Header 300×250 Mobile

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला भारत 8 विकेट से हारा

न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों जैमीसन और साउदी ने भारतीय बल्लेबाजी की कमर तोड़ी

- Sponsored -

689

- Sponsored -

- sponsored -

जैमीसन बने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के प्लेयर ऑफ द मैच

नयी दिल्ली (voice4bihar desk)। 140 साल के क्रिकेट के इतिहास में खेले गये पहले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला भारत आठ विकेट से हार गया। इंग्लैंड के साउथम्टन में खेले गये मैच के छठे दिन बुधवार को अपने तेज गेंदबाजों काइल जैमीसन और टिम साउदी के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत न्यूजीलैंड ने भारत को आठ विकेट से हराकर टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम कर लिया।

इसी के साथ भारतीय टीम का और उसके फैंस का आईसीसी इवेंट जीतने का इंतजार और लंबा हो गया है। भारत ने आखिरी बार 2013 में इंग्लैंड को हरा कर चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम किया था। वहीं न्यूजीलैंड की टीम ने लगभग 21 साल के इंतजार के बाद आईसीसी की ट्रॉफी अपने नाम की है।

18 जून को शुरू हुए इस टेस्ट मैच में दोनों ही टीमें संघर्ष करती दिख रही थी। मैच के पहले और दूसरे दिन का खेल बारिश  की वजह से पूरी तरह धुल गया था। वहीं बाकी के दिनों में खेल को भी बीच-बीच में खराब रोशनी के कारण रोकना पड़ रहा था। टॉस जीत कर न्यूजीलैंड ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया था। भारत की टीम पहले बल्लेबाजी करती हुई 92.1 ओवर में 217 रन ही बना सकी। पहली पारी में रहाणे ने सर्वाधिक 49 रनों की पारी 117 गेंदों पर खेली। वहीं कप्तान कोहली ने 132 गेंदों पर 44 रन बनाए। न्यूजीलैंड के गेंदबाज काइल जैमीसन ने 31 रन देकर पांच विकेट चटकाए।

विज्ञापन

न्यूजीलैंड की तरफ से पहली पारी में डेवोन कॉनवे ने 154 गेंदों पर 54 रन और कप्तान विलियमसन ने 177 गेंदों पर 49 रनों की अहम पारी खेली। न्यूजीलैंड की टीम पहली पारी में 249 रन बनाकर आउट हो गयी। इस तरह उसने पहली पारी के आधार पर 32 रनों की बढ़त ले ली। भारत की ओर से पहली पारी में मो. शमी ने 76 रन देकर चार विकेट लिए वहीं इशांत शर्मा ने 48 रन देकर तीन विकेट चटकाए।

दूसरी पारी खेलने उतरी भारत की टीम की शुरुआत खराब रही। भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल और रोहित शर्मा मजबूत शुरुआत देने में नाकाम रहे। गिल जहां मात्र आठ रन बना कर आउट हो गए वहीं रोहित अपनी पारी को अच्छी शुरुआत देने के बावजूद 30 रन बना कर साउदी को अपना विकेट दे बैठे। भारत की ओर से ऋषभ पंत ने सर्वाधिक 41 रन 88 गेंदों पर बनाए।

भारत की टीम दूसरी पारी में 170 रन ही बना सकी और न्यूजीलैंड को मात्र 138 रन का लक्ष्य देने में कामयाब हुई। न्यूजीलैंड की तरफ से दूसरी पारी में टिम साउदी ने 48 रन देकर चार विकेट लिए वही ट्रेंट बोल्ट ने 39 रन देकर तीन सफलताएं हासिल कीं।

138 रन का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने भी अपने दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट जल्दी ही गंवा दिये। अश्विन ने दोनों को चलता किया जिससे भारत की कुछ उम्मीद बंधी लेकिन इनके बाद खेलने आये कप्तान विलियमसन और रॉस टेलर ने टीम की बागडोर संभाली और जीत तक ले गए। कप्तान विलियमसन ने 89 गेंदों पर 52 रन और रॉस टेलर ने 100 गेंदों में 47 रन बनाए और टीम का 21 साल का इंतजार खत्म किया।

भारत की ओर से दूसरी पारी में अश्विन ने 17 रन देकर दो विकेट हासिल किए। अश्विन की अपील पर कप्तान विलियमसन को मैदानी अंपायर ने एलबीडब्ल्यू आउट करार दिया पर डीआरएस लेकर वे बच गये। जैमीसन को दोनों पारियों में मिलाकर कुल छह विकेट लेने और पहली पारी में 21 रन की उपयोगी पारी खेलने के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT