Header 300×250 Mobile

हफ्ता से 15 दिनों में कर सकते हैं नियुक्ति, इजाजत दे न्यायालय

शिक्षा मंत्री ने कहा-हम दिव्यांगों की नियुक्ति न्यायालय की संतुष्टि के अनुसार करने को तैयार

- Sponsored -

1,170

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बुधवार को फिर इस बात को दुहराया कि न्यायालय आज हमें इजाजत दे हम कल से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर देंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि हम आज इस स्थिति में हैं कि एक हफ्ता से लेकर 15 दिनों में नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं। चौधरी बुधवार को एक निजी न्यूज चैनल पर विभाग से जुड़े सवालों का जवाब दे रहे थे। हालांकि इस दौरान मंत्री ने एसटेट के कुछ विषयों के रिजल्ट प्रकाशन में हो रही देरी से जुड़े सवालों को टाल दिया।

बिहार में करीब 94000 प्राथमिक और 30000 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया पटना हाईकोर्ट द्वारा लगायी गयी रोक के कारण अटकी हुई है। इसको लेकर बिहार के लाखों अभ्यर्थी आंदोलनरत हैं। शिक्षा मंत्री से इसी पहाली प्रक्रिया को लेकर सवाल पूछे गये थे।

विज्ञापन

मंत्री ने कहा कि स्कूलों में शिक्षकों की कमी है, वहां पठन पाठन की स्थिती अच्छी नहीं है, हमारे योग्य अभ्यर्थी भटक रहे हैं- यह हमलोगों के लिए असह्य है। हम भी चाहते हैं कि स्कूलों में शिक्षक हों। हम बहाली करने के लिए तत्पर हैं पर हाईकोर्ट की रोक के कारण हम सवा लाख शिक्षकों की बहाली नहीं कर पा रहे हैं।मंत्री ने कहा कि हमने हाईकोर्ट से कहा है कि दिव्यांगों की चार फीसद बहाली हम न्यायालय की संतुष्टि के अनुसार करने को तैयार हैं। शेष 96 फीसद बहाली करने की इजाजत हमें न्यायालय दे। न्यायलय हमें आज इजाजत दे हम कल से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर देंगे।

मंत्री ने बिहार की शिक्षा व्यवस्था को लेकर असंतोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में हमारी स्थिति उतनी अच्छी नहीं है जितनी होनी चाहिए। एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि कोरोना काल में लंबे समय से स्कूल बंद होने के कारण जब बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं उनके शिक्षा से विमुख होने का खतरा है। हमें एक तरफ बच्चों के भविष्य की चिंता है तो दूसरी तरफ उनके स्वास्थ्य की। इस महामारी की स्थिति में हम असहाय हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT