Header 300×250 Mobile

हरियाणा से शराब की खेप बिहार भेजने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश, सप्लायर गिरफ्तार

गोपालगंज पुलिस ने पांच दिनों की रिमांड पर लिया

- Sponsored -

718

- Sponsored -

- sponsored -

पहली बार हरियाणा में बैठे सप्लायर को बिहार पुलिस ने धर दबोचा

गोपालगंज (Voice4bihar news)। बिहार में शराबबंदी के बाद से ही बड़े पैमाने पर शराब सप्लाई करने वाले गिरोह के सप्लायर को गोपालगंज जिले की पुलिस ने हरियाणा से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार शख्स हरियाणा के झझर जिले के असौन्दा थाना अंतर्गत भापरौदा गांव का रहने वाला मंजीत कुमार बताया जाता है। पुलिस ने गिरफ्तार शराब सप्लायर को कोर्ट में पेश किया, जहां पांच दिनों की रिमांड पर भेज दिया गया है।

दरअसल बिहार के विभिन्न जिलों में शराब की खेप पकड़े जाने के बाद यह बात सामने आती रही है कि हरियाणा से शराब की खेप बिहार भेजी जा रही है। इसके बाद भी पुलिस की कार्रवाई सिर्फ तस्करों को पकड़ने तक सीमित रही है। सप्लायरों के सरगना तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंच पाते थे। ऐसे में शराब के बड़े सिंडीकेट का उद्भेदन करने में गोपालगंज पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

11 जून को पकड़ी गयी थी शराब की खेप, चार लोगों पर दर्ज है एफआईआर

पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार ने कहा कि पिछले 11 जून को गोपालपुर थाना के नरहवा शुकुल लाइन होटल के पास एक दस चक्का ट्रक पकड़ा गया था, जिसमें चंडीगढ़ निर्मित 3492 लीटर अंग्रेजी शराब लोड थी। शराब की यह खेप अरुणाचल प्रदेश जा रही थी। इस दौरान चालक एवं खलासी को गिरफ्तार किया गया था। चालक व खलासी की निशानदेही पर बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद अधिनियम के तहत चार लोगों पर नामजद एवं अन्य अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया था।

विज्ञापन

इस कांड में अवैध शराब के आपूर्तिकर्ता गिरोह तथा प्राप्तकर्ता गिरोह का उद्भेदन करने के लिए एक टीम गठित की गई। इस टीम ने कांड के प्राथमिकी अभियुक्त एवं शराब के सप्लायर मंजीत कुमार को हरियाणा के झझर जिले से गिरफ्तार कर लिया। गोपालगंज सिविल कोर्ट में मंजीत को पेश कर पुलिस ने पूछताछ के लिए पांच दिन के लिए रिमांड पर लिया है।

काले कारोबार की बदौलत शराब सप्लायर ने अर्जित की है अकूत संपत्ति

पुलिस कप्तान ने बताया कि अभियुक्त मंजीत कुमार वर्ष -2016 से ही हरियाणा में शराब ठेकेदारों से पेटी कॉन्ट्रैक्टर के तौर पर शराब दुकान लेकर शराब बेचने का कारोबार करता है और हरियाणा के भापरौदा में तीन शराब दुकानें वर्तमान में चलाता है। बिहार में शराबबन्दी के बाद से ही मंजीत कुमार अवैध रूप से शराब की आपूर्ति कर रहा था। पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि इसी धंधे की बदौलत मंजीत ने अकूत सम्पति अर्जित की है और समाज में धाक रखता है।

हाल ही में इसने एक फॉरचुनर गाड़ी भी खरीदी है। मंजीत के बैंक खाते की भी जानकारी मिली है, जिसमें शराब कारोबारियों से पैसे लेन-देन होने की बात इसने स्वीकार की है। इसके द्वारा अवैध सम्पति अर्जित किये जाने और बैंक खाता में शराब कारोबारियों से लेन-देन के बिन्दु पर अनुसंधान किया जा रहा है।

शराब सप्लायर की संपत्ति जब्त करने का प्रस्ताव देगी पुलिस

माना जा रहा है कि यह अपराधी शराब सप्लाई के अन्य कांडों में भी संलिप्त रहा है, जिसके संबंध में भी गहन अनुसंधान किया जा रहा है और इसको पुलिस रिमांड पर लेकर इन सारे बिन्दुओं पर पूछताछ और अनुसंधान किया जायेगा तथा अवैध शराब बेचकर कमाई गई सम्पति की पहचान की जा रही है। शराबबंदी कानून के तहत मंजीत कुमार की संपत्ति जब्त करने का प्रस्ताव भी पुलिस शीघ्र ही सौंपेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT