बजेगा पंचायत चुनाव का बिगुल

- Sponsored -

623

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। बिहार में अब बजेगा पंचायत चुनाव का बिगुल। कोरोना संकट के बीच राज्य निर्वाचन कार्यालय ने बिहार में पंचायत चुनाव की कवायद तेज कर दी है। केंद्रीय चुनाव आयोग और राज्य निर्वाचन आयोग में ईवीएम के इस्तेमाल पर सहमति के बाद राज्य निर्वाचन कार्यालय में गहमागहमी बढ़ी है।

सोशल मीडिया पर सक्रिय हुआ राज्य निर्वाचन आयोग

इसी क्रम में शुक्रवार को राज्य निर्वाचन आयोग ने सोशल मीडिया पर अपनी सक्रियता बढ़ी दी और लोगों से भी इससे जुड़ने को कहा है। राज्य निर्वाचन आयोग ने secbihar के नाम से ट्वीटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अपने एकाउंट को एक्टिव किया है और आम लोगों से इससे जुड़ने की अपील की है। इसके साथ ही टॉल फ्री नंबर 18003457243 जारी करते हुए कहा कि आम लोग कार्यालय अवधि में इस नंबर पर सूचना का आदान-प्रदान कर सकते हैं। इस नंबर पर शिकायत भी की जा सकती है।

विज्ञापन

ईवीएम के इस्तेमाल पर सहमति के बाद पंचायत चुनाव की तैयारी तेज

एक दिन पहले ही दिल्ली में केंद्रीय चुनाव आयोग और राज्य निर्वाचन आयोग के बीच हुई बैठक में बिहार के पंचायत चुनाव में ईवीएम के इस्तेमाल पर सहमति बनी थी। बिहार का राज्य निर्वाचन आयोग छह बैलेट युनिट वाले ईवीएम का इस्तेमाल पंचायत चुनाव में करना चाहता था पर केंद्रीय चुनाव आयोग इसके लिए तैयार नहीं था। मामले को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग पटना हाईकोर्ट गया पर वहां मामला लंबा खिंचता गया।

वहां से फैसला आने में हो रही देरी के कारण राज्य निर्वाचन आयोग ने केंद्रीय निर्वाचन की शर्त मान ली और पुराने तर्ज पर ही ईवीएम का इस्तेमाल कर चुनाव कराने पर सहमत हो गया। इस तकनीक में प्रत्येक बूथ पर छह पदों के निर्वाचन के लिए छह बैलेट युनिट और छह कंट्रोल युनिट की जरूरत होगी। केंद्रीय चुनाव आयोग इसे उपलब्ध करायेगा। फिलहाल राज्य निर्वाचन आयोग इस बात के आकलन में जुटा है कि बिहार में पंचायत चुनाव के लिए कितनी ईवीएम की जरूरत होगी। आम तौर पर होने वाले चुनाव के मुकाबले इस बार अधिक ईवीएम की जरूरत पड़ सकती है। क्योंकि कोरोना संकट के चलते मतदान केंद्रों की संख्या बढायी जायेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT