Header 300×250 Mobile

आईपीएल के शेष मैच सितंबर-अक्टूबर में यूएई में खेले जायेंगे

भारत में कोरोना के चलते 28 मैचों के बाद स्थगित है आईपीएल

- Sponsored -

515

- Sponsored -

- sponsored -

नयी दिल्ली (voice4bihar desk)। आखिर क्रिकेट के चाहने वालों को जिस खबर का बेसब्री से इंतजार था वो आ गई। शनिवार की दोपहर बीसीसीआई और आईसीसी ने अपने ट्विटर हैंडल पर जानकारी दी कि आईपीएल के शेष सभी मैच यूएई में खेले जायेंगे। इस साल भारत में कुल 29 मैच खेले गए थे। अब बचे हुए शेष 31 मैच यूएई में खेले जायेंगे। बीसीसीआई ने आज 12 बजे अहम मुद्दों पर चर्चा के लिए विशेष बैठक बुलाई थी। इस बैठक में बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली और उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला भी मौजूद थे।

हालांकि अब तक बीसीसीआई ने आईपीएल का कार्यक्रम जारी नहीं किया है। मगर ये सभी मैच सितंबर और अक्टूबर महीने में खेले जायेंगे। आईपीएल के 10 सितंबर से लेकर 18 अक्टूबर तक होने की संभावना जताई जा रही है। पिछले साल भी आईपीएल को कोरोना महामारी के वजह से भारत की बजाए यूएई में ही आयोजित किया गया था जिसमें मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स की टीम को हरा कर खिताब अपने नाम किया था।

बता दें कि कुछ टीमों के खिलाड़ियों के कोरोना पॉजीटिव होने के बाद भारत में हो रहे आईपीएल के मैचों को बोर्ड ने चार मई को स्थगित कर दिया था। इस साल अब तक के खेले गए मैचों में दिल्ली की टीम सर्वाधिक 12 अंकों के साथ पहले पायदान पर थी। वहीं चेन्नई की टीम 10 अंकों के साथ दूसरे नंबर थी।

अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्वकप पर भी ग्रहण

विज्ञापन

इधर, कोरोना महामारी के चलते भारत में अक्टूबर-नवंबर में आयोजित होने वाले टी20 विश्वकप के मैचों पर भी ग्रहण लगता दिख रहा है। इस बीच, बीसीसीआई ने शविवार की बैठक में ये भी तय किया कि इस साल होने वाले टी20 विश्वकप के लिए आईसीसी को कोई भी फैसला लेने से पहले भारत में कोरोना मामलों की समीक्षा करने को भी कहेगी।

अक्टूबर-नवंबर में होने वाले इस टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला 13 नवंबर को अहमदाबाद में खेला जाना है। इस टूर्नामेंट को भारत में नौ शहरों में कराये जाने का प्रस्ताव है। इनमें अहमदाबाद के अलावा बेंगलूरू, चेन्नई, दिल्ली, धर्मशाला, हैदराबाद, कोलकाता, लखनऊ और मुंबई शामिल हैं। भारत में कोरोना की दूसरी लहर के व्यापक प्रसार को देखते हुए इस आयोजन को खतरा उत्पन्न हो गया है। इस बार इस प्रतियोगिता में दुनिया भर में क्रिकेट खेलने वाले 16 देश भाग लेने वाले हैं।

भारत में विशेषज्ञ सितंबर-अक्टूबर में कोरोना की तीसरी लहर फैलने की आशंका जता रहे हैं। ऐसे में अक्टूबर-नवंबर में यह टूर्नामेंट यहां खेला जा सकेगा, इस पर संशय है। हालांकि बीसीसीआई का मानना है कि अक्टूबर-नवंबर तक देश की बहुत बड़ी आबादी कोरोसा से बचाव का टीका ले चुकी होगी। इसलिए टूर्नामेंट पर कोरोना का साया नहीं पड़ेगा। इसलिए बीसीसीआई ने कहा भी है कि इस टूर्नामेंट की मेजबानी को लेकर कोई फैसला लेने से पहले आईसीसी भारत में कोरोना मामलों की समीक्षा कर ले।

दूसरी ओर, क्रिक्रेट पंडितों का कहना है कि भारत के मेजबानी में असमर्थ होने पर इसका आयोजन श्रीलंका अथवा यूएई में कराये जाने पर मंथन चल रहा है। श्रीलंका में हाल में कोरोना की दूसरी लहर तेज होने पर वहां एशिया कप क्रिकेट का आयोजन रद्द कर दिया गया है। ऐसे में इसका आयोजन यूएई में ही कराये जाने की प्रबल संभावना है।

यहां बता दें कि इस टी20 विश्वकप का आयोजन 2020 में आस्ट्रेलिया में होना था। पर, पिछले साल आयी कोरोना महामारी के चलते इस आयोजन को स्थगित कर दिया गया था। बाद में इसी टूर्नामेंट को भारत में कराये जाने पर सहमति बनी। अब भारत में भी इस पर मंडरा रहे खतरे को देखते हुए इसका भी आयोजन इस साल यूएई में ही कराये जाने के आसार हैं। पिछला टी20 विश्वकप का आयोजन 2018 में हुआ था। हर दूसरे साल आयोजित होने इस टूर्नामेंट को 2020 में आस्ट्रेलिया में आयोजित किया जाना था। अब 2022 की टी20 विश्वकप प्रतियोगिता आस्ट्रेलिया में कराये जाने की उम्मीद है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored